Search

मध्य प्रदेश में हैप्पीनेस इंडेक्स तैयार करने हेतु आईआईटी खड़गपुर से समझौता

आईआईटी-खड़गपुर 30,000 लोगों को उनकी स्वेच्छा के आधार पर इस सर्वेक्षण में भाग लेने के लिए सुनिश्चित करेगी. इसमें राज्य सरकार एवं आईआईटी खड़गपुर का सम्मिलित कार्य होगा.

May 24, 2017 17:24 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

मध्य प्रदेश सरकार के राज्य आनंदम संस्थान (डिपार्टमेंट ऑफ़ हैप्पीनेस) एवं आईआईडी खड़गपुर के रेखी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस फॉर द साइंस ऑफ़ हैप्पीनेस ने राज्य में हैप्पीनेस इंडेक्स मापने हेतु समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये. इस समझौते पर राज्य के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान एवं आईआईटी खड़गपुर के डायरेक्टर प्रोफेसर पीपी चक्रवर्ती की मौजूदगी में हस्ताक्षर किये गये.

मुख्य बिंदु


हैप्पीनेस इंडेक्स को आईआईटी खड़गपुर द्वारा तैयार किया जायेगा तथा इसके लिए आंकड़े राज्य सरकार द्वारा जुटाए जायेंगे. इन आंकड़ों को राज्य सरकार द्वारा विश्लेषित किया जायेगा जिससे राज्य में हैप्पीनेस के स्तर को बढ़ाया जा सके.

CA eBook


आईआईटी-खड़गपुर 30,000 लोगों को उनकी स्वेच्छा के आधार पर इस सर्वेक्षण में भाग लेने के लिए सुनिश्चित करेगी. इसमें राज्य सरकार एवं आईआईटी खड़गपुर का सम्मिलित कार्य होगा.

पृष्ठभूमि


संयुक्त राष्ट्र विश्व हैप्पीनेस इंडेक्स में भारत 155 देशों में से 122वें स्थान पर आता है. इसमें आठ सार्क देशों के अतिरिक्त पाकिस्तान 80वें स्थान पर आता है जबकि नेपाल 99वें, भूटान 97वें एवं बांग्लादेश 110वें तथा श्रीलंका 120वें स्थान पर थे.

इस सूची में सबसे अच्छे देशों में नॉर्वे, डेनमार्क, आइसलैंड एवं फ़िनलैंड शामिल हैं. इन आंकड़ों को सामाजिक असमानता, जीवन आयु, जीडीपी प्रति व्यक्ति, सार्वजनिक विश्वास (यानी सरकारी और व्यवसाय में भ्रष्टाचार की कमी) और सामाजिक समर्थन आदि के आधार पर तैयार किया गया है.

 

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS