Search

विश्व का सबसे ऊँचा रेलवे पुल मणिपुर में निर्माणाधीन

मंत्रालाय द्वारा जारी जानकारी के अनुसार, यह पुल 141 मीटर ऊंचा होगा, जो यूरोप के मोंटेनेग्रो में बने 139 मीटर ऊंचे पुल से भी ऊँचा होगा. अब तक इस पुल के लिए पिलर तैयार किए जा चुके हैं.

Dec 10, 2018 10:50 IST

हाल ही में नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर रेलवे (NFR) द्वारा जारी की गई घोषणा के अनुसार मणिपुर में विश्व का सबसे ऊँचा पुल बनाया जा रहा है. इस पुल के निर्माण कार्य की रफ़्तार बढ़ाने की भी घोषणा की गई. यह पुल मणिपुर की आइरिंग नदी पर बन रहा है.

मंत्रालाय द्वारा जारी जानकारी के अनुसार, यह पुल 141 मीटर ऊंचा होगा, जो यूरोप के मोंटेनेग्रो में बने 139 मीटर ऊंचे पुल से भी ऊँचा होगा. अब तक इस पुल के लिए पिलर तैयार किए जा चुके हैं.

मणिपुर रेलवे पुल की विशेषताएं

•    रेल मंत्रालय ने 40 हजार करोड़ की लागत से रेल परियोजना का कार्य मणिपुर के जीरीबाम में शुरू कर दिया है. इसका निर्माण कार्य 2020 तक पूरा होने की उम्मीद है.

•    यह रेलवे पुल मणिपुर में 111 किलोमीटर लंबे जिरीबाम-तुपुल-इंफाल के बीच बिछाई जा रही नई ब्राड गेज लाइन के तहत बनाया जा रहा है.

•    नई ब्राड गेज लाइन की कुल लंबाई 703 मीटर होगी. साथ ही पुल में कुल 45 सुरंग होंगी.

•    इन 45 सुरगों में से 12 नंबर सुरंग की सबसे लंबी (10.80 किलोमीटर) होगी. कहा जा रहा है कि यह पूर्वोत्तर के राज्यों में सबसे लंबी रेल सुरंग होगी.

•    पुल के लिए लगाए जा रहे लंबे खभों के लिए ‘स्लिप फार्म’ तकनीक अपनाई गई है, वहीं स्टील गर्डर को वर्कशॉप में बनाया जा रहा है, जिसके टुकड़ों को परियोजना स्थल पर ही जोड़ा जा रहा है.

परियोजना का लाभ

परियोजना के पूर्ण होने से बिहार से किशनगंज के रास्ते एनजेपी के समीप से पांच राज्यों मणिपुर, मिजोरम, मेघालय, सिक्किम व नगालैंड तक आवागमन में आसानी हो जाएगी. पुल के बन जाने पर इन इलाकों से होकर रेल के जरिए सामरिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण चीन की सीमा सहित म्यांमार और बांग्लादेश की सीमाओं तक पहुंचने की सुविधा हो जाएगी.


यह भी पढ़ें: जर्मनवॉच ने जलवायु जोखिम सूचकांक-2019 जारी किया