Search

Nobel in Literature 2019: ओल्गा तोकार्जुक और पीटर हैंडके को साहित्य का नोबेल पुरस्कार मिला

ऑस्ट्रिया के लेखक पीटर हैंडके को ‘मानवीय अनुभव की परिधि और विशिष्टता को भाषाई सरलता के जरिए खोजने के अहम कार्य हेतु’ साल 2019 का नोबेल पुरस्कार दिया गया है.

Oct 11, 2019 12:20 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

स्वीडिश अकेडमी ने 10 अक्टूबर 2019 को साल 2018 और साल 2019 हेतु साहित्य का नोबेल पुरस्कार जीतने वालों के नाम का घोषणा कर दिया है. साल 2018 के लिए साहित्य में नोबेल पुरस्कार पोलिश लेखक ओल्गा तोकार्जुक को नोबेल दिया गया है. साल 2019 का नोबेल पुरस्कार इसके साथ ही ऑस्ट्रियाई लेखक पीटर हैंडके को दिया गया है.

इस बार, विजेताओं को साल 2019 और साल 2018 दोनों के लिए नामित किया गया था, क्योंकि साल 2018 में यह पुरस्कार नहीं दिया गया था. स्वीडिश अकादमी ने साल 2018 में यौन उत्पीड़न की घटना के बाद पुरस्कार को निलंबित कर दिया था.

स्वीडिश अकादमी की नोबेल समिति के अध्यक्ष एंडर्स ओल्सन के अनुसार, पुरस्कार के लिए आठ नामों की सूची तैयार की गई थी. इसमें से केवल इन दो लोगों को चुना गया है.

साहित्य 2019 में नोबेल पुरस्कार

पीटर हैंडके: पीटर हैंडके आस्ट्रिया मूल के लेखक है. पीटर हैंडके को ये पुरस्कार उनके नयेपन से संबंधित लेखन और भाषा में नवीनतम प्रयोगों हेतु दिया गया है.

साहित्य 2018 में नोबेल पुरस्कार

ओल्गा तोकार्जुक: साहित्य 2018 में नोबेल पुरस्कार ओल्गा तोकार्जुक को दिया गया है. ओल्गा तोकार्जुक को लेखिका के साथ साथ सामाजिक कार्यकर्ता की भूमिका निभाने हेतु साल 2018 का साहित्य का नोबल पुरस्कार दिया जा रहा है.

साहित्य के नोबेल पुरस्कार से संबंधित मुख्य बिंदु:

• यह पुरस्कार साल 1901 से लेकर अबतक सबसे ज्यादा अंग्रेजी भाषा हेतु 23 बार साहित्य पुरस्कार दिया गया.

• साहित्य का नोबेल पुरस्कार चार मौकों पर दो लोगों को संयुक्त रूप से दिया गया.

• ब्रिटिश पत्रकार रुडयार्ड किपलिंग साहित्य के नोबेल पुरस्कार पाने वाले सबसे युवा वयक्ति थे. वे उस समय 41 साल के थे. उन्हें यह पुरस्कार जंगल बुक के लिए साल 1907 में दिया गया था.

• ब्रिटेन की डोरिस लेसिंग साहित्य के नोबेल पुरस्कार पाने वाले सबसे उम्रदराज साहित्यकार थीं. वे उस समय 88 वर्ष की थी. उन्हें यह पुरस्कार साल 2007 में दिया गया था.

• चौदह महिलाओं को साहित्य के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है. साहित्य के नोबेल पुरस्कार पाने वाली पहली महिला स्वीडिश लेखिका सेलमा लेगरलोफ थीं. उन्हें यह पुरस्कार साल 1909 में प्रदान किया गया था.

पीटर हैंडके के बारे में:

पीटर हैंडके का जन्म साल 1942 में दक्षिणी ऑस्ट्रिया के कार्टेन में ग्रिफेनम नामक गाँव में हुआ था. उन्होंने साल 1966 में अपना पहला उपन्यास- ’डाई हॉर्निसेन’ प्रकाशित किया था. पीटर हैंडके की किताब 'अ सॉरो बियॉन्ड ड्रीम्स' को भी अच्छी खासी लोकप्रियता मिली थी. वे बहुत सारे फिल्मों के पटकथा लेखक भी रहे हैं.

यह भी पढ़ें:Nobel Prize 2019: लीथियम बैटरी बनाने हेतु तीन वैज्ञानिकों को केमिस्ट्री का नोबेल पुरस्कार

ओल्गा तोकार्जुक के बारे में

ओल्गा तोकार्जुक का जन्म साल 1962 में पोलैंड में हुआ था. उन्हें साल 2018 में उपन्यास ‘फ्लाइट्स’ के लिए बुकर पुरस्कार भी दिया गया था. वे पोलैंड की पहली लेखिका हैं जिन्हें अपने काम हेतु नोबेल तथा बुकर दोनों ही पुरस्कार मिल चुके हैं.

ओल्गा तोकार्जुक की किताबों पर नाटक तथा फिल्में बन चुकी हैं. ओल्गा तोकार्जुक की किताबों को हिंदी, जापानी सहित 25 से ज्यादा भाषाओं में उनका अनुवाद हुआ है. ओल्गा तोकार्जुक को वास्तविकता को कुछ ऐसी चीज़ों के रूप में देखने हेतु जाना जाता है जो स्थिर या चिरस्थायी नहीं है. उनके उपन्यास भी पुरुष बनाम महिला, प्रकृति बनाम संस्कृति, कारण बनाम पागलपन और घर बनाम अलगाव जैसे सांस्कृतिक विरोध पर आधारित हैं.

यह भी पढ़ें:नोबल पुरस्कार 2019: फिजिक्स के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार का घोषणा, इन तीन वैज्ञानिकों को मिला अवॉर्ड

यह भी पढ़ें:नोबेल पुरस्कार 2019: चिकित्सा के क्षेत्र में तीन वैज्ञानिकों के नाम की घोषणा

करेंट अफेयर्स ऐप से करें कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी,अभी डाउनलोड करें| Android|IOS

 

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS