Search

‘एक भारत-श्रेष्ठ भारत’ योजना: मध्यप्रदेश को मणिपुर तथा नागालैण्ड से किया गया पार्टनर

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश के विभिन्न भागों के वर्तमान सांस्कृतिक संबंधों को और मजबूत बनाने तथा अलग-अलग राज्यों में रहने वाले लोगों के बीच आपसी सम्पर्क बढ़ाने के उद्देश्य से सरदार वल्लभ भाई पटेल की जन्म दिवस के अवसर पर 31 अक्टूबर, 2015 को 'एक भारत-श्रेष्ठ भारत'' योजना की घोषणा की थी. इसी दिन प्रधानमंत्री ने देश भर में 'राष्ट्रीय एकता दिवस'' के रूप में भी मनाने का भी फैसला किया था. अब इस योजना के तहत मध्यप्रदेश राज्य को नागालैण्ड तथा मणिपुर राज्य से पार्टनर किया गया है. इस संबंध में मध्यप्रदेश का एक 8-सदस्यीय दल मणिपुर और नागालैण्ड का भ्रमण करके भी आया है.

Nov 16, 2017 13:45 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश के विभिन्न भागों के वर्तमान सांस्कृतिक संबंधों को और मजबूत बनाने तथा अलग-अलग राज्यों में रहने वाले लोगों के बीच आपसी सम्पर्क बढ़ाने के उद्देश्य से सरदार वल्लभ भाई पटेल की जन्म दिवस के अवसर पर 31 अक्टूबर, 2015 को 'एक भारत-श्रेष्ठ भारत'' योजना की घोषणा की थी.

इसी दिन प्रधानमंत्री ने देश भर में 'राष्ट्रीय एकता दिवस'' के रूप में भी मनाने का भी फैसला किया था.

अब इस योजना के तहत मध्यप्रदेश राज्य को नागालैण्ड तथा मणिपुर राज्य से पार्टनर किया गया है. इस संबंध में मध्यप्रदेश का एक 8-सदस्यीय दल मणिपुर और नागालैण्ड का भ्रमण करके भी आया है.

मध्यप्रदेश सरकार ने अपने उच्च शिक्षा विभाग को इस योजना का क्रियान्वन करने के लिए नोडल विभाग बनाया है.

इसी के तहत मणिपुर में 21 से 30 नवम्बर के बीच होने वाले संगाई महोत्सव में मध्यप्रदेश भी अपनी भागीदारी करेगा. मध्यप्रदेश में होने वाले कार्यक्रम लोक-रंग और बाल-रंग में मणिपुर ओर नागालैण्ड के सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने और उनकी संस्कृति से परिचित कराने के उद्देश्य से वहाँ के दल भाग लेंगे.

इसी प्रकार गणतंत्र दिवस 26 जनवरी और स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को मार्च-पास्ट में भी उनका एक दल शामिल होगा.

मध्यप्रदेश में नागालैण्ड की किताबों के अनुवाद का कार्य भी शुरू किया गया है. इससे वहाँ की गतिविधियों और सांस्कृतिक विरासत से प्रदेशवासी परिचित हो सकेंगे. इस संबंध में अन्य गतिविधियाँ भी संचालित की जा रही हैं.

एक भारत-श्रेष्ठ भारत

'एक भारत-श्रेष्ठ भारत'' का प्रमुख उद्देश्य अनेकता में एकता का जश्न मनाना एवं देश के नागरिकों में पारम्परिक रूप से विद्यमान भावनात्मक बंधन को मजबूत बनाना है.

इस अभियान के माध्यम से साल भर विभिन्न क्रियाकलापों के माध्यम से राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों के नागरिकों के मध्य राष्ट्रीय एकता की भावना को प्रोत्साहित किया जाएगा.

इसके माध्यम से राज्यों की समृद्ध विरासत, संस्कृति, परम्पराओं, रीति-रिवाजों को प्रदर्शित कर नागरिकों में अनेकता में एकता की भावना को जागृत कर सामान्य पहचान की भावना को बढ़ावा दिया जाएगा.

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS