प्रधानमंत्री मोदी ग्लोबल इनवेस्टर्स राउंडटेबल की अध्यक्षता की, यहां जानें सबकुछ

यह प्रमुख वैश्विक संस्थागत निवेशकों, भारतीय कारोबारी लीडर्स और भारत सरकार व वित्तीय बाजार नियामकों के उच्चतम निर्णय निर्माताओं के बीच एक विशेष वार्ता है.

Created On: Nov 6, 2020 09:22 ISTModified On: Nov 6, 2020 13:23 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 05 नवंबर 2020 को केंद्रीय वित्त मंत्रालय और राष्ट्रीय निवेश एवं इंफ्रास्ट्रक्चर फंड द्वारा आयोजित वर्चुअल ग्लोबल इन्वेस्टर राउंडटेबल (VGIR) पर वैश्विक निवेशकों के साथ एक विशेष वार्ता की अध्यक्षता की. यह प्रमुख वैश्विक संस्थागत निवेशकों, भारतीय कारोबारी लीडर्स और भारत सरकार व वित्तीय बाजार नियामकों के उच्चतम नीति निर्माताओं के बीच एक विशेष वार्ता है.

ये वैश्विक संस्थागत निवेशकों, भारतीय व्यापार जगत के प्रमुखों और भारत सरकार तथा वित्तीय बाजार नियामकों के शीर्ष नीति-निर्माताओं के बीच एक खास बैठक है. केंद्रीय वित्त मंत्री, केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री, भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर सहित सरकार और प्राइवेट सेक्टर के कई प्रतिनिधि इस बैठक में हिस्सा लिए.

मुख्य बिंदु

• यह प्रमुख वैश्विक संस्थागत निवेशकों, भारतीय कारोबारी लीडर्स और भारत सरकार व वित्तीय बाजार नियामकों के उच्चतम निर्णय निर्माताओं के बीच एक विशेष वार्ता है.

• इस राउंडटेबल में दुनिया की बीस सबसे बड़ी पेंशन एवं सॉवरेन वेल्थ फंड से जुड़ी कंपनियां हिस्सा लेंगी, जिनकी कुल परिसंपत्तियां लगभग 6 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर है.

• ये वैश्विक संस्थागत निवेशक अमेरिका, यूरोप, कनाडा, कोरिया, जापान, मध्य पूर्व, ऑस्ट्रेलिया और सिंगापुर सहित दुनिया के प्रमुख क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करते हैं.

• इस राउंडटेबल में विश्व के 20 सबसे बड़े पेंशन एवं सॉवरेन वेल्थ फंड्स ने भाग लिया. साथ ही देश के दिग्गज कारोबारी भी इस राउंडटेबल में शामिल हुए.

प्रधानमंत्री मोदी के भाषण के मुख्य बातें

• पीएम मोदी ने राउंडटेबल को संबोधित करते हुए कहा कि इस साल जिस तरह भारत ने वैश्विक महामारी से बहादुरी के साथ लड़ाई लड़ी है, दुनिया ने भारत के राष्ट्रीय चरित्र को देखा है. दुनिया ने भारत की असली ताकत भी देखी. 

• प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने इस महामारी में उल्लेखनीय क्षमता दिखायी है, चाहे वह वायरस से लड़ने में हो या आर्थिक स्थिरता सुनिश्चित करने में हो. यह ऊर्जा हमारे सिस्टम की ताकत, हमारे लोगों के समर्थन और हमारी नीतियों की स्थिरता से प्रेरित है.

• उन्होंने आगे कहा कि आत्मनिर्भर भारत केवल एक विजन नहीं है, बल्कि एक सुनियोजित आर्थिक रणनीति भी है. एक रणनीति जिसका उद्देश्य भारत को वैश्विक मैन्युफैक्चरिंग पावरहाउस में बदलने के लिए हमारे श्रमिकों के कौशल और हमारे कारोबारों की क्षमताओं का उपयोग करना है.

• पीएम ने कहा कि आज निवेशक उन कंपनियों की ओर बढ़ रहे हैं, जिनके पास उच्च पर्यावरणीय, सामाजिक और शासन क्षमता है. भारत में पहले से यह सिस्टम है और कंपनियां इस मामले में काफी आगे हैं.

• उन्होंने कहा कि भारत आपको लोकतंत्र, जनसांख्यिकी और मांग के साथ-साथ विविधता प्रदान करता है. हमारी ऐसी विविधता है कि आप एक बाजार में कई बाजार पा सकते हैं.

इस आयोजन से फायदा

यह आयोजन भारत में अंतरराष्ट्रीय निवेश के विकास में और तेजी लाने के लिए वैश्विक निवेशकों और भारतीय व्यापार जगत के प्रमुखों को वरिष्ठ नीति-निर्माताओं के साथ जुड़ने और विचार-विमर्श करने का मौका मिलेगा.

वीजीआईआर 2020 सभी स्टेकहोल्डर्स को अपनी आपसी साझेदारी को और अधिक मजबूत बनाने और उन अंतरराष्ट्रीय संस्थागत निवेशकों के साथ जुड़ाव को बढ़ावा देने का एक अवसर भी प्रदान करेगा, जो अपने भारतीय निवेश में बढ़ोतरी करने को उत्सुक हैं.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

0 + 1 =
Post

Comments