Search

भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया को मिलेगा खेल रत्न पुरस्कार

बजरंग पूनिया अब तक अंतरराष्ट्रीय टूर्नमेंट में आठ स्वर्ण पदक जीत चुके हैं. उन्होंने कॉमनवेल्थ और एशियन गेम्स में भी स्वर्ण पदक अपने नाम किया है. बजरंग पूनिया ने साल 2018 में जकार्ता एशियाई खेलों में 65 किग्रा स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था.

Aug 18, 2019 09:10 IST

भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया को इस साल राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा. बजरंग पूनिया को कुश्ती के क्षेत्र में लगातार अच्छा प्रदर्शन करने के वजह से यह अवॉर्ड दिया जा रहा है. भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) ने बजरंग पूनिया के साथ ही महिला पहलवान विनेश फोगाट को यह अवॉर्ड देने की सिफारिश की थी.

बजरंग पूनिया के नाम पर 12 सदस्यीय चयन समिति ने दो दिन की बैठक के पहले दिन 16 अगस्त 2019 को मुहर लगाई. चयन समिति में पूर्व फुटबॉलर बाईचुंग भूटिया और बॉक्सर मैरीकॉम शामिल हैं. भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) ने साल 2018 में भी बजरंग पूनिया को यह सम्मान देने की सिफारिश की थी, लेकिन तब विराट कोहली और वेटलिफ्टर मीराबाई चानू को यह पुरस्कार दिया गया था.

बजरंग पूनिया के नाम की सिफारिश क्यों?

बजरंग पूनिया अब तक अंतरराष्ट्रीय टूर्नमेंट में आठ स्वर्ण पदक जीत चुके हैं. उन्होंने कॉमनवेल्थ और एशियन गेम्स में भी स्वर्ण पदक अपने नाम किया है. बजरंग पूनिया ने साल 2018 में जकार्ता एशियाई खेलों में 65 किग्रा स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था. उन्होंने गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में भी इसी वजन वर्ग में पहला स्थान हासिल किया था.

विश्वनाथ आनंद को पहला खेल रत्न सम्मान मिला था

पहला खेल रत्न पुरस्कार शतरंज खिलाड़ी विश्वनाथ आनंद को साल 1991-92 में मिला था. साल 1991-92 में ही खेल रत्न सम्मान दिए जाने की शुरुआत हुई थी.

बजरंग खेल रत्न पुरस्कार हासिल करने वाले चौथे पहलवान

बजरंग पूनिया पहलवानी में खेल रत्न पुरस्कार हासिल करने वाले चौथे पहलवान बनेंगे. उनसे यह पुरस्कार पहले सुशील कुमार, योगेश्वर दत्त और साक्षी मलिक को मिल चुका है.

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार भारत में दिया जाने वाला सबसे बड़ा खेल पुरस्कार है. इस पुरस्कार को भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर रखा गया है. इस पुरस्कार मे एक पदक, एक प्रशस्ति पत्र और 7.5 लाख रुपय पुरुस्कृत व्यक्ति को दिये जाते है. भारत सरकार द्वारा सम्मानित व्यक्तियों को रेलवे की मुफ्त पास सुविधा प्रदान की जाती है. प्रत्येक साल खेल पुरस्कार महान हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन पर 29 सितंबर को दिए जाते हैं.

 

बजरंग पूनिया के बारे में:

  बजरंग पूनिया को जन्म 26 फ़रवरी 1994 को हुआ था.

वे एक भारतीय पहलवान हैं. उन्होंने 65 किग्रा वर्ग में विश्‍व चैंपियनशिप में रजत पदक जीता था.

उन्होंने दो बार कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में मेडल जीते है. उन्‍होंने ग्‍लास्‍गो में साल 2014 कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में रजत पदक जीता था.

बजरंग पूनिया को साल 2015 में अर्जुन अवॉर्ड से तथा साल 2019 में  पद्मश्री अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है.

यह भी पढ़ें: रवि शास्त्री फिर बने टीम इंडिया के कोच

करेंट अफेयर्स ऐप से करें कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी |अभी डाउनलोड करें|IOS