World Book Day 2021: जानिए क्यों 23 अप्रैल को मनाया जाता है विश्व पुस्तक दिवस

इस दिन को लेकर देशभर के छात्रों और लेखकों में काफी उत्साह रहता है. इस दिन विद्यालयों तथा पुस्तक विक्रेता संघों द्वारा विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाता है. 

Created On: Apr 23, 2021 10:58 ISTModified On: Apr 23, 2021 11:08 IST

हर साल 23 अप्रैल को दुनिया भर में ‘विश्व पुस्तक दिवस’ मनाया जाता है. इस दिन को विश्व पुस्तक और कॉपीराइट डे भी कहा जाता है. विश्व पुस्तक दिवस को किताबें पढ़ने, प्रकाशन और कॉपीराइट के लाभ को पहचानने और बढ़ावा देने हेतु मनाया जाता है.

इस दिन को लेकर देशभर के छात्रों और लेखकों में काफी उत्साह रहता है. इस दिन विद्यालयों तथा पुस्तक विक्रेता संघों द्वारा विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाता है. इस दिन, यूनेस्को और प्रकाशक एक साल के लिए वर्ल्ड बुक कैपिटल का चयन करते हैं.

इस दिवस का उद्देश्य

इस दिवस का उद्देश्य पठन-पाठन, प्रकाशन और कॉपीराइट को बढ़ावा देना है. इस दिवस का मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों के मन में पुस्तक प्रेम को जागृत करना है. विश्व पुस्तक दिवस को दुनिया भर में उन पुस्तकों के दायरे को पहचानने के लिए मनाया जाता है जिन्हें अतीत और भविष्य के बीच की कड़ी के रूप में देखा जाता है.

क्यों मनाया जाता है ये दिवस

हर साल 23 अप्रैल को 'विश्व पुस्तक दिवस' मनाया जाता है. इसे विश्व पुस्तक और कॉपीराइट दिवस (World Book and Copyright Day) कहा जाता है. दुनियाभर में किताबों की अहमियत को दर्शाने के लिए विश्व पुस्तक दिवस मनाया जाता है.

दुनिया में अलग-अलग तरीकों से मनाया जाता है यह दिवस

दुनिया के विभिन्न देशों में वर्ल्ड बुक डे को अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है. कहीं पर मुफ्त में पुस्तकें वितरित की जाती हैं तो कहीं प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है.

पहली बार 'पुस्तक दिवस'

पहली बार 'पुस्तक दिवस' 23 अप्रैल 1995 को मनाया गया था. किताबों का हमारे जीवन में क्या महत्व है, इसके बारे में बताने के लिए 'विश्व पुस्तक दिवस' पर शहर के विभिन्न स्थानों पर सेमिनार आयोजित किये जाते हैं.

यह दिवस विश्‍व भर के लोगों खासकर लेखकों, शिक्षकों, सरकारी व‍ निजि संस्‍थानों, एनजीओ और मीडिया को एक प्‍लैटफॉर्म मुहैया कराता है, ताकि साक्षरता को बढ़ावा दिया जा सके और सभी लोग तक शिक्षा के संसाधनों की पहुंच हो.

पृष्ठभूमि

23 अप्रैल को विश्व साहित्य के लिए प्रतीकात्मक तिथि के रूप में जाना जाता है. ऐसा माना जाता है कि साल 1616 में इसी तारीख को सर्वांतीज, विलियम शेक्सपियर एवं इन्का गर्सिलासो का निधन हुआ था. इसी दिन कुछ अन्य साहित्यकारों का जन्म और कुछ की मृत्यु भी हुई जिनमें मौरिस द्रुओन, हल्दोर लैक्सनेस, व्लादिमीर नबोकोव आदि शामिल हैं.

साल 1995 में यूनेस्को ने पेरिस में आयोजित महासभा में घोषणा की कि इस दिन लेखकों को श्रद्धांजलि के रूप में पुस्तको को महत्व दिया जाना चाहिए. इस दिन इसी उपलक्ष्य में विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस मनाये जाने की शुरुआत की गयी. विश्व पुस्तक तथा कॉपीराइट दिवस 'इन्हेन्स बुक रीडिंग हैबिट्स' के एकमात्र महत्वपूर्ण उद्देश्य से प्रेरित है. इसके माध्यम से इस प्रवृत्ति को विशेषकर बच्चों में प्रोत्साहित करना है.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

2 + 2 =
Post

Comments