प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरिद्वार में पतंजलि रिसर्च सेंटर का उद्घाटन किया

बाबा रामदेव ने आयुर्वेदिक दवाओं पर रिसर्च के लिए ये रिसर्च सेंटर बनाया है. रिसर्च सेंटर बनाने के पीछे उद्देश्य ये है कि आयुर्वेदिक दवाओं को विश्व भर में मान्यता मिले और वैज्ञानिक मान्यताओं पर भी वो खरी उतरें.

Created On: May 3, 2017 18:45 ISTModified On: May 9, 2019 17:28 IST

Narendra Modi inaugurates Patanjali Instituteप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 3 मई 2017 को हरिद्वार में बाबा राम देव के पतंजली आयुर्वेदिक रिसर्च सेंटर का उद्घाटन किया.

इस आयुर्वेद रिसर्च सेंटर में 200 वैज्ञानिक अलग-अलग प्रकार की जड़ी बूटियों पर रिसर्च करेंगे.

इस मौके पर प्रधानमत्री ने योग गुरू के करीबी आचार्य बालकृष्ण द्वारा पिछले दस सालों में संकलित किया गया विश्वकोश ‘वल्र्ड हर्बल इनसाइक्लोपीडिया’ का भी विमोचन किया.

इस विश्वकोश में देश में पायी जाने वाली सत्तर हजार से भी ज्यादा जड़ी-बूटियों के नमूने हैं. आयुर्वेद रिसर्च इंस्टीट्यूट के साथ बाबा रामदेव ने एक हर्बल गार्डन भी तैयार किया है.

बाबा रामदेव ने आयुर्वेदिक दवाओं पर रिसर्च के लिए ये रिसर्च सेंटर बनाया है. रिसर्च सेंटर बनाने के पीछे उद्देश्य ये है कि आयुर्वेदिक दवाओं को विश्व भर में मान्यता मिले और वैज्ञानिक मान्यताओं पर भी वो खरी उतरें.

CA eBook

पतंजली आयुर्वेदिक रिसर्च सेंटर:

•    इस रिसर्च सेंटर के निर्माण में करीब 200 करोड़ रुपये की लागत आई है.

•    यह देश का सबसे बड़ा आयुर्वेदिक रिसर्च सेंटर है.

•    यह रिसर्च सेंटर करीब 10 एकड़ में फैला है.

पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट:

•    पतंजलि योगपीठ भारत का सबसे बड़ा योग शिक्षा संस्थान है.

•    इसकी स्थापना स्वामी रामदेव द्वारा योग का अधिकाधिक प्रचार करने एवं इसे सर्वसुलभ बनाने के उद्देश्य से की गयी थी.

•    यह हरिद्वार में स्थित है.

•    पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट के महासचिव आचार्य बालकृष्ण हैं.

 

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

1 + 0 =
Post

Comments