1. Home
  2.  |  
  3. GENERAL KNOWLEDGE
  4.  |  
  5. भूगोल
  6.  |  
  7. भारत का भूगोल

भारत का भूगोल

General Knowledge for Competitive Exams

Read: General Knowledge | General Knowledge Lists | Overview of India | Countries of World

उत्तर भारत में बारिश क्यों हो रही है और इस सप्ताह मौसम के पूर्वानुमान के बारे में जानते हैं

Jan 6, 2021
जैसा की हम जानते हैं कि उत्तर भारत में आजकल बारिश हो रही हैं इसके पीछे क्या कारण है और साथ ही इस सप्ताह मौसम के पूर्वानुमान के बारे में भी अध्ययन करते हैं.

जानें जम्मू-कश्मीर में बनने वाले दुनिया के सबसे ऊँचे रेल ब्रिज के बारे में

Mar 16, 2021
दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे पुल जम्मू और कश्मीर में बनाया जा रहा है. यह लगभग 1.3 किमी लंबा पुल है जो चिनाब नदी पर बनाया जा रहा है. आइये इस लेख के माध्यम से इस पुल के बारे में विस्तार से अध्ययन करते हैं.

भारत में पहली बार हींग की खेती की शुरुआत कहां की गई है?

Nov 11, 2020
पहली बार भारत में हींग (Asafoetida) की खेती की शुरूआत की गई है. क्या आप जानते हैं कि भारत में हींग की खेती कहां की जा रही है. आइये इस लेख के माध्यम से इसके बारे में और हींग के बारे में अध्ययन करते हैं.

1947 से अब तक भारत के मानचित्र में क्या-क्या बदलाव हुए

Sep 14, 2020
जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को केंद्र शासित राज्य घोषित करने के साथ ही अब भारत में 28 राज्य और 9 केंद्र शासित राज्य हैं। प्रत्येक राज्य के विभाजन या संयुक्तता के साथ ही भारत के मानचित्र में भी परिवर्तन आता है। आइये देखते हैं 1947 से 2020 तक भारत के मानचित्र में क्या क्या परिवर्तन आए हैं।

चंबल एक्सप्रेस-वे: महत्व, लाभ और मुख्य तथ्य

Jul 16, 2020
चंबल एक्सप्रेस-वे राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के दूर-दराज के इलाकों में रहने वाले गरीबों और आदिवासियों के लिए एक गेम-चेंजर हो सकता है. आइए विस्तार से चंबल एक्सप्रेस-वे, इसका महत्व, लाभ, परियोजना की लागत, इत्यादि के बारे में अध्ययन करते हैं.

लोनार झील कहाँ है और कैसे निर्मित हुई थी?

Jun 12, 2020
महाराष्ट्र के बुलढाणा जिला में लोनर झील स्थित है.यह झील अधिसूचित राष्ट्रीय भौगोलिक धरोहर स्मारक है. लोनार झील मुंबई से 500 किमी दूर बुलढाणा जिले में है. वर्तमान में इस झील का पानी गुलाबी हो जाने के कारण यह झील काफी चर्चा में है. आइये इस लेख में लोनर झील के बारे में और इसके पानी का रंग बदलने के कारणों के बारे में चर्चा करते हैं.

भारत-नेपाल लिपुलेख दर्रा विवाद क्या है?

Jun 10, 2020
India-Nepal Lipulekh Pass dispute: नेपाल ने अपना नया नक्सा बनाया है जिसमें भारत के तीन क्षेत्र कालापानी, लिपुलेख और लिम्पियाधुरा को शामिल किया गया है. अब नेपाल सरकार इस नक्से को मान्यता देने के लिए संसद में संविधान संशोधन बिल को पास करने की तैयारी में है. आइये इस लेख में इस पूरे विवाद को जानते हैं.

कश्मीरी केसर को GI टैग दिया गया: जानिये भौगोलिक संकेत (GI) टैग क्या होता है?

भौगोलिक संकेत एक नाम या निशान होता है जो किसी निश्चित क्षेत्र विशेष के उत्पाद, कृषि, प्राकृतिक और निर्मित उत्पाद (मिठाई, हस्तशिल्प और औद्योगिक सामान) को दिया जाता है.कश्मीरी केसर को भौगोलिक संकेत (GI) टैग दिया गया है. अब कश्मीरी केसर को बाजार में अलग पहचान मिल सकेगी.

जानें भारत के राष्ट्रीय राजमार्गों का नामकरण कैसे होता है?

Apr 9, 2019
देश में राष्ट्रीय राजमार्गों का नाम रखने के लिए सभी उत्तर-दक्षिण दिशा वाले राजमार्गों के लिए सम संख्या का प्रयोग किया जाता है. इसका निर्धारण पूर्व से पश्चिम की ओर बढ़ते हुए क्रम में किया जाता है. दूसरे शब्दों में उच्च देशान्तर के लिए छोटी संख्या और निम्न देशान्तर के लिए बड़ी संख्या का प्रयोग किया जाता है. इस लेख में हम आपको यह बता रहे हैं कि राष्ट्रीय राजमार्गों का नामकरण कैसे किया जाता है.

पूर्वोत्तर भारतीय राज्यों में सीमा विवाद

Apr 9, 2019
सीमावर्ती क्षेत्रों की अपनी समस्याएं और ख़ासियतें हैं। अधिकतर आबादी के अवैध घुसपैठ के कारण उनके आर्थिक और पर्यावरणीय संसाधनों पर दबाव रहता है। इसके अलावा, लचर व्यवस्था के कारण सीमा पार से नशीली दवाओं के तस्करों सहित अपराधियों के लिए सीमा पार अवैध रूप से आने जाने को सक्षम बनाती है। इस लेख में हमने बताया है की पूर्वोत्तर भारत में कौन से ऐसे राज्य हैं जो सीमा विवाद से घीरे हुए हैं तथा क्यों सांस्कृतिक और जातीय विविधता होने के बावजूद संघर्ष का कारण नहीं है।

सिंधु जल संधि (आईडब्ल्यूटी): जल बंटवारे से संबंधित समझौता

Feb 22, 2019
सिंधु जल संधि सिंधु एवं इसके सहायक नदियों के जल के अधिकतम उपयोग के लिए भारत सरकार और पाकिस्तान सरकार के बीच की गई संधि है। 19 सितंबर, 1960 को कराची (पाकिस्तान) में पुनर्निर्माण और विकास के लिए अंतरराष्ट्रीय बैंक (International Bank for Reconstruction and Development) (अब विश्व बैंक) की मध्यस्थता में इस संधि पर हस्ताक्षर किए गए थे।

वेस्टर्न डिस्टर्बन्स क्या है और भारतीय उपमहाद्वीप जलवायु पर इसका क्या प्रभाव है?

Feb 22, 2019
वायु विभिन्न गैसों का मिश्रण है और परिणामस्वरूप, वायुमंडलीय दबाव ऊंचाई के साथ काफी भिन्न होता है। यह दबाव विश्व के प्रत्येक हिस्से में समान रूप से वितरित नहीं है और न ही यह किसी भी क्षेत्र के लिए हर समय समान होता है। वायुमंडलीय दबाव ऊंचाई, तापमान और पृथ्वी के घूर्णन से प्रभावित होता है। इस लेख में हमने वेस्टर्न डिस्टर्बन्स और भारतीय उपमहाद्वीप जलवायु पर इसके प्रभाव के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

तटीय क्षेत्र प्रबंधन के उद्देश्य और लक्ष्य क्या हैं?

Feb 22, 2019
तटीय क्षेत्र ऐसे उच्च जल चिह्न तक प्रादेशिक जल की सीमा को परिभाषित करता है जो मुख्य भूमि, द्वीपों और समुद्र के संकीर्ण क्षेत्र से तटीय डोमेन की बाहरी सीमा बनाती हैं। इस लेख में हमने तटीय क्षेत्र प्रबंधन (सीजेडएम) के उद्देश्य, लक्ष्य और चुनौती पर चर्चा किया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

भारत के कागज उद्योग का भौगोलिक वितरण

Feb 22, 2019
भारत में कागज उद्योग कृषि आधारित है और वैश्विक स्तर पर भारत के कागज उद्योग को विश्व के 15 सर्वोच्च पेपर उद्योगों में स्थान है। भारत सरकार ने कागज उद्योग को "कोर इंडस्ट्री" के रूप में परिभाषित करती है। कागज उद्योग, कच्चे माल के रूप में लकड़ी का उपयोग करते हुए लुगदी, कागज, गत्ते एवं अन्य सेलुलोज-आधारित उत्पाद निर्मित करता है। इस लेख में हमने भारत के कागज उद्योग के भौगोलिक वितरण के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

पोलर वोर्टेक्स क्या है और भारतीय जलवायु पर इसका क्या प्रभाव है?

Feb 22, 2019
पृथ्वी के भुगौलिक इतिहास को देखे तो पृथ्वी के जलवायु में काफी परिवर्तन आया है और ऐसा क्यों न हो पिछले 650,000 वर्षों में हिमनदों के बढ़ने और पीछे हटने के सात चक्रों से गुजर चुकी है। अंतिम शीत युग (ice age) का अंत लगभग 7,000 वर्ष पहले माना जाता है तथा इसे ही वर्तमान जलवायु और मानव सभ्यता की शुरुआत माना जाता है। इस लेख में हमने बताया है की ध्रुवीय भंवर या पोलर वोर्टेक्स कैसे वैश्विक मौसम प्रणाली के साथ-साथ भारतीय जलवायु पर प्रभाव डालता है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।
Jagran Play
रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें एक लाख रुपए तक कैश
ludo_expresssnakes_laddergolden_goalquiz_master

Register to get FREE updates

  • All Fields Mandatory
  • (Ex:9123456789)
  • Please Select Your Interest
  • Please specify

  • ajax-loader
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

Get App