Search

शिंजो अबे पर्ल हार्बर घटना पर श्रद्धांजलि देने वाले पहले जापानी प्रधानमंत्री बने

दूसरे विश्व युद्ध में जापान के आत्मसमर्पण के 6 साल के बाद जापान के प्रधानमंत्री शिगेरु योशिदा ने भी पर्ल हार्बर का दौरा किया था लकिन तब तक यूएसएस एरिजोना स्मारक नहीं बना था.

Dec 30, 2016 16:00 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे ने दूसरे विश्व युद्ध के कई युद्ध स्मारकों का दौरा कर जापानी हमलों में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित की है.

वर्ष 1941 में पर्ल हार्बर पर जापानी बमबारी के बाद ही अमेरिका ने दूसरे विश्व युद्ध में भाग लिया था. अबे पर्ल हार्बर के जॉइंट बेस पर उतरने के बाद सीधे होनोलुलु के युद्ध स्मारक गए जहां उन्होंने कुछ देर के लिए मौन रखकर युद्ध में मारे गए लोगों श्रद्धांजलि दी.

बाद में जापानी प्रधानमंत्री ने एक अन्य स्मारक पर भी गए जहां वर्ष 2001 में जापान की एक फिशिंग बोट के अमेरिकी नेवी की पनडुब्बी से टकरा जाने के कारण कई लोगों की मौत हो गई थी.

इससे पहले, दूसरे विश्व युद्ध में जापान के आत्मसमर्पण के 6 साल के बाद जापान के प्रधानमंत्री शिगेरु योशिदा ने भी पर्ल हार्बर का दौरा किया था लकिन तब तक यूएसएस एरिजोना स्मारक नहीं बना था.

हालांकि शिंजो अबे पहले ऐसे जापानी प्रधानमंत्री हैं जो पर्ल हार्बर हमले में मारे गए अमेरिकी लोगों के सम्मान में श्रद्धांजलि देने गए हैं.

पर्ल हार्बर के बारे में:

CA eBook

•    पर्ल हार्बर हवाई द्वीप में हॉनलूलू से दस किमी उत्तर-पश्चिम, संयुक्त राज्य अमरीका का प्रसिद्ध बंदरगाह एवं गहरे जल का नौसैनिक अड्डा है.

•    यह अमेरिकी प्रशांत बेड़े का मुख्यालय भी है.

•    इस बंदरगाह के 20 वर्ग किलोमीटर के नाव्य जल में सैकड़ों जहाजों के रुकने का स्थान है.

•    पर्ल बंदरगाह संसार के सुंदरतम एवं विशालतम सुरक्षित नौसैनिक अड्डों में से एक है.

•    नौसेना द्वारा संचालित यहाँ समीप में ही जहाज मरम्मत स्थान, अस्पताल एवं प्रशिक्षण विद्यालय हैं.

 

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS