केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री ने ओडिशा में राजमार्ग परियोजनाओं की शुरूआत की

इन परियोजनाओं से ओडिशा के खनिज संपन्न अंगुल और ढेंकनाल जिलों का राज्य के अन्य भागों से बेहतर संपर्क सुनिश्चित होगा. इन तीनों राजमार्ग परियोजनाओं की कुल लंबाई 132 किलोमीटर है और इन पर 2,345 करोड़ रुपये की लागत आएगी.

Feb 6, 2019 18:42 IST

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने 06 फरवरी 2019 को ओडिशा में तीन राजमार्ग परियोजनाओं की शुरूआत की. इन परियोजनाओं पर 2,345 करोड़ रुपये का निवेश अनुमानित है.

इन परियोजनाओं से ओडिशा के खनिज संपन्न अंगुल और ढेंकनाल जिलों का राज्य के अन्य भागों से बेहतर संपर्क सुनिश्चित होगा. इन तीनों राजमार्ग परियोजनाओं की कुल लंबाई 132 किलोमीटर है और इन पर 2,345 करोड़ रुपये की लागत आएगी.

राजमार्ग परियोजना:

जिन तीन परियोजनाओं के लिए आधारशिला रखी गयी, उसमें 795.18 करोड़ रुपये की लागत से एनएच 200/23 (नया एनएच 53) के तालचेर – कामाख्‍यानगर हिस्‍से की 41.726 किलोमीटर लंबाई को चार लेन बनाना, 761.11 करोड़ रुपये की लागत से एनएच 200 (नया एनएच 53) के कामाख्‍यानगर – डुबुरी हिस्‍से की 51.1 किलोमीटर लंबाई को चार लेन बनाना और 789.23 करोड़ रुपये की लागत से एनएच 200 (नया एनएच 53) के डुबुरी – चांदीखोले हिस्‍से की 39.4 किलोमीटर लंबाई को चार लेन बनाना शामिल हैं.

प्रभाव:

•   परियोजनाओं के तहत यातायात के भीड़-भाड़ में कमी लाने और सड़क का इस्‍तेमाल करने वाले लोगों की सुरक्षा के लिए समुचित संरचना की जाएगी. इनमें तीन बाईपास, एक फ्लाईओवर, 19 वाहन अंडरपास, 9 बड़े और 49 छोटे पुल और 45 किलोमीटर सर्विस रोड शामिल हैं.

   इन परियोजनाओं से यातायात की भीड़-भाड़ में कमी होने और एक स्‍थान से दूसरे स्‍थान तक आने-जाने में कम समय लगने के कारण वाहनों की आवाजाही पर लागत में कमी होगी और प्रदूषण में भी कमी होगी.

•   इनसे इस क्षेत्र में रोजगार के अवसर तैयार करने में मदद मिलेगी और स्‍थानीय लोगों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा.

 

यह भी पढ़ें: डिजिटल सिविलिटी इंडेक्स में भारत 7वें स्थान पर: माइक्रोसॉफ्ट सर्वेक्षण

Loading...