Search

बहुमत की दौड़

कुल सीट - 542
  • पार्टीसीट (जीते+आगे)बहुमत से आगे/पीछे

    बहुमत 272

धरती की सतह का तेजी से बढ़ रहा है तापमान: नासा

यह अध्ययन पत्रिका इनवायरनमेंटल रिसर्च लेटर्स में प्रकाशित हुआ. पिछले 15 साल में दोनों डाटा संग्रह के बीच काफी समानता देखने को मिली.

Apr 23, 2019 16:29 IST

नासा के अध्ययनकर्मियों द्वारा उपग्रह के जरिए किए गए आकलन ने उन आंकड़ों की पुष्टि की है जिससे पता चला है कि पिछले 15 साल में पृथ्वी की सतह गरम हुई है.

अध्ययनकर्मियों ने साल 2003 से साल 2007 तक उपग्रह आधारित इन्फ्रारेड मेजरमेंट सिस्टम एआईआरएस (ऐटमॉसफेरिक इन्फ्रा रेड साउन्डर) के जरिए प्राप्त धरती के तापमान का आकलन किया. अध्ययन दल ने इन आंकड़ों को गोडार्ड इन्स्टीट्यूट फॉर स्पेस स्टडीज सरफेस टेंपरेचर एनालाइसिस (जीआईएसटीईएमपी) से मिलान किया.

मुख्य बिंदु:

•  यह अध्ययन पत्रिका इनवायरनमेंटल रिसर्च लेटर्स में प्रकाशित हुआ. पिछले 15 साल में दोनों डाटा संग्रह के बीच काफी समानता देखने को मिली.

•  अमेरिका में नासा के गोडार्ड स्पेस फ्लाइट सेंटर के जोएल सुसकिंड ने कहा कि एआईआरएस डेटा ने जीआईएसटीईएमपी के लिए पूरक रहा क्योंकि जीआईएसटीईएमपी की तुलना में इसका दायरा ज्यादा रहा और इसने समूची दुनिया को कवर किया.

•  डेटा के दोनों सेट से पता चला कि धरती की सतह इस अवधि में गर्म हुई और 2016,2017 और 2015 क्रम से सबसे गर्म साल रहा.

•  एआईआरएस डेटा समुद्र, भूमि और बर्फ से ढके क्षेत्र में सतह के तापमान को दर्शाता है.

•  शोध के नतीजों के आधार पर नासा से जुड़े एक अन्‍य वैज्ञानिक ने कहा कि इससे जाहिर होता है कि तापमान में बढ़ोतरी काफी पहले से होती रही है.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें!

नासा के बारे में:


•   नासा संयुक्त राज्य अमेरिका की सरकार की शाखा है जो देश के सार्वजनिक अंतरिक्ष कार्यक्रमों व एरोनॉटिक्स व एरोस्पेस संशोधन के लिए जिम्मेदार है.

•   फ़रवरी 2006 से नासा का लक्ष्य वाक्य "भविष्य में अंतरिक्ष अन्वेषण, वैज्ञानिक खोज और एरोनॉटिक्स संशोधन को बढ़ाना" है.

•   नासा का गठन नैशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस अधिनियम के अंतर्गत 19 जुलाई 1948 में इसके पूर्वाधिकारी संस्था नैशनल एडवाइज़री कमिटी फॉर एरोनॉटिक्स (एनसीए) के स्थान पर किया गया था.

•   इस संस्था ने 01 अक्टूबर 1948 से कार्य करना शुरू किया. तब से आज तक अमेरिकी अंतरिक्ष अन्वेषण के सारे कार्यक्रम नासा द्वारा संचालित किए गए हैं जिनमे अपोलो चन्द्रमा अभियान, स्कायलैब अंतरिक्ष स्टेशन और बाद में अंतरिक्ष शटल शामिल है.

यह भी पढ़ें: शनि के चंद्रमा पर हैं मीथेन की छोटी और गहरी झीलें: नासा

Download our Current Affairs& GK app from Play Store/For Latest Current Affairs & GK, Click here