Search

देश में सबसे अधिक आय भुगतान करने वाला शहर बेंगलुरु: अध्ययन

बेंगलुरू में हर स्तर और फंक्शंस पर कर्मचारियों की सालाना औसत सीटीसी (कॉस्ट टू कंपनी) 10.8 लाख रुपए है रैंडस्टैड इंडिया के शोध एवं विश्लेषण विभाग रैंडस्टैड इनसाइट्स के अध्ययन में यह बातें सामने आई हैं.

Apr 18, 2018 09:58 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

बेंगलुरु देश का ऐसा शहर है, जहां प्रोफेशनल्स को सबसे ज्यादा सैलरी मिलती है. इस मामले में फार्मा और हेल्थकेयर इंडस्ट्रीज शीर्ष पर हैं. वे अपने कर्मचारियों को सबसे ज्यादा आय देती हैं.

इस क्षेत्र में अनुभवी प्रोफेशनल्स डॉक्टर सबसे आगेहैं, रिपोर्ट के मुताबिक, 6 से 10 साल तक अनुभव रखने वाले प्रोफेशनल्स को तुलनात्मक रूप से ज्यादा सैलरी मिलती है. इस मामले में स्पेशलिस्ट डॉक्टर 18.4 लाख रुपए सालाना सीटीसी के साथ टॉप पर हैं.

बेंगलुरू में हर स्तर और फंक्शंस पर कर्मचारियों की सालाना औसत सीटीसी (कॉस्ट टू कंपनी) 10.8 लाख रुपए है रैंडस्टैड इंडिया के शोध एवं विश्लेषण विभाग रैंडस्टैड इनसाइट्स के अध्ययन में यह बातें सामने आई हैं.

बेंगलुरु के बाद पुणे और दिल्ली एनसीआर का स्थान आता है. देश में जी एसटी व्यवस्था लागू होने के बाद इससे जुड़े कार्यान्वयन और अनुपालन विशेषज्ञों की मांग में तेजी आई है.

 

 

सबसे ज्यादा सैलरी देने वाले टॉप 5 शहर:

नंबर

औसत सीटीसी

 

शहर

1

10.8 लाख

 

बेंगलुरु

2

10.3 लाख

 

पुणे

3

9.9 लाख

 

दिल्ली-एनसीआर

4

9.2 लाख

 

मुंबई

5

7.9 लाख

 

चेन्नई

 

हैदराबाद (7.9 लाख रुपये) और कोलकाता (7.2 लाख रुपये) इस सूची में क्रमशः छठे और सातवें स्थान पर हैं. ये ऐसे शहर हैं, जो जॉब्स के लिए बड़े हब माने जाते हैं. ये नौकरी के लिए युवाओं के मनपसंद शहर हैं.

बेहतर वेतन पैकेज देने वाले औद्योगिक क्षेत्र:

  • बेहतर वेतन पैकेज देने वाले औद्योगिक क्षेत्रों में दवा और स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र सबसे आगे है. इस क्षेत्र में सभी स्तरों और कामकाजी क्षेत्र में औसतन 9.6 लाख रुपये का वेतन पैकेज दिया जाता है.
  • देश में जीएसटी व्यवस्था लागू होने के बाद इससे जुड़े कार्यान्वयन और अनुपालन विशेषज्ञों की मांग में तेजी आयी है. इस क्षेत्र के पेशेवरों का औसत वेतन 9.4 लाख रुपये सालाना तक पहुंच गया है. यह दूसरा सबसे अधिक वेतन देने वाला क्षेत्र है.
  • देश में अधिक वेतन देने वाले क्षेत्रों में तीसरा स्थान एफएमसीजी यानी रोजमर्रा उपभोग से जुड़ी वस्तुओं का है, जहां औसत वेतन 9.2 लाख रुपये सालाना है.
  • इसके बाद आर्इटी क्षेत्र, जहां औसत वेतन 9.1 लाख और बुनियादी ढांचा , रीयल एस्टेट एवं निर्माण क्षेत्र (9 लाख रुपये ) का स्थान आता है.

रैंडस्टैंड इनसाइट्स रिपोर्ट:

रैंडस्टैंड इनसाइट्स ने सैलरी ट्रेंड का अध्ययन करने के लिए वर्ष 2018 में 15 अलग-अलग तरह के कार्यों और 1 लाख से भी ज्यादा नौकरियों का विश्लेषण किया है.

इस रिपोर्ट में बेहतर वेतन के हिसाब से अलग-अलग सेक्टर की पहचान भी की गई है.

रेंडस्‍टैड इनसाइट्स सैलरी ट्रेंड्स रिपोर्ट 2018 में 20 इंडस्‍ट्री के वर्टिकल्‍स और 15 फंक्‍शंस के तहत 1 लाख नौकरियों का विश्‍लेषण किया गया.

 

यह भी पढ़ें: भारतीय अदालतों ने 2017 में 109 लोगों को मौत की सजा सुनाई: एमनेस्टी रिपोर्ट

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS