प्रधानमंत्री ने सांसदों के लिए बहुमंजिला फ्लैटों का उद्घाटन किया

इन इमारतों को पूरी तरह से आधुनिक बनाया गया है. इसके लिए पर्यावरण का भी पूरा ध्यान रखा गया है. बता दें कि ये फ्लैट नई दिल्ली के डॉ. बीडी मार्ग पर बनाए जा रहे हैं. 

Created On: Nov 23, 2020 16:33 ISTModified On: Nov 23, 2020 16:38 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 23 नवंबर 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संसद सदस्यों के लिए दिल्ली के डॉ. बी डी मार्ग में स्थित बहुमंजिला फ्लैटों का उद्घाटन कर दिया है. प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने बताया कि ये फ्लैट राष्ट्रीय राजधानी में डॉ बी डी मार्ग पर स्थित हैं.

इस अवसर पर लोकसभा के अध्यक्ष ओम बिरला भी उपस्थित रहे. इन इमारतों को पूरी तरह से आधुनिक बनाया गया है. इसके लिए पर्यावरण का भी पूरा ध्यान रखा गया है. बता दें कि ये फ्लैट नई दिल्ली के डॉ. बीडी मार्ग पर बनाए जा रहे हैं. 80 साल से अधिक पुराने आठ बंगलों का पुनर्विकास कर 76 फ्लैट्स का निर्माण किया गया है.

14 प्रतिशत की बचत

कोरोना वायरस के प्रभाव के बावजूद स्वीकृत लागत से लगभग 14 फीसदी की बचत और समय से पहले इन फ्लैटों का निर्माण पूरा हो चुका है. इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने नए आवास के लिए सांसदों को बधाई दी. उन्होंने कहा कि कई इमारतों का निर्माण इस सरकार के दौरान शुरू हुआ और तय समय से पहले समाप्त हुआ.

प्रधानमंत्री मोदी ने क्या कहा?

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सेंट्रल इन्फॉर्मेशन कमीशन की नई बिल्डिंग का निर्माण इसी सरकार में हुआ. हमारे देश में हजारों पुलिसकर्मियों ने कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए अपना जीवन दिया है. उनकी याद में भी नेशनल पुलिस मेमोरियल का निर्माण इसी सरकार में हुआ.

इन फ्लैट्स की खासियत क्या है?

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने बताया कि इसके निर्माण में 27 माह लगे और इसमें कुल लागत 188 करोड़ रुपये की आई. उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य में अनुमानित लागत से 30 करोड़ की बचत की गई. उन्होंने कहा कि लोकसभा के गठन के बाद सांसदों के आवास की अक्सर दिक्कतें आया करती थी और उन्हें होटलों में ठहराया जाता था जिससे सरकार पर आर्थिक बोझ भी पड़ता था.

लोकसभा सचिवालय के अनुसार 80 वर्ष से अधिक पुराने आठ बंगलों के स्थान पर 76 फ्लैटों का निर्माण किया गया है. कोविड-19 के संक्रमण के बावजूद इन फ्लैटों का निर्माण कार्य निर्धारित समय-सीमा के भीतर किया गया और इनके निर्माण में स्वीकृत लागत से करीब 14 प्रतिशत बचत की गई है.

इन फ्लैटों के निर्माण में कई हरित निर्माण तकनीकों का इस्तेमाल किया गया है. इनमें राख और मलबे से बनी इटें, ताप की रोकथाम के लिए डबल गेज्ड विंडो और ऊर्जा की दृष्टि से किफायती एलईडी लाइट फिटिंग्स, बिजली की कम खपत के लिए वीआरवी प्रणाली, वर्षा जल संरक्षण प्रणाली और रूफ टॉप सोलर प्लांट शामिल हैं.

सांसदों को मिलने वाला ये फ्लैट ग्रीन बिल्डिंग के कांसेप्ट पर बेस्ड है. केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (CPWD) ने इन फ्लैट्स का निर्माण किया है, इसके हर टावर पर सोलर पैनल लगाए गए हैं. इस कार्यक्रम में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि बीडी मार्ग पर जो क्षेत्र आवास है जो तीन टावरों के अंदर बनाए गए हैं इनका नाम गंगा, यमुना और सरस्वती रखा गया है.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Related Stories

Post Comment

3 + 1 =
Post

Comments