Search

मध्य प्रदेश सरकार ने नर्मदा पार्वती नदियों को जोड़ने हेतु मंजूरी प्रदान की

नर्मदा पार्वती नदियों के आपस में जोड़े जाने से इस क्षेत्र के दो लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी.

Dec 14, 2017 12:54 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

मध्य प्रदेश सरकार ने नर्मदा पार्वती नदियों को आपस में जोड़ने की परियोजना को मंजूरी प्रदान की. मध्यप्रदेश सरकार द्वारा 13 दिसंबर 2017 को मंजूर की गयी इस योजना की लागत 7,546 करोड़ रुपये है.

दोनों नदियों के आपस में जोड़े जाने से इस क्षेत्र के दो लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी. साथ ही, क्षेत्र के किसानों एवं कृषि के विकास संबंधी विभिन्न कार्यों को आरंभ किया जा सकेगा.

CA eBook

योजना के मुख्य बिंदु

•    मालवा क्षेत्र के दो लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी.

•    मालवा अंचल के लिए नर्मदा-क्षिप्रा लिंक परियोजना, नर्मदा-गंभीर लिंक परियोजना और नर्मदा-कालीसिंध परियोजना के बाद यह चौथी महत्वाकांक्षी परियोजना है.

•    मुख्यमंत्री द्वारा यह निर्देश दिए गये कि सिंचाई परियोजनाओं के कार्य समय-सीमा में पूरे किए जाएं.

•    नर्मदा-क्षिप्रा लिंक परियोजना से देवास और उज्जैन की पेयजल समस्या का स्थायी समाधान हुआ है.

•    लगभग 50,000 हेक्टेयर सिंचाई क्षमता की नर्मदा-गंभीर लिंक परियोजना का निर्माण कार्य चल रहा है.

•    इसमें यह भी बताया गया कि नर्मदा-पार्वती लिंक परियोजना का निर्माण चार चरणों में पूरा होगा.

•    इस परियोजना से सीहोर और शाजापुर जिले के 369 गांवों के किसान लाभान्वित होंगे.

•    परियोजना में सिंचाई जल का वितरण भूमिगत पाइप लाइनों के माध्यम से किया जाएगा. प्रत्येक किसान को ढाई हेक्टेयर तक 20 मीटर दबाव से जल उपलब्ध होगा.

यह भी पढ़ें: अमेरिकी वैज्ञानिकों ने राम सेतु के मानव-निर्मित होने का दावा किया

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS