Search

पुलित्जर पुरस्कार विजेता सिद्धार्थ मुखर्जी और प्रोफेसर राज चेट्टी ‘2020 ग्रेट इमिग्रेंट्स’से सम्मानित

'2020 ग्रेट इमिग्रेंट्स' ऑनरीज़’ के माध्यम से, कार्नेगी कॉर्पोरेशन ऐसे प्रवासियों के प्रतिष्ठित समूह को मान्यता देता है, जो अमेरिकन सोसायटी की प्रगति में उल्लेखनीय योगदान दे रहे हैं.

Jul 3, 2020 15:34 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

सिद्धार्थ मुखर्जी और प्रो. राज शेट्टी को कार्नेगी कॉरपोरेशन ऑफ़ न्यूयॉर्क द्वारा '2020 ग्रेट इमिग्रेंट्स' ऑनरीज़’ के तौर पर सम्मानित किया गया है.

कोविड स्वास्थ्य संकट को कम करने के प्रयासों में योगदान देने वाले दो प्रसिद्ध भारतीय-अमेरिकियों को संयुक्त राज्य अमेरिका स्वतंत्रता दिवस समारोह 2020 से पहले प्रतिष्ठित अमेरिकन फाउंडेशन द्वारा सम्मानित किया गया है.

सिद्धार्थ मुखर्जी पुलित्जर विजेता लेखक और ऑन्कोलॉजिस्ट हैं और राज चेट्टी हार्वर्ड विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर हैं. ये दोनों ही लोग अपने संबंधित क्षेत्रों में अपने बहुमूल्य योगदान के लिए जाने जाते हैं.

पुलित्जर पुरस्कार विजेता सिद्धार्थ मुखर्जी के बारे में जानकारी

सिद्धार्थ मुखर्जी का जन्म दिल्ली में हुआ था और वे एक प्रसिद्ध ऑन्कोलॉजिस्ट, जीवविज्ञानी और कई प्रशंसित पुस्तकों के लेखक हैं. उन्होंने अपनी पुस्तक ‘द एम्परर ऑफ द मलाइड्स: ए बायोग्राफी ऑफ कैंसर’ के लिए पुलित्जर पुरस्कार जीता, जो कैंसर के उपचार और अनुसंधान के इतिहास पर केंद्रित है.

वर्ष 2009 से, वे कोलंबिया विश्वविद्यालय संकाय में सेवारत हैं, जहां वे एक एसोसिएट प्रोफेसर ऑफ़ मेडिसिन हैं और न्यू-यॉर्क प्रेस्बिटेरियन अस्पताल में एक प्रैक्टिसिंग डॉक्टर भी हैं.

सिद्धार्थ मुखर्जी को सम्मानित करते हुए, कार्नेगी कॉर्पोरेशन ने बताया कि, कोविड -19 महामारी के दौरान, उन्होंने मीडिया साक्षात्कार, सार्वजनिक मंचों, निबंधों और अपने सोशल मीडिया एकाउंट के माध्यम से कोविड - 19 वायरस के बारे में जनता को शिक्षित करने के उद्देश्य से अपने "एक विज्ञान संचारक के तौर पर अपने उपहार" का उपयोग किया है.

उन्होंने मास्क पहनने, सामाजिक दूरी और आवश्यक होने पर आत्म-पृथककरण के लिए विभिन्न दिशानिर्देशों के महत्व पर बल दिया.

मई, 2020 में मुखर्जी को एंड्रयू क्यूमो, न्यूयॉर्क के गवर्नर के तौर पर चुना गया था और उन्होंने 15 सदस्यीय ब्लू-रिबन-कमीशन में कार्य करते हुए कोविड -19 की प्रतिक्रिया के तौर पर ब्रॉडबैंड एक्सेस और टेलीहेल्थ के सुधार पर ध्यान केंद्रित किया था.

प्रो. राज चेट्टी के बारे में जानकारी

राज चेट्टी दिल्ली में पैदा हुए थे और हार्वर्ड विश्वविद्यालय के इतिहास में सबसे कम उम्र के प्रोफेसरों में से एक हैं. हार्वर्ड विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर के तौर पर कार्य करने के अलावा, वे ऑपोरच्यूनिटी इनसाइट्स का भी निर्देशन कर रहे हैं जोकि एक अनुसंधान प्रयोगशाला है और जिसका उद्देश्य आर्थिक और सामाजिक गतिशीलता में बाधाओं की पहचान करके, उन्हें दूर करने के लिए नीतिगत समाधान तलाशने के लिए काम करना है.

चेट्टी ने पूरे अमेरिका में कारोबारों, लोगों और समुदायों पर कोविड -19 महामारी के रियल-टाइम आर्थिक प्रभाव की निगरानी के लिए एक साधन शुरू करने में मदद की. यह साधन या तरीका नीति-निर्माताओं को प्रमाण-आधारित निर्णय लेने में मदद करता है जो समुदायों की आर्थिक जरूरतों के साथ महत्वपूर्ण सार्वजनिक स्वास्थ्य प्राथमिकताओं को भी संतुलित करेगा.

कार्नेगी कॉरपोरेशन के अनुसार, ऐसे प्रवासियों सहित, चेट्टी नीति के बारे में सूचना प्रदान करने के लिए और अगली पीढ़ी के लिए अमेरिकी सपने को साकार करने के लिए बिग डाटा की क्षमता के बारे में आशावादी हैं, जिन प्रवासियों ने लंबे समय से इसके वादे पर अपनी आशाएं टिकाई हैं.

प्रवासियों को सम्मानित करता है कार्नेगी कॉर्पोरेशन

यह अमेरिकन कॉरपोरेशन कहता है कि, अमेरिका में रहने कई प्रवासियों अगर कड़ी मेहनत करते हैं, तो वे आगे बढ़ सकते हैं और जो चाहते हैं, वह कर सकते हैं क्योंकि अमेरिका एक ऐसा ही देश है, जहां सबको अपना विकास करने की पूरी आजादी है. वर्ष 2006 से कॉर्पोरेशन द्वारा 600 से अधिक श्रेष्ठ प्रवासियों को सम्मानित किया गया है.

04 जुलाई को अमेरिका के स्वतंत्रता दिवस पर, कॉर्पोरेशन अपने संस्थापक एंड्रयू कार्नेगी की विरासत का सम्मान करता है, जो एक स्कॉटिश प्रवासी थे और गरीबी से आगे निकल कर, एक अग्रणी उद्योगपति बन गये थे. कॉर्पोरेशन ऐसे प्रवासियों के प्रतिष्ठित समूह को सम्मानित करता है जो अमेरिकन सोसायटी की प्रगति में अपना उल्लेखनीय योगदान दे रहे हैं.

'2020 ग्रेट इमिग्रेंट्स' ऑनरीज़

इस कॉर्पोरेशन के अनुसार, इसने वर्ष 2020 में ऐसे 38 प्राकृतिक (नेचुरलाइज्ड) नागरिकों को सम्मानित किया है, जिन्होंने अपने योगदान और कार्यों के माध्यम से अमेरिका और उसके लोकतंत्र को समृद्ध और मजबूत बनाया है.

कॉर्पोरेशन ने बताया कि इस वर्ष के सम्मानित लोगों में एक तिहाई ऐसे डॉक्टर्स या नर्सें हैं जो वैश्विक स्वास्थ्य संकट से उबरने में मदद कर रहे हैं या फिर, ऐसे वैज्ञानिक हैं जो कोविड - 19 वायरस के लिए प्रभावी उपचार और वैक्सीन खोजने के लिए प्रयासरत हैं. ऐसे पादरी और सामुदायिक नेता जो महत्वपूर्ण सेवाएं और भोजन प्रदान कर रहे हैं, उन्हें भी सम्मानित किया जाएगा.

'2020 ग्रेट इमिग्रेंट्स' ऑनरीज़’ मूल रूप से उन 35 देशों का प्रतिनिधित्व करते हैं, जिनके नागरिकों ने कंप्यूटर विज्ञान, मानव अधिकार, व्यवसाय, कला, स्वास्थ्य सेवा, पत्रकारिता, राजनीति, संगीत, धर्म, खेल और अनुसंधान के क्षेत्र में अमेरिकी विकास में अपना व्यापक योगदान दिया है.

वर्ष 2020 के सम्मानित व्यक्तियों को न्यूयॉर्क टाइम्स अख़बार में एक पूरे पेज पर सार्वजनिक सेवा घोषणा के साथ सम्मान दिया जाएगा. 04 जुलाई, 2020 को सोशल मीडिया पर भी इन लोगों का सम्मान किया जायेगा.

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS