Search

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत को दक्षिण एशिया वन जीवन प्रवर्तन नेटवर्क का औपचारिक सदस्य बनने हेतु मंजूरी दी

यह एक क्षेत्रीय नेटवर्क है जिसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, भारत, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान एवं श्रीलंका शामिल हैं. इससे सदस्य राष्ट्र अपनी सीमा रेखाओं से बाहर भी संचार, समन्वय, सहयोग, क्षमता निर्माण और इस क्षेत्र में सहयोग द्वारा वन्य जीवन की रक्षा कर सकते हैं.

Apr 14, 2016 11:51 IST

सावेन (SAWEN) : दक्षिण एशिया वन जीवन प्रवर्तन नेटवर्क

शब्द सावेन 13 अप्रैल 2016 को चर्चा में था क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल ने भारत को दक्षिण एशिया वन जीवन प्रवर्तन नेटवर्क (सावेन) का औपचारिक सदस्य बनने को मंजूरी दी.

यह एक क्षेत्रीय नेटवर्क है जिसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, भारत, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान एवं श्रीलंका शामिल हैं.

इसका उद्देश्य वन्यजीवन में होने वाले अपराधों को सरकारों द्वारा आपसी तालमेल द्वारा सुलझाना तथा वन्य प्राणियों के अवैध व्यापार का मुकाबला करने के लिए लक्ष्यों और प्रयासों का निर्धारण करना है.


इससे सदस्य राष्ट्र अपनी सीमा रेखाओं से बाहर भी संचार, समन्वय, सहयोग, क्षमता निर्माण और इस क्षेत्र में सहयोग द्वारा वन्य जीवन की रक्षा कर सकते हैं.

Now get latest Current Affairs on mobile, Download # 1  Current Affairs App