Jagran Josh Logo
  1. Home
  2.  |  
  3. पर्यावरण और पारिस्थितिकीय

पर्यावरण और पारिस्थितिकीय

General Knowledge for Competitive Exams

Read: General Knowledge | General Knowledge Lists | Overview of India | Countries of World

भारतीय ग्रीन ई-क्लीयरेंस: संकल्पना, परियोजना और महत्व

Apr 10, 2018
ग्रीन ई-क्लियरेंस औद्योगिक परियोजना के लिए पर्यावरण मंजूरी देने की एकल खिड़की है। भारतीय पर्यावरण और वन मंत्रालय ने 20,000m2 से अधिक निर्माण परियोजनाओं के लिए पर्यावरण मंजूरी प्राप्त करना अनिवार्य कर दिया है। इस लेख में हमने भारतीय ग्रीन ई-क्लीयरेंस की संकल्पना, परियोजना और महत्व के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

किन प्लांट्स की मदद से घर के वायु प्रदूषण को कम किया जा सकता है?

Apr 6, 2018
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कानपुर की एक रिसर्च में सामने आया है कि यदि आपको वायु प्रदूषण की समस्या का ठोस समाधान करना है तो आपके अपने घर में ये 5 पौधे लगाने चाहिए. इन पांच पौधों के नाम हैं; एरिका पाम, मदर इन लॉ टंग प्लांट, गोल्डेन पोथोस, गुलदाउदी और मनी प्लांट.

आधुनिक कृषि और पर्यावरण पर इसका प्रभाव

Apr 4, 2018
कृषि आजीविका का एक महत्वपूर्ण सादन है क्योंकि यह खेती और पशुपालन के माध्यम से उत्पादों जैसे भोजन, खाद्य, फाइबर और कई अन्य वांछित उत्पादों का उत्पादन करने की प्रक्रिया है। इस लेख में हमने आधुनिक कृषि और पर्यावरण पर इसके प्रभाव पर कुछ तथ्य दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

पारंपरिक कृषि और पर्यावरण पर इसके प्रभाव

Mar 30, 2018
संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के अनुसार, विश्व में 250 मिलियन से अधिक आबादी अपनी जीवन निर्वाह के लिए पारंपरिक कृषि पर निर्भर है। कृषि की उत्क्रांति अवधि में, मानव स्थानांतरण कृषि पर निर्भर थे, जो अभी भी उत्तरपूर्व भारत के आदिवासी क्षेत्र में प्रचलित है। इस लेख में हमने पारंपरिक कृषि और पर्यावरण पर इसके प्रभाव को है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

भारत की जैव विविधता पर सारांश

Mar 30, 2018
भारत एक बहुत बडा विविधता वाला देश है जहां दुनिया की लगभग 10% प्रजातियां रहती हैं। लाखों वर्षों तक भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत रही थी। इसीलिए इसे एक वृहद (मेगा) विविधता वाले देश के रूप में जाना जाता है। इस लेख में हमने भारत की जैव विविधता पर सारांश दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

विश्व भर में स्थानांतरण कृषि के स्थानीय नामों की सूची

Mar 30, 2018
स्थानांतरण कृषि एक आदिम प्रकार की कृषि है जिसमें पहले वृक्षों तथा वनस्पतियों को काटकर उन्हें जला दिया जाता है और साफ की गई भूमि को पुराने उपकरणों से जुताई करके बीज बो दिये जाते हैं। जब तक मिट्टी में उर्वरता विद्यमान रहती है इस भूमि पर खेती की जाती है। इसके पश्चात् इस भूमि को छोड़ दिया जाता है जिस पर पुनः पेड़-पौधें उग आते हैं। इस लेख में हमने विश्व भर में स्थानांतरण कृषि के स्थानीय नामों की सूची दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

विश्व जल दिवस की महत्ता और जल के उपयोग से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

Mar 22, 2018
आज पूरी दुनिया औद्योगीकरण की राह पर चल रही है, किंतु स्वच्छ और रोग रहित जल मिल पाना कठिन होता जा रहा हैl विश्व भर में साफ और पीने योग्य जल की अनुपलब्धता के कारण ही जल जनित रोग महामारी का रूप ले रहे हैंl कहीं-कहीं तो यह भी सुनने में आता है कि अगला विश्व युद्ध जल को लेकर ही होगाl विश्व के हर नागरिक को पानी की महत्ता से अवगत कराने के लिए ही संयुक्त राष्ट्र ने "विश्व जल दिवस" मनाने की शुरुआत की थी। इस लेख में हम विश्व जल दिवस की महत्ता और जल के उपयोग से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों का विवरण दे रहे हैंl

भौगोलिक चिन्‍ह या संकेत (जीआई) क्या है और यह ट्रेडमार्क से कैसे अलग है?

Mar 14, 2018
क्या आपने कभी सोचा है क्यों किसी उत्पाद के साथ किसी विशिष्ट क्षेत्र का नाम क्यों लिखा जाता है.. जैसे कि कांचीपुरम की रेशमी साड़ी, अल्फांसो मैंगो, नागपुर ऑरेंज, कोल्हापुरी चप्पल, बीकानेरी भुजिया, आगरा का पेठा, मुजफ्फरपूरी लीची, बंगाली रोसोगुल्ला आदि। इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएँगे क्यों विशिष्ट क्षेत्र का नाम विशिष्ट उत्पाद के साथ लिया जाता है।

बायो टॉयलेट किसे कहते हैं?

Jan 17, 2018
बायो टॉयलेट, परम्परागत टॉयलेट से अलग एक ऐसा टॉयलेट होता है जिसमें बैक्टेरिया की मदद से मानव मल को पानी और गैस में बदल दिया जाता है. इसमें पानी की बहुत ज्यादा बचत होती है और स्टेशन पर बहुत अधिक सफाई रहती है. इस लेख में बायो टॉयलेट का मतलब और उसकी कार्य करने की तकनीकी के बारे में बताया गया है.

वैश्विक तापन/ग्लोबल वार्मिंग के कारण और संभावित परिणाम कौन से हैं?

Jan 15, 2018
वर्तमान में मानवीय गतिविधियों के कारण उत्पन्न ग्रीनहाउस गैसों के प्रभावस्वरूप पृथ्वी के दीर्घकालिक औसत तापमान में हुई वृद्धि को वैश्विक तापन/ग्लोबल वार्मिंग कहा जाता है | समुद्री जलस्तर में वृद्धि, ग्लेशियरों का पिघलना, वर्षा प्रतिरूप का बदलना, प्रवाल भित्तियों व प्लैंकटनों का विनाश आदि वैश्विक तापन के संभावित दुष्प्रभावों में शामिल हैं |

भारत में संरक्षित समुद्री क्षेत्रों की सूची

Jan 9, 2018
संरक्षित समुद्री क्षेत्र, समुन्द्र का वह क्षेत्र होता है जहां शोषणकारी मानव गतिविधियों और हस्तक्षेप सख्ती से राष्ट्रीय उद्यानों, अभयारण्यों और जीवमंडल रिजर्व की तरह नियंत्रित की जाती है। स्थानीय, राज्य, क्षेत्रीय, देशी, क्षेत्रीय, या राष्ट्रीय अधिकारियों द्वारा प्राकृतिक या ऐतिहासिक समुद्री संसाधनों के लिए इन स्थानों को विशेष सुरक्षा दी जाती है। भारत में वर्तमान में पांच समुद्री संरक्षित क्षेत्र हैं। हम यहाँ सामान्य जागरूकता के लिए भारत में समुद्री संरक्षित क्षेत्रों की सूची दे रहे हैं।

हरित बांड बाज़ार से आप क्या समझते हैं और यह भारत के लिए कैसे महत्वपूर्ण है?

Jan 3, 2018
हरित बांड, हरित परियोजनाओ वित्तपोषण के लिए वित्तीय संसाधनों की मदद करने के लिए समकालीन साधन है। इसको बेहतर तरीके से समझने के लिए पहले हमे यह समझना होगा की 'बांड और बांड बाज़ार क्या हैं?'। बांड एक ऋण साधन है जिसके अंतर्गत निवेशको से धन जनित किया जाता है। बांड की परिपक्वता के पश्चात् धन को वापस कर दिया जाता है। बांड बाजार एक वित्तीय बाजार है जिसमें प्रतिभागियों को ऋण प्रतिभूतियों के जारी करने और व्यापार के साथ प्रदान किया जाता है। इस लेख में हम हरित बांड बाज़ार से आप क्या समझते हैं और यह भारत के लिए कैसे महत्वपूर्ण है जैसे तथ्यों का विवरण दे रहे हैं।

जैव-विविधता के विभिन्न स्तर

Dec 22, 2017
जैव-विविधता शब्द का प्रथम प्रयोग 1985 में डब्ल्यू. जी. रोजेन ने किया था. हालांकि इस शब्द का संकल्पनात्मक प्रयोग वैज्ञानिक विल्सन द्वारा 1986 में अमेरिकी जैव-विविधता फोरम में किया गया था. इस लेख में हम जैव-विविधता के विभिन्न स्तरों का विवरण दे रहे हैं.

भारत की प्रमुख वन्यजीव संरक्षण परियोजनाएं

Dec 21, 2017
भारत विश्व के प्रमुख जैव विविधता वाले देशों में से एक है, जहां पूरी दुनिया में पाए जाने वाले स्तनधारियों का 7.6%, पक्षियों का 12.6%, सरीसृप का 6.2% और फूलों की प्रजातियों का 6.0% निवास करती हैं. इन जीवों के संरक्षण के लिए भारत में 120 से अधिक राष्ट्रीय उद्यान, 515 वन्यजीव अभयारण्य, 26 आद्र्भूमि (wetlands) और 18 बायोस्फीयर रिजर्व बनाए गए हैं. इसके अलावा भारत सरकार द्वारा वन्यजीवों के संरक्षण के लिए कई परियोजनाएं चलाई जा रही हैं. इस लेख में हम भारत सरकार द्वारा वन्यजीवों के संरक्षण के लिए चलाई जा रही प्रमुख परियोजनाओं का विवरण दे रहे हैं.

14 दिसम्बर: राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस

Dec 13, 2017
विश्व की बढ़ती जनसंख्या के साथ ऊर्जा की आवश्यकताएँ भी बढ़ती ही जा रही हैं। परंतु जिस गति से ऊर्जा की आवश्यकता बढ़ रही है उसे देखते हुए ऊर्जा के समस्त संसाधनों के नष्ट होने की आशंका बढ़ने लगी है। अत: यह आवश्यक है कि हम ऊर्जा संरक्षण की ओर विशेष ध्यान दें अथवा इसके प्रतिस्थापन हेतु अन्य संसाधनों को विकसित करें क्योंकि यदि समय रहते हम अपने प्रयासों में सफल नहीं होते तो संपूर्ण मानव सभ्यता ही खतरे में पड़ सकती है|

जानें LED बल्बों का अधिक इस्तेमाल हमारे लिए खतरनाक क्यों है

Dec 11, 2017
पिछले कुछ वर्षों में उर्जा संरक्षण के प्रतीक बन चुके LED बल्बों की लोकप्रियता काफी बढ़ गई है. लेकिन क्या आपको पता है कि LED बल्बों का अधिक इस्तेमाल हमारे लिए खतरनाक है? इस लेख में हम उन विभिन्न पहलुओं का विस्तृत विवरण दे रहे हैं, जिसके आधार पर यह कहा जा सकता है कि LED बल्बों का अधिक इस्तेमाल हमारे लिए खतरनाक क्यों है?

कृत्रिम वर्षा क्या होती है और कैसे करायी जाती है?

Nov 16, 2017
भारत में कई बार पर्याप्त वर्षा ना होने के कारण फसलें अक्सर चौपट हो जाती है इसलिए यहाँ के किसान कर्ज के तले दबे हुए हैं. वैज्ञानिकों ने बारिश की अनिश्चिता या कम बारिश की समस्या से निपटने के लिए कृत्रिम वर्षा का उपाय खोजा है. कृत्रिम वर्षा कराने के लिए कृत्रिम बादल बनाये जाते हैं जिन पर सिल्वर आयोडाइड और सूखी बर्फ़ जैसे ठंठा करने वाले रसायनों का प्रयोग किया जाता है जिससे कृत्रिम वर्षा होती है.

दुनिया भर में वन्य जीवों के क्षेत्रीय वितरण की सूची

Nov 15, 2017
जानवरों का वितरण पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी के साथ-साथ जू-जिगोग्राफी में अध्ययन का एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है, जो पशुओं की विभिन्न प्रजातियों की विशेषताओं, वर्गीकरण, स्थानिक वितरण, संघ और प्रवास से संबंधित है। जंगली जानवरों का क्षेत्रीय वितरण जंगली जानवर और विद्यमान पर्यावरणीय परिस्थितियों के बीच घनिष्ठ संबंध हैं।

दुनिया भर में फैले विश्व स्तरीय महत्वपूर्ण कृषि विरासत प्रणाली की सूची

Nov 15, 2017
विश्व स्तरीय महत्वपूर्ण कृषि विरासत प्रणाली (GIAHS) कृषि जैव विविधता और संबंधित वन्य जीवन में समृद्ध है और स्वदेशी ज्ञान एवं संस्कृति का महत्वपूर्ण संसाधन है। यहां, हम सामान्य जागरूकता के लिए दुनिया भर में फैले विश्व स्तरीय महत्वपूर्ण कृषि विरासत प्रणाली की सूची दे रहे हैं।

भारत में विश्व स्तरीय महत्वपूर्ण कृषि विरासत प्रणाली (GIAHS) स्थलों की सूची

Nov 15, 2017
खाद्य एवं कृषि संगठन (FAO) ने विश्व स्तरीय महत्वपूर्ण कृषि विरासत प्रणाली स्थलों के प्रति सार्वजनिक जागरूकता पैदा करने और सुरक्षा के उद्देश्य से वैश्विक कृषि विरासत प्रणाली (GIAHS) की शुरुआत की थी। भारत में कृषि विरासत प्रणाली (GIAHS) शहरों के रूप में ओडिशा राज्य में स्थित कोरापुट, कश्मीर घाटी में स्थित पंपोर क्षेत्र और कुट्टानड़ को मान्यता दी गई है. यहां, हम सामान्य जागरूकता के लिए भारत में स्थित वैश्विक कृषि विरासत प्रणाली (GIAHS) की सूची और क्यों इन क्षेत्रों को FAO द्वारा चुना गया है, उसका विवरण दे रहे हैं।

Latest Videos

Register to get FREE updates

    All Fields Mandatory
  • (Ex:9123456789)
  • Please Select Your Interest
  • Please specify

  • ajax-loader
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

Newsletter Signup
Follow us on
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK