Search

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 22 जुलाई 2019

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 22 जुलाई 2019 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से-हिमा दास और चंद्रयान-2 आदि शामिल हैं.

Jul 22, 2019 19:08 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 22 जुलाई 2019 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से -हिमा दास और चंद्रयान-2 आदि शामिल हैं.

चंद्रयान-2: लॉन्चिंग देखने हेतु 7500 लोगों ने कराया ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

इस प्रक्षेपण को देखने के लिए कुल 7,500 लोगों ने ऑनलाइन पंजीकरण कराया है. इस प्रक्षेपण को देखने के लिए एक गैलरी बनाई गई है. श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के पास बनी इस गैलरी से लोग लाइव चंद्रयान का प्रक्षेपण देख सकेंगे. इस ऐतिहासिक पल का गवाह बनने हेतु जिन लोगों ने अपना रजिस्ट्रेशन (पंजीकरण) कराया है, उसमें दक्षिण भारत समेत देश के तमाम अन्य हिस्सों के लोग शामिल हैं.

चंद्रयान-2 किसी खगोलीय पिंड पर उतरने वाला इसरो का पहला अभियान है. यह साल 2008 में प्रक्षेपित चंद्रयान-1 की ही अगली भाग है. चंद्रयान-2 दस साल के भीतर भारत का चंद्रमा पर भेजा जाने वाला दूसरा अभियान है. मिशन चंद्रयान-2 भारत का रोबोटिक अंतिरिक्ष खोज की दिशा में देश का पहला कदम है.

Chandrayaan-2: चांद पर पहुंचने में लगेंगे 48 दिन

चंद्रयान-2 को 22 जुलाई 2019 को दोपहर 2.43 बजे देश के सबसे ताकतवर 'बाहुबली रॉकेट GSLV-MK3' से लॉन्च किया गया. चंद्रयान-2 अब चांद के दक्षिणी ध्रुव तक पहुंचने के लिए 48 दिन की यात्रा शुरू हो गई है. लगभग 16.23 मिनट बाद चंद्रयान-2 पृथ्वी से करीब 182 किमी की ऊंचाई पर जीएसएलवी-एमके3 (GSLV-MK3) रॉकेट से अलग होकर पृथ्वी की कक्षा में चक्कर लगाना शुरू कर दिया.

चंद्रयान-2 एक अंतरिक्ष यान है. इसके तीन सबसे महत्वपूर्ण भाग लैंडर, ऑर्बिटर और रोवर हैं. चंद्रयान-2 दस साल के भीतर भारत का चंद्रमा पर भेजा जाने वाला दूसरा अभियान है. भारत ने इससे पहले अक्टूबर 2008 में चंद्रयान-1 चंद्रमा की कक्षा में भेजा था. भारत चंद्रयान-2 की सफलता के साथ ही अमेरिका, रूस और चीन के बाद धरती के इस उपग्रह पर अंतरिक्ष यान उतारने वाला चौथा देश बन जाएगा. 

हिमा दास ने जीता पांचवां स्वर्ण पदक, इन बॉलीवुड सितारों ने दी बधाई

20 जुलाई 2019 को हिमा दास ने एक और स्वर्ण पदक अपने नाम किया है. हिमा दास ने चेकगणराज्य में नोवे मेस्टो नाड मेटुजी ग्रां प्री में महिलाओं की 400 मीटर स्पर्धा में पहला स्थान हासिल किया. हिमा दास ने इसके साथ ही एक महीने के भीतर पांचवां स्वर्ण पदक जीत लिया है. हिमा दास ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक फोटो साझा करते हुए इस महत्वपूर्ण बात की जानकारी दी.

ढिंग एक्सप्रेस के नाम से प्रसिद्ध हिमा दास ने अप्रैल 2019 में एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 400 मीटर की दौड़ से पीठ दर्द के कारण से बाहर हो गई थीं. हिमा दास का इस सीजन का यह व्यक्तिगत स्तर पर बहुत ही अच्छा प्रदर्शन था. विश्व बाल दिवस 2018 उत्सव के अवसर पर हिमा दास भारत की पहली युवा एंबेसडर बनीं थी.

Chandrayaan-2: भारत ने रचा इतिहास, इसरो ने सफलतापूर्वक लाँन्च किया चंद्रयान-2

भारत इससे पहले 15 जुलाई को चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग करने वाला था, लेकिन क्रॉयोजेनिक इंजन में लीकेज के कारण इसे 22 जुलाई तक के लिए रोक दिया गया था. मिशन का सबसे पहला महत्वपूर्ण उद्देश्य चांद की सतह पर सुरक्षित उतरना और फिर सतह पर रोबोट रोवर संचालित करना है.

चंद्रयान-1 की खोजों को आगे बढ़ाने के लिए चंद्रयान-2 को भेजा गया है. चंद्रयान-1 दवारा खोजे गए पानी के अणुओं के साक्ष्यों के बाद आगे चांद की सतह पर, सतह के नीचे और बाहरी वातावरण में पानी के अणुओं के वितरण की सीमा का अध्ययन करने की जरूरत है.

Download our Current Affairs& GK app from Play Store