]}
Search

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वर्ष 2018 के राष्ट्रीय खेल पुरस्कार प्रदान किए

विराट और मीराबाई सहित अब तक कुल 36 खिलाड़ियों को राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है. यह भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला सबसे बड़ा खेल पुरस्कार है.

Sep 25, 2018 18:06 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में वर्ष 2018 के राष्ट्रीय खेल पुरस्कार 25 सितम्बर 2018 को प्रदान किए. यह पुरस्कार खिलाड़ियों तथा कोचों को खेलों के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए प्रदान किया जाता है.

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और भारोत्तोलक मीराबाई चानू को साल 2018 के राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से नवाजा गया है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में इन दोनों खिलाड़ियों को खेल रत्न पुरस्कार से नवाजा. इस पुरस्कार को हासिल करने वाले विराट तीसरे भारतीय क्रिकेटर हैं. उनसे पहले सचिन तेंदुलकर को साल 1996-97 और महेंद्र सिंह धोनी को साल 2007 में राजीव गांधी खेल रत्न से सम्मानित किया गया था.

राष्‍ट्रीय खेल पुरस्‍कार प्रति वर्ष खेलों में बेहतरीन प्रदर्शन को पहचानने और सम्‍मानित करने के लिए प्रदान किया जाता है. राष्ट्रीय खेल पुरस्कार प्रत्येक वर्ष खेलों में मान्यता प्रदान करने और उत्कृष्टता को पुरस्कृत करने के लिए दिए जाते हैं.

इस वर्ष इन पुरस्कारों के लिए बड़ी संख्या में नामांकन प्राप्त हुए जिनपर पूर्व ओलंपिक खिलाड़ी, अर्जुन पुरस्कार विजेताओं, द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेताओं, ध्यानचंद पुरस्कार विजेताओं, खेल पत्रकार/विशेषज्ञ/आंखों देखा हाल सुनाने वाले कमेंटेटर और खेल प्रकाशकों की चयन समितियों द्वारा विचार किया गया.

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार तथा अर्जुन पुरस्कार के लिए चयन समितियों का नेतृत्व न्यायमूर्ति इंदरमित कौर कोचर (पूर्व न्यायाधीश दिल्ली हाईकोर्ट) ने किया. द्रोणाचार्य पुरस्कारों और ध्यानचंद पुरस्कारों के लिए चयन समिति के प्रमुख न्यायमूर्ति मुकुल मुद्गल (पूर्व मुख्य न्यायाधीश पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट) थे. राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार के लिए चयन समिति की अगुवाई राहुल भटनागर, सचिव (खेल) ने की. एमएकेए ट्रॉफी के लिए चयन समिति के प्रमुख पूर्व ओलंपिक खिलाड़ी अशोक कुमार थे.

यह पुरस्‍कार समिति की सिफारिशों के आधार पर और उचित जांच के बाद सरकार ने निम्‍नलिखित खिलाडि़यों/कोचों/संगठनों को प्रदान करती है.

पुरस्कार प्राप्त करने वाले खिलाड़ियों की सूची:

राजीव गांधी खेल रत्‍न पुरस्‍कार:

राजीव गांधी खेल रत्न भारत में दिया जाने वाला सबसे बड़ा खेल पुरस्कार है. इस पुरस्कार को भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर रखा गया है. इस पुरस्कार मे एक पदक, एक प्रशस्ति पत्र और साढ़े सात लाख रुपय पुरुस्कृत व्यक्ति को दिये जाते है. इस पुरस्कार की स्थापना वर्ष 1991-92 में की गयी थी.

पुरस्‍कृत का नाम

खेल

एस मिराबाई चानू 

भारोत्तोलन

विराट कोहली

क्रिकेट

द्रोणाचार्य पुरस्‍कार:

यह पुरस्‍कार प्रतिष्ठित अंतर्राष्‍ट्रीय खेल स्‍पर्धाओं में पदक विजेता तैयार करने हेतु कोचों को और खेल विकास के क्षेत्र में जीवन भर योगदान देने के लिए प्रदान किया जाता है. इस पुरस्कार की स्थापना वर्ष 1985 में हुआ था. द्रोणाचार्य पुरस्कार के तहत गुरु द्रोणाचार्य की प्रतिमा, प्रमाणपत्र, पारंपरिक पोशाक और पाँच लाख रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाता है.

पुरस्‍कृत का नाम

खेल

सुबेदार चेनंदा अचच्चा कुट्टप्पा

मुक्केबाज़ी

विजय शर्मा

भारोत्तोलन

ए श्रीनिवास राव

टेबल टेनिस

सुखदेव सिंह पन्नू

एथलेटिक्स

क्लैरेंस लोबो

हॉकी (लाइफ टाइम)

तारक सिन्हा

क्रिकेट (लाईफटाइम)

जीवन कुमार शर्मा

जुडो (लाईफटाइम)

वी.आर. बीडु

एथलेटिक्स (लाईफटाइम)

अर्जुन पुरस्‍कार:

यह पुरस्‍कार लगातार चार वर्ष तक बेहतरीन प्रदर्शन के लिए दिया जाता है. इस पुरस्कार की स्थापना वर्ष 1961 में हुआ था. पुरस्कार के रूप में पाँच लाख रुपये की राशि, अर्जुन की कांस्य प्रतिमा और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है.

पुरस्‍कृत का नाम

खेल

नीरज चोपड़ा

एथलेटिक्स

नाइब सूबेदार जीन्सन जॉनसन

एथलेटिक्‍स

हिमा दास

एथलेटिक्‍स

नेलाकुर्ती सिक्की रेड्डी

बैडमिंटन

सूबेदार सतीश कुमार

मुक्‍केबाजी

स्मृति मंधाना

क्रिकेट

शुभंकर शर्मा

गोल्फ़

मनप्रीत सिंह

हॉकी

सविता

हॉकी

कर्नल रवि राठौर

पोलो

राही सरनोबत

शूटिंग

अंकुर मित्तल

शूटिंग

श्रेयसी सिंह

शूटिंग

मनिका बत्रा

टेबल टेनिस

जी सथियान

टेबल टेनिस

रोहन बोपन्ना

टेनिस

सुमित

कुश्ती

पूजा कादियान

वुशु

अंकुर धामा

पैरा एथलेटिक्स

मनोज सरकार

पैरा बैडमिंटन

ध्‍यान चंद पुरस्‍कार:

यह पुरस्कार खेल-कूद में जीवनभर आजीवन उपलब्धि के लिए वर्ष 2002 में शुरू किया गया सर्वोच्च पुरस्कार है. यह पुरस्कार महान भारतीय हॉकी खिलाड़ी ध्यानचंद के नाम पर है. यह पुरस्कार प्राप्त करने वालों को एक प्रतिमा, प्रमाणपत्र, पारंपरिक पोशाक और पाँच लाख रुपये नकद दिये जाते हैं. इस पुरस्कार से प्रत्येक वर्ष ज़्यादा से ज़्यादा तीन खिलाड़ियों को सम्मानित किया जाता है.

पुरस्‍कृत का नाम

खेल

सत्यदेव प्रसाद

तीरंदाजी

भरत कुमार छेत्री

हॉकी

बॉबी अलॉयसियस

एथलेटिक्स

चौगले दादू दत्तात्रेय

कुश्ती

राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार:

राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार, 2018 में कंपनियों को एक ट्रॉफी और प्रशस्ति पत्र दिया जाता है. राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार कंपनियों (निजी और सार्वजनिक क्षेत्र दोनों) तथा व्यक्तियों को दिए जाते हैं जो खेल के प्रोत्साहन और विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं.

वर्ग

कंपनी का नाम

उदीयमान और युवा प्रतिभा पहचान और प्रोत्साहन

राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड

कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व के माध्यम से खेल प्रोत्साहन

जेएसडब्ल्यू स्पोर्ट्स

विकास के लिए खेल

ईशा आउटरीच

मौलाना अबुल कलाम आजाद (एमएकेए) ट्रॉफी 2017-18:

गुरुनानक देव विश्वविद्यालय, अमृतसर को मौलाना अबुल कलाम आजाद (एमएकेए) ट्रॉफी 2017-18 के लिए चुना गया हैं.

अंतर-विश्वविद्यालय टूर्नामेंट में शीर्ष प्रदर्शन करने वाले विश्वविद्यालय को एमएकेए ट्रॉफी, 10 लाख रुपये का पुरस्कार और प्रमाण पत्र दिया जाएगा. अंतर-विश्वविद्यालय टूर्नामेंट में सम्रग रूप से शीर्ष प्रदर्शन करने वाले विश्वविद्यालय को मौलाना अबुल कलाम आजाद (एमएकेए) ट्रॉफी दी जाती है.

यह भी पढ़ें: पूर्व भारतीय कप्तान सरदार सिंह ने अंतर्राष्ट्रीय हॉकी से संन्यास लिया

 

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS