Search

नीति आयोग ने 'पिच टू मूव' प्रतियोगिता शुरू करने की घोषणा की

इसका उद्देश्‍य स्‍टार्ट-अप्‍स को कारोबार से जुड़े नये विचार निर्णायक मंडल (जूरी) के सामने पेश करने का मौका देना है. इसके तहत निवेश आकर्षित करने के लिए मोबिलिटी के विभिन्‍न क्षेत्रों में काम करने वाले स्‍टार्ट-अप्‍स उद्योगपतियों और उपक्रम पूंजी उपलब्‍ध कराने वालों के समक्ष अपने विचार रख सकते हैं.

Aug 16, 2018 12:24 IST

नीति आयोग ने 14 अगस्त 2018 को देश के उभरते उद्यमियों के लिए 'पिच टू मूव' नाम से एक प्रतियोगिता शुरू करने की घोषणा की है.

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी वैश्विक गतिशीलता शिखर सम्‍मेलन के अवसर पर प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्‍कार देंगे.

उद्देश्‍य:

इसका उद्देश्‍य स्‍टार्ट-अप्‍स को कारोबार से जुड़े नये विचार निर्णायक मंडल (जूरी) के सामने पेश करने का मौका देना है. इसके तहत निवेश आकर्षित करने के लिए मोबिलिटी के विभिन्‍न क्षेत्रों में काम करने वाले स्‍टार्ट-अप्‍स उद्योगपतियों और उपक्रम पूंजी उपलब्‍ध कराने वालों के समक्ष अपने विचार रख सकते हैं.

मुख्य तथ्य:

  • नीति आयोग के उपाध्‍यक्ष डा. राजीव कुमार ने कहा कि‍ 'पिच टू मूव' प्रतियोगिता के माध्‍यम से ऐसे स्‍टार्ट-अप्‍स की पहचान और उनके लिए आर्थिक मदद की व्‍यवस्‍था की जा सकेगी जो सरकार को एक अंतर मॉडल और पर्यावरण अनुकूल गतिशील भारत के विजन को हासिल करने में मदद करेगा.
  • इसके जरिए देश में माजूदा संसाधनों की मदद से रोजगार के अवसर पैदा करने का काम किया जा सकेगा.
  • नवाचार,रोजगार सृजन,आर्थिक विकास और सामाजिक बदलाव के लिए एक सशक्‍त माध्‍यम के रूप में मोबिलिटी के महत्‍व को कई बार रेखांकित किया जा चुका है.
  • यह स्‍टार्ट-अप्‍स को अपने नए विचारों को बढावा देने का सुनहरा अवसर प्रदान करेगी.

 

पिच टू मूव प्रतियोगिता:

  • पिच टू मूव प्रतियोगिता का आयोजन वैश्विक गतिशीलता सम्‍मेलन के हिस्‍से के रूप में नीति आयोग और भारतीय आटोमोबाइल निर्माता संघ (सियाम) की ओर से संयुक्‍त रूप से किया जा रहा है.
  • शिखर सम्‍मेलन का आयोजन 7 और 8 सितंबर 2018 को नयी दिल्‍ली के विज्ञान भवन में किया जाएगा. सम्‍मेलन का उद्धाटन प्रधानमंत्री करेंगे.
  • सम्‍मेलन में स्‍टार्टअप्‍स पब्लिक मोबिलिटी, इलेक्ट्रिक वाहन,साझा परिवहन, अंतिम छोर तक कनेक्टिविटी, यात्री परिवहन, बैटरी प्रौद्योगिकी, आटोमोटिव आईओटी,माल और परिवहन सेवा, पावर और ड्राइवर ट्रेन, यात्रा, मोबिलिटी अवसंरचना तथा आटोमोटिव इलेक्‍ट्रानिक के क्षेत्र से जुड़े स्‍टार्ट-अप्‍स अपनी प्रस्‍तुति दे सकते हैं.
  • यह प्रतियोगिता देशभर के उन सभी नवोदित स्‍टार्ट-अप्‍स प्रतिभागियों के लिए है, जो कारोबार से जुड़े नये विचारों को निर्णायक मंडल (जूरी) के समक्ष पेश करने के इच्‍छुक हैं.

प्रतियोगिता दो चरणों में आयोजित:

पहला चरण: पहला चरण  में आवेदन 12 अगस्‍त से 23 अगस्‍त 2018 तक कर सकते है. इच्‍छुक प्रतिभागियों को अपने स्‍टार्ट-अप्‍स का विस्‍तृत ब्‍यौरा देते हुए (http://mobilitypitch.movesummit.in/). पर आवेदन भेजना होगा. इन आवेदनों की जांच उद्योग जगत के विशेषज्ञों द्वारा की जाएगी और चयनित उम्‍मीदवारों को अगले राउंड के लिए बुलाया जाएगा.    

दूसरा चरण: 4 सितम्‍बर 2018 को नई दिल्‍ली में होगा.

पहले चरण में चयनित प्रतिभागियों को नई दिल्‍ली में एक निर्णायक मंडल के समक्ष पेश होना पड़ेगा. विभिन्‍न मानकों के आधार पर उनके बारे में निर्णय लिया जाएगा और अंतिम दौर में तीन स्‍टार्ट-अप्‍स को विजेता के रूप में चुना जाएगा.

विजेताओं को उपक्रम पूंजी प्रदात्‍ताओं की ओर से ओर से उनके स्‍टार्ट-अप्‍स के लिए मदद दी जाएगी. प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी वैश्विक गतिशीलता शिखर सम्‍मेलन के समापन आवसर पर 8 सितम्‍बर 2018 को विजेताओं को पुरस्‍कृत करेंगे.

यह भी पढ़ें: नीति आयोग और सीआईआई ने सतत विकास लक्ष्यों पर साझेदारी का शुभारंभ किया