Search

Reliance AGM 2019: Jio ने लॉन्च की जियो गीगाफाइबर, ब्रॉडबैंड, मिलेंगी ये सुविधाएं

जियो गीगाफाइबर को कमर्शियल तौर पर 05 सितंबर 2019 से उपलब्ध कराया जाएगा. गीगाफाइबर, 100 एमबीपीएस की स्पीड से शुरू होकर और 1GBPS तक की स्पीड में उपलब्ध होगा.

Aug 13, 2019 12:59 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) द्वारा 12 अगस्त 2019 को 42वें एनुअल जनरल मीटिंग का आयोजन किया गया. कंपनी के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी ने घोषणा की कि रिलायंस जियो 34 करोड़ ग्राहकों के साथ देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी बन गई है. इसके अतिरिक्त विश्व में दूसरी सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी है.

इस दौरान मुकेश अंबानी ने जियो गीगाफाइबर के प्लान को लेकर भी जानकारी दी. ग्राहकों को 700 रुपये प्रतिमहीने की शुरुआती कीमत में इस ब्रॉडबैंड सेवा का लाभ मिलेगा. रिलायंस इंडस्ट्रीज की 42वी एजीएम मुंबई में हुई.

इस मौके पर कई बड़ी घोषणाएं की गई

• जियो गीगाफाइबर को कमर्शियल तौर पर 05 सितंबर 2019 से उपलब्ध कराया जाएगा. गीगाफाइबर, 100 एमबीपीएस की स्पीड से शुरू होकर और 1GBPS तक की स्पीड में उपलब्ध होगा. जियो गीगाफाइबर के प्लान की शुरुआत 700 रुपये से शुरू होगी और इसकी रेंज 10,000 रुपये तक जाएगी.

• इसके अतिरिक्त, जियो का मिक्स रियल्टी भी पेश किया गया है, जिसका नाम जियो होलोबोर्ड है. रिलायंस जियो प्रत्येक महीने 35 लाख नए उपभोक्ता को जोड़ रहा है.

• रिलायंस जियो ने पिछले साल 340 मिलियन सब्सक्राइबर्स जोड़े हैं और विश्व की सबसे तेजी से सब्सक्राइबर्स जोड़ने वाली कंपनी बन गई है.

• रिलायंस जियो ने भारत को तमसो मा ज्योतिर्गमय की तरह ही डाटा के अंधेरे से मुक्त किया है. जियो 05 सितंबर 2019 को तिन साल की हो जाएगी. जियो ने डिजिटल इकोनॉमी में बहुत बड़ा योगदान दिया है.

• मुकेश अंबानी के अनुसार, जियो के लिए इंटरनेट ऑफ थिंग्स, होम ब्रॉडबैंड सर्विस, इंटरप्राइस सर्विस, ब्राडबैंड फॉर एसएमई के लिए इसी वित्त वर्ष में शुरू होगा.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें!

जियो गीगाफाइबर क्या है?

जियो गीगाफाइबर एक हाईस्पीड इंटरनेट सेवा है. इसके जरिए इंटरनेट के अतिरिक्त कॉलिंग, टीवी, डीटीएच की सुविधा भी प्राप्त किया जा सकता हैं. जियो गीगाफाइबर के एक कनेक्शन पर एक साथ 40 डिवाइस कनेक्ट की जा सकती हैं. ग्राहकों को ट्रायल के दौरान 100 एमबीपीएस की स्पीड से डाटा दिया जा रहा है. इसके लिए कंपनी 4500 रुपए सिक्योरिटी के तौर पर ले रही है.

यह भी पढ़ें: भारत सरकार द्वारा पहली राष्ट्रीय 'टाइम रिलीज स्टडी’ की घोषणा, जानिए इसके बारे में सबकुछ

For Latest Current Affairs & GK, Click here