Search

वीवीएस लक्ष्मण ने अपनी आत्मकथा ‘281 एंड बियॉन्ड’ लॉन्च की

‘281 एंड बियॉन्ड’ के सह-लेखक आर. कौशिक हैं, वे एक खेल पत्रकार हैं. इस पुस्तक का नाम वीवीएस लक्ष्मण द्वारा 281 रनों की ऐतिहासिक पारी पर रखा गया है.

Nov 19, 2018 09:36 IST

भारत के वरिष्ठ क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने हाल ही में अपनी आत्मकथा ‘281 एंड बियॉन्ड’ को लॉन्च किया. इस पुस्तक को वेस्टलैंड सपोर्ट द्वारा प्रकाशित किया गया है.

‘281 एंड बियॉन्ड’ के सह-लेखक आर. कौशिक हैं, वे एक खेल पत्रकार हैं. इस पुस्तक का नाम वीवीएस लक्ष्मण द्वारा वर्ष 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कलकत्ता के ईडन गार्डन्स में खेली गई 281 रनों की ऐतिहासिक पारी पर रखा गया है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद से ही लक्ष्मण अपनी आत्मकथा लिखना चाहते थे.

पुस्तक लॉन्च के समय लक्ष्मण ने कहा, “मेरी जिंदगी का निर्णायक मोड़ 281 रन की वह पारी थी. किताब में मैंने मैच में खेलने के बारे में बात की है कि मैं मैच के लिए समय पर कैसे फिट हुआ. चौथे दिन राहुल द्रविड़ के साथ मेरी बल्लेबाजी और हमने वह साझेदारी कैसे बनाई तथा और भी कुछ इसमें बयां किया गया है.”

 

पुस्तक से साभार

वीवीएस लक्ष्मण लिखते हैं, ‘मुल्तान में तिहरा शतक जमाने के बाद सहवाग मेरे पास आए और ठहाका लगाकर बोले- मैंने आप से कहा था वीवीएस. मुझे बहुत खुशी हुई कि मेरे 281 रन का रिकॉर्ड किसी ने तोड़ दिया है. भारत ने कई अच्छे बल्लेबाज विश्व को दिए हैं, लेकिन तिहरा शतक नहीं जमाना अजब था. वीरू ने यह रिकॉर्ड बनाया. उसने इस वादे को निभाया. तिहरा शतक जमाने के लिए बहुत तेजी से रन बनाना होते हैं. सहवाग ने घमंड नहीं बल्कि विश्वास से कहा था कि वह तिहरा शतक जमाएंगे और उन्होंने ऐसा करके दिखाया.’



वीवीएस लक्ष्मण के बारे में


•    वीवीएस लक्ष्मण का पूरा नाम वंगीपुरापू वेंकट साईं लक्ष्मण है. उनका जन्म 1 नवम्बर 1974  को हुआ था.

•    वीवीएस ने 1996 में टेस्ट क्रिकेट में दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध अपना डेब्यू किया.

•    उन्होंने अपने टेस्ट क्रिकेट करियर में 134 मैचों में 8,781 रन बनाये.

•    उन्होंने अपने एकदिवसीय करियर में 86 मैचों में 2,338 रन बनाये.

•    उन्हें वर्ष 2011 में भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म श्री से सम्मानित किया गया था.

•    वर्ष 2001 में उन्हें अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया. वर्ष 2002  में उन्हें विजडन क्रिकेटर ऑफ़ द इयर भी चुना गया था.

 

यह भी पढ़ें: वैज्ञानिकों द्वारा 130 वर्ष बाद किलोग्राम की परिभाषा बदले जाने की घोषणा