Search

प्रमोद सावंत ने गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण की

महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) के विधायक सुदिन धवलिकर और गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के अध्यक्ष और विधायक विजय सरदेसाई समेत 11 विधायकों ने भी शपथ ग्रहण की.

Mar 19, 2019 09:51 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

मनोहर पर्रिकर के निधन के पश्चात् प्रमोद सावंत को गोवा का मुख्यमंत्री बनाया गया है. प्रमोद सावंत ने 18 मार्च 2019 को देर रात 2 बजे राज्यभवन में आयोजित समारोह में पद और गोपनियता की शपथ ली. प्रमोद सावंत को गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई.

प्रमोद सावंत के साथ-साथ दो उप-मुख्यमंत्रियों ने भी पद और गोपनीयता की शपथ ली है. महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) के विधायक सुदिन धवलिकर और गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के अध्यक्ष और विधायक विजय सरदेसाई समेत 11 विधायकों ने भी शपथ ग्रहण की.

वह विधायक जिन्होंने मंत्री पद की शपथ ग्रहण की, उनके नाम निम्नलिखित हैं:

•    मॉविन गोडिन्हो, विश्वजीत राणे, मिलिंद नाइक और निलेश कबराल (भारतीय जनता पार्टी)

•    सुदिन धवलिकर, मनोहर अजगांवकर (महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी)

•    विजय सरदेसाई, विनोद पालेकर और जयेश सलगांवकर (गोवा फॉरवर्ड पार्टी)

•    रोहन कौंटे और गोविंद गावडे (निर्दलीय)

 

प्रमोद सावंत के बारे में जानकारी

  • डॉ. प्रमोद सावंत का जन्म 24 अप्रैल 1973 को हुआ था.
  • वे पेशे से किसान और आयुर्वेदिक डॉक्टर हैं तथा उनकी पत्नी सुलक्षणा भी बीजेपी नेता और शिक्षिका हैं.
  • उन्होंने कोल्हापुर में गंगा एजुकेशन सोसाइटी के आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज से आयुर्वेद, चिकित्सा और शल्य चिकित्सा की डिग्री प्राप्त की.
  • इसके बाद उन्होंने और पुणे में तिलक महाराष्ट्र विश्वविद्यालय से मास्टर ऑफ सोशल वर्क में स्नातकोत्तर की डिग्री प्राप्त की.


पद पर रहते हुए मुख्यमंत्रियों का निधन

•    मनोहर पर्रिकर से पहले, गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (MGP) के नेता दयानंद बंदोकर का अगस्त 1973 में पद पर रहते हुए निधन हो गया था.

•    प्रसिद्ध अभिनेता एम जी रामचंद्रन और ऑल इंडियन अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) के संस्थापक की भी दिसंबर 1987 में पद पर रहते हुए मृत्यु हो गई थी.

•    चिमनभाई पटेल ने 1990 से लेकर 1994 में अपनी मृत्यु तक गुजरात सरकार का नेतृत्व किया था.

•    अविभाजित आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एस राजशेखर रेड्डी की सितंबर 2009 में हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत हो गई थी, जिसके कुछ ही महीने पूर्व उन्होंने चुनाव जीता था.

•    अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दोरजी खांडू की भी मई 2011 में एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी.

•    पंजाब के एक मुख्यमंत्री बेअंत सिंह 1995 में सिख चरमपंथियों द्वारा चंडीगढ़ में राज्य सचिवालय में बम विस्फोट में मारे गए थे.

 

यह भी पढ़ें: गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का निधन

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS