Search

रेल मंत्रालय ने अनरिजर्व्ड मोबाइल टिकटिंग सुविधा लांच की

इस ऐप की सहायता से अनारक्षित टिकट, सीजन टिकट तथा प्लेटफार्म टिकट की बुकिंग की जा सकती है. अब यात्रियों को टिकट लेने के लिए लम्बी कतारों में खड़ा रहने की आवश्यकता नहीं होगी.

Nov 6, 2018 10:44 IST

केन्द्रीय रेल मंत्रालय ने टिकट लेने के लिए लंबी-लंबी लाइनों से छुटकारा दिलाने को लेकर रेलयात्रियों के लिए यूटीएस (अनरिजर्व्ड टिकटिंग सिस्टम) मोबाइल ऐप लॉन्च किया है. इस ऐप के माध्यम से यात्री अपने एंड्रायड मोबाइल पर ही टिकट बुक कर सकता है.

इस ऐप की सहायता से अनारक्षित टिकट, सीजन टिकट तथा प्लेटफार्म टिकट की बुकिंग की जा सकती है. अब यात्रियों को टिकट लेने के लिए लम्बी कतारों में खड़ा रहने की आवश्यकता नहीं होगी.

टिकट पेपर रहित:

यह टिकट पेपर रहित होगा. इससे कागज की बर्बादी नहीं होगी वहीं पर्यावरण को भी बढ़ावा मिलेगा. इससे जहां प्लेटफार्म टिकट, अनारक्षित (जनरल) टिकट व मासिक पास भी बनवाया जा सकता है.

फायदे:

इस ऐप के द्वारा टिकट खिड़की पर लगने वाली लंबी लाइन से छुटकारा मिलेगा. टिकट पेपर रहित होने से पर्यावरण को बढ़ावा होगा. इस ऐप के द्वारा टीटीई को टिकट दिखाने के लिए इंटरनेट की भी जरूरत नहीं पड़ेगी. यह सेवा कैशलेस है. डिजिटल पेमेंट से ही टिकट बुक होगी. लंबी दूरी की ट्रेन का भी अनारक्षित (जनरल) टिकट बुक किया जा सकेगा. रेल वॉलेट, डेबिट, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग, यूपीआई या ई-वॉलेट से भी टिकट बुक की जा सकती है.

अनरिजर्व्ड मोबाइल टिकटिंग सुविधा:

इस सुविधा का लाभ ‘यूटीएस मोबाइल ऐप’ के द्वारा उठाया जा सकता है, यह एप्प एंड्राइड, iOS तथा विंडोज स्टोर पर उपलब्ध है. उपभोक्ता को इस मोबाइल ऐप को डाउनलोड करके ऐप पर पंजीकरण करवाना होगा. पंजीकरण के बाद उपभोक्ता को यूजर-आईडी तथा पासवर्ड दिया जायेगा, इसके द्वारा यूजर लॉग इन कर सकता है.

इस ऐप पर आर-वॉलेट, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेटबैंकिंग, UPI तथा अन्य ई-वॉलेट के द्वारा भुगतान किया जा सकता है. इस ऐप के द्वारा टिकट बुकिंग की प्रक्रिया निर्बाध होकर चलती रहेगी. अब यात्रियों को टिकट लेने के लिए लम्बी कतारों में इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा.

तीन घंटे पहले बुक टिकट रहेगा वैध:

इस ऐप के जरिए ट्रेन के निर्धारित समय से तीन घंटे पूर्व तक बुक टिकट वैध रहेगा. तीन घंटे से पूर्व बुक टिकट मान्य नहीं रहेगा. यह ऐप जीपीएस के माध्यम से काम करेगा. ऐप के माध्यम से टिकट रेलवे स्टेशन के 20-30 मीटर के दायरे में बुक होगा. जब टीटी टिकट जांच के लिए आएंगे तो यूटीएस मोबाइल ऐप में शो टिकट के ऑप्शन में जाकर अपनी यात्रा टिकट दिखा सकेंगे.

यह भी पढ़ें: ट्रेन-18, भारत ने तैयार की देश की पहली इंजन रहित रेल