]}
Search

इंडिया स्मार्ट सिटी अवार्ड 2018: सूरत ‘सिटी अवार्ड’ के लिए चुना गया

तीन वर्गों अर्थात परियोजना पुरस्कार, नवोन्मेषी विचार पुरस्कार एवं सिटी अवार्ड में 9 पुरस्कारों की इंडिया स्मार्ट सिटी पुरस्कार के तहत घोषणा की गई है.

Jun 22, 2018 08:52 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

‘इंडिया स्मार्ट सिटी अवार्ड’ 2018 के तहत परियोजनाओं के कार्यान्वयन में तेज गति प्रदर्शित करने पर सूरत स्मार्ट सिटी को ‘सिटी अवार्ड’ के लिए चुना गया.

तीन वर्गों अर्थात परियोजना पुरस्कार, नवोन्मेषी विचार पुरस्कार एवं सिटी अवार्ड में 9 पुरस्कारों की इंडिया स्मार्ट सिटी अवार्ड के तहत घोषणा की गई है.

1. सिटी अवार्ड: 

परियोजनाओं के क्रियान्वयन में विशेष रूप से शहरी पर्यावरण, परिवहन एवं गंत्यात्मकता तथा टिकाऊ समेकित विकास के वर्गों में परियोजनाओं के कार्यान्वयन में तेज गति प्रदर्शित करने के लिए सूरत स्मार्ट सिटी को सिटी अवार्ड के लिए चुना गया.

2. नवोन्मेषी विचार पुरस्कार:

नवोन्मेषी विचार पुरस्कार किसी परियोजना/विचार, विशेष रूप से टिकाऊ समेकित विकास की दिशा में उनके नवोन्मेषी, बॉटम-अप एवं रूपांतरकारी दृष्टिकोण के लिए प्रदान किया जाता है. इस वर्ग में संयुक्त विजेता अपने समेकित कमान एवं नियंत्रण केन्द्र (आईसीसीसी) के लिए भोपाल तथा सुरक्षित एवं भरोसेमंद अहमदाबाद (एसएएसए) परियोजना के लिए अहमदाबाद रहे.

3. परियोजना पुरस्कार:

परियोजना पुरस्कार सात वर्गों में सर्वाधिक नवोन्मेषी एवं सफल परियोजनाओं को दिया जाता है, जो 01 अप्रैल 2018 तक पूरी हो चुकी है.

 Surat to receive ‘City Award’ under India Smart Cities Award 2018

चुनी गई परियोजनाएं:

क्र.सं.

श्रेणी

परियोजना का नाम

1

अभिशासन

पुणे से पीएमसी केयर

2

निर्मित पर्यावरण

पुणे से स्मार्ट प्लेस मेकिंग

3

सामाजिक पहलू

एनडीएमसी एवं जबलपुर से स्मार्ट क्लास रूम, विशाखापत्तनम से स्मार्ट कैम्पस, पुणे से लाईट हाउस

4

संस्कृति एवं अर्थव्यवस्था

भोपाल से बी नेस्ट इन्क्यूबेशन सेंटर एवं जयपुर से राजस्थान स्कूल ऑफ आर्ट्स का संरक्षण

5

शहरी पर्यावरण

भोपाल, पुणे, कोयम्बटूर से पब्लिक बाईक शेयरिंग एवं जबलपुर में अपशिष्ट से ऊर्जा संयंत्र

6

परिवहन एवं गंत्यात्मकता

 अहमदाबाद एवं सूरत से समेकित पारगमन प्रबंधन प्रणाली (टीएमएस)

7

जल एवं स्वच्छता

अहमदाबाद से एससीएडीए के माध्यम से स्मार्ट वाटर मैनेजमेंट

 

इंडिया स्मार्ट सिटी अवार्ड के बारे में:

  • इंडिया स्मार्ट सिटी अवार्ड शहरों, परियोजनाओं एवं नवोन्मेषी विचारों को पुरस्कृत करने, नगरों में टिकाऊ विकास को बढ़ावा देने के उद्देश्य से 25 जून 2017 को आरंभ किया गया था.
  • योग्य प्रतिभागियों में केवल स्मार्ट सिटी शामिल थे जहां संबंधित यूएलबी/स्मार्ट सिटी एसपीवी को प्रस्ताव पेश करना था.
  • सिटी अवार्ड पर फैसला 02 मई 2018 (पुरस्कार आवेदन प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि) को उनके पुरस्कार स्कोर एवं साप्ताहिक रैंकिंग पर नगरों के प्रदर्शन के आधार पर किया गया.
  • संयुक्त राष्ट्र हैबिटेट, एशियाई विकास बैंक एवं एनआईयूए के अंतर्राष्ट्रीय/बहु-स्तरीय विशेषज्ञों की एक तकनीकी समिति ने नवोन्मेषण, प्रभाव एवं प्रतिकृति/अनुमापकता पर आधारित प्रतिवेदनों का मूल्यांकन किया.
  • नगर को कोई प्रस्ताव रखने की जरूरत नहीं है.
  • प्रोजेक्ट अवार्ड’ एवं ‘नवोन्मेषी विचार अवार्ड’ के लिए विविध प्रस्ताव प्रस्तुत किए गए और मूल्यांकन के लिए परियोजना कार्यान्वयन पर विचार किया जाएगा.

                                           100वीं स्मार्ट सिटी के रूप में शिलांग का चयन

मेघालय की राजधानी शिलांग का चयन 100वीं स्मार्ट सिटी के रूप में किया गया है. शिलांग द्वारा प्रस्तुत किये गये प्रस्ताव के आकलन के बाद ही इस शहर का चयन किया गया है. अब तक संबंधित प्रतिस्पर्धा के चार दौर में 99 स्मार्ट सिटी का चयन किया गया था. इससे पहले जनवरी 2016 में 20 शहरों, मई 2016 में 13 शहरों, सितम्बर 2016 में 27 शहरों, जून 2017 में 30 शहरों और जनवरी 2018 में 9 शहरों का चयन किया गया था. शिलांग के चयन के साथ ही स्मार्ट सिटी मिशन के तहत अंतिम रूप से चयनित 100 स्मार्ट सिटी में कुल प्रस्तावित निवेश 2,05,018 करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच गया है.

 यह भी पढ़ें: अनुकृति वास ने जीता मिस इंडिया 2018 का खिताब

 

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS