रिलायंस जियो ने विश्व की सबसे लंबी सबमरीन केबल प्रणाली लॉन्च की

सबमरीन केबल तार हांगकांग और फ्रांस तक 25000 किलोमीटर का सफर तय करेगी. इसके एशिया और यूरोप में 21 केबल लैंडिंग बनाये गये हैं.

Created On: Jul 4, 2017 10:41 ISTModified On: Jul 4, 2017 10:45 IST

रिलायंस जियो ने 29 जून 2017 को एशिया-अफ्रीका-यूरोप (एएई-1) के लिए सबमरीन (समुद्र के नीचे) केबल तार प्रणाली लॉन्च की. यह दावा किया जा रहा है कि यह विश्व की सबसे लंबी सबमरीन प्रणाली है जो 100 जीबीपीएस तकनीक पर आधारित है.

यह केबल तार हांगकांग और फ्रांस तक 25000 किलोमीटर का सफर तय करेगी. इसके एशिया और यूरोप में 21 केबल लैंडिंग बनाये गये हैं.

 Jio launches world’s longest submarine system


यह केबल साउथ इस्ट एशिया और यूरोप को मिस्र के रास्ते से जोड़ता है. यह पिछले 15 वर्षों में अब तक का सबसे लंबा सबमरीन केबल है. जियो का कहना है कि इससे उपयोगकर्ताओं को तेज इन्टरनेट और बेहतर क्वालिटी की स्ट्रीमिंग सुविधा मिल सकेगी.

सौ जीबीपीएस वाली यह टेक्नोलॉजी ग्लोबल कंटेंट हब और इंटरकनेक्शन प्वाइंट्स से सीधे कनेक्ट होगी. इसके जरिए जियो अपने उपयोगकर्ताओं को हाई-स्पीड इंटरनेट और डिजिटल सर्विस का बेहतर अनुभव देगा.

CA eBook

मुख्य बिंदु

•    एएई-1 से भारत तथा अन्य क्षेत्रों में विडियो डाटा की सुविधा प्रदान की जा सकेगी.

•    एएई-1 कई महत्वपूर्ण शहरों से होकर गुजरेगा और भारत समेत कई देशों को कम्युनिकेशन व डाटा संबंधी बैंडविड्थ सपोर्ट देगा.

•    ग्लोबल मार्केट में डायरेक्ट एक्सेस के लिए एएई-1 बाकी दूसरे केबल सिस्टम और फाइबर नेटवर्क से लिंक होगा.

•    बड़े पैमाने के इस प्रोजेक्ट में यूरोप, मिडिल ईस्ट और एशिया के बड़े टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर्स की मदद ली जाएगी.

•    इसका नेटवर्क ऑपरेशन सेंटर (एनओसी) नवी मुंबई में स्थित होगा.

 

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

6 + 6 =
Post

Comments