ओला तमिलनाडु में लगाएगी दुनिया की सबसे बड़ी ई-स्कूटर फैक्ट्री, जानें विस्तार से

ओला ने कहा कि अपने विशिष्ट कौशल, श्रमबल तथा जनांकिकी के जरिये भारत ई-वाहनों के विनिर्माण का वैश्विक केंद्र बन सकेगा. कंपनी अपने ई-स्कूटरों की पहली श्रृंखला आगामी महीनों में पेश करने की तैयारी कर रही है. 

Created On: Dec 16, 2020 12:06 ISTModified On: Dec 16, 2020 12:19 IST

ऐप आधारित टैक्सी सेवा देने वाली कंपनी ओला तमिलनाडु में 2,400 करोड़ रुपये के निवेश से अपना पहला ई-स्कूटर कारखाना (Ola scooter factory) लगाएगी. कंपनी ने 14 दिसंबर 2020 को कहा कि उसने इस बारे में तमिलनाडु सरकार के साथ समझौता किया है.

कंपनी ने एक बयान में कहा कि यह कारखाना तैयार होने पर लगभग 10,000 रोजगार के अवसर पैदा होंगे. यह दुनिया का सबसे बड़ा स्कूटर विनिर्माण संयंत्र होगा. शुरुआत में इसकी क्षमता सालाना 20 लाख इकाई की होगी.

स्थानीय विनिर्माण को प्रोत्साहन

बयान में कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण के अनुरूप ओला का कारखाना आत्मनिर्भर भारत की दिशा में एक अहम कदम होगा. इससे भविष्य के महत्वपूर्ण क्षेत्रों मसलन इलेक्ट्रिक वाहन के आयात पर निर्भरता कम हो सकेगी. साथ ही इससे स्थानीय विनिर्माण को प्रोत्साहन मिलेगा और देश की तकनीकी विशेषज्ञता को भी बेहतर करने में सहायता मिलेगी.

भारत ई-वाहनों के विनिर्माण का वैश्विक केंद्र

ओला ने कहा कि अपने विशिष्ट कौशल, श्रमबल तथा जनांकिकी के जरिये भारत ई-वाहनों के विनिर्माण का वैश्विक केंद्र बन सकेगा. बयान में कहा गया है कि यह कारखाना भारत के साथ अन्य बाजारों मसलन यूरोप, एशिया, लातिनी अमेरिका और अन्य देशों की मांग को पूरा करेगा.

ई-स्कूटरों की पहली श्रृंखला पेश करने की तैयारी

कंपनी अपने ई-स्कूटरों की पहली श्रृंखला आगामी महीनों में पेश करने की तैयारी कर रही है. कंपनी ने कहा कि यह नया विनिर्माण कारखाना एक साल में परिचालन में आ जाएगा.

इलेक्ट्रिक स्कूटरों की पहली रेंज लॉन्च

ओला कंपनी द्वारा आने वाले महीनों में अपनी इलेक्ट्रिक स्कूटरों की पहली रेंज लॉन्च करने के मद्देनजर यह घोषणा की गई है. तमिलनाडु का यह बड़ा कारखाना न सिर्फ भारत में बल्कि यूरोप, एशिया, लैटिन अमरीका और दुनियाभर के बाजारों में ग्राहकों को उत्पाद मुहैया कराएगा.

2,000 से अधिक लोगों को नियुक्त करने की योजना

ओला ने इस साल की शुरुआत में अपने इलेक्ट्रिक व्यवसाय के लिए 2,000 से अधिक लोगों को नियुक्त करने की योजना की घोषणा की थी क्योंकि यह तेजी से दुनिया भर के उपभोक्ताओं के लिए इलेक्ट्रिक और स्मार्ट शहरी गतिशीलता समाधान का एक सूट बनाना चाहता है.

आत्मनिर्भर भारत की दिशा में महत्वपूर्ण कदम

ओला की तरफ से कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नजरिये के अनुसार ये ई-स्‍कूटर मैन्‍युफैक्‍चरिंग फैक्‍ट्री आत्मनिर्भर भारत की दिशा में महत्वपूर्ण कदम होगा. इससे भविष्य के अहम क्षेत्रों मसलन इलेक्ट्रिक व्‍हीकल्‍स के आयात पर निर्भरता कम हो सकेगी. साथ ही इससे स्थानीय मैन्‍युफैक्‍चरिंग को प्रोत्साहन मिलेगा. वहीं, देश की तकनीकी विशेषज्ञता को भी बेहतर करने में सहायता मिलेगी.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

1 + 8 =
Post

Comments