Search

BCCI ने रोहित शर्मा को राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार 2020 के लिए किया नामांकित

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने उनके नामांकन पर मीडिया से कहा कि नाम चयनित करने से पहले हमने काफी आंकड़े देखे और कई पैरामीटर पर विचार किया है.

Jun 1, 2020 10:20 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने 2020 के राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा को नामांकित किया है. इसके अलावा बीसीसीआई ने अर्जुन पुरस्कार के लिए ईशांत शर्मा, शिखर धवन और दीप्ति शर्मा को नामांकित किया है.

केंद्र सरकार के युवा एवं खेल मामले के मंत्रालय ने 01 जनवरी 2016 से 31 दिसंबर 2019 तक के प्रदर्शन के आधार पर खिलाड़ियों के नाम मांगे थे. भारतीय टीम के उपकप्तान रोहित शर्मा 2019 के आईसीसी वनडे क्रिकेटर ऑफ़ द ईयर भी चुने गए थे. इस दौरान उन्होंने एक विश्व कप में पांच शतक लगाने का कमाल भी दिखाया था.

बीसीसीआई अध्यक्ष ने क्या कहा?

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने उनके नामांकन पर मीडिया से कहा कि नाम चयनित करने से पहले हमने काफी आंकड़े देखे और कई पैरामीटर पर विचार किया है. रोहित शर्मा ने बल्लेबाज़ के तौर पर नए मानक बनाए हैं. इसलिए प्रतिष्ठित खेल सम्मान के लिए वे उपयुक्त पात्र हैं.

जानें क्यों रोहित शर्मा को नामांकित किया गया?

रोहित शर्मा सीमित ओवरों के प्रारूप में भारत के उप-कप्तान हैं. भारतीय टीम के उपकप्तान रोहित शर्मा साल 2019 के विश्व कप में पांच शतक लगाने का करिश्मा दिखाया था. इसके अतिरिक्त टी-20 क्रिकेट में चार शतक बनाने वाले वे पहले बल्लेबाज़ भी बने. रोहित शर्मा साल 2017 के बाद से वनडे क्रिकेट में 18 शतक लगा चुके हैं, जिसमें आठ बार उन्होंने 150 से ज़्यादा का स्कोर बनाया है. उन्होंने इस दौरान टेस्ट क्रिकेट में भी ओपनर के तौर पर मौका मिलने पर दोनों पारियों में शतक बनाने का कमाल दिखाया है.

राजीव गांधी खेल रत्न भारत में दिया जाने वाला सबसे बड़ा खेल पुरस्कार है. इस पुरस्कार को भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर रखा गया है. यह प्रतिवर्ष खेल एवं युवा मंत्रालय द्वारा प्रदान किया जाता है. प्राप्तकर्ताओं को मंत्रालय द्वारा गठित एक समिति द्वारा चुना जाता है और उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पिछले चार साल की अवधि में खेल क्षेत्र में शानदार और सबसे उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया जाता है.

गौरतलब है कि कोरोना वायरस (कोविड-19) के कारण से इस बार खेल मंत्रालय ने राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के दावेदारों से नामांकन ई-मेल के जरिए मंगाए. सामान्यत: नामांकन भेजने की प्रक्रिया अप्रैल में ही शुरू हो जाती है. लेकिन इस बार लॉकडाउन के कारण से मई में आवेदन मांगे गए हैं.

जानें क्यों ईशांत-शिखर-दीप्ति को नामांकित किया गया?

अर्जुन पुरस्कार हेतु नामांकित किए गए शिखर धवन के नाम डेब्यू करते हुए टेस्ट में सबसे तेज़ शतक बनाने का रिकॉर्ड है. सौरव गांगुली ने शिखर धवन के बारे में बताया कि शिखर धवन लगातार स्कोर बनाते रहे हैं और आईसीसी इवेंट में उनका प्रदर्शन महत्वपूर्ण रहा है.

ईशांत शर्मा क्रिकेट के सभी तीनों फॉरमेटम में खेलने वाले सबसे युवा खिलाड़ी रहे हैं. हाल की भारत की कायमाबी में उनकी गेंदबाज़ी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है. ईशांत शर्मा एशिया से बाहर के पिचों में पर सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज़ बन चुके हैं. उनकी उपलब्धियों पर सौरव गांगुली ने कहा कि ईशांत शर्मा टेस्ट टीम के सबसे अनुभवी गेंदबाज़ हैं और टेस्ट में टीम को नंबर वन बनाने में उनका योगदान महत्वपूर्ण है.

महिला क्रिकेट टीम की ऑलराउंडर दीप्ति शर्मा को भी ईशांत और शिखर धवन के साथ अर्जुन पुरस्कार हेतु नामांकित किया गया है. भारत की तरफ से वनडे क्रिकेट में एक मैच में सबसे बड़ी पारी और एक मैच में छह विकेट झटकने का कारनामा दीप्ति शर्मा के ही नाम है. सौरव गांगुली ने दीप्ति शर्मा को एक वास्तविक आलराउंडर बताते हुए कहा कि टीम में उनकी भूमिका महत्वपूर्ण है.

अर्जुन पुरस्कार खिलाड़ियों को दिये जाने वाला एक पुरस्कार है जो भारत सरकार द्वारा खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिये दिया जाता है. इस पुरस्कार का प्रारम्भ साल 1961 में हुआ था. पुरस्कार स्वरूप पाँच लाख रुपये की राशि, अर्जुन की कांस्य प्रतिमा और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है.

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS