1. Home
  2.  |  
  3. भारत दर्शन

भारत दर्शन

General Knowledge for Competitive Exams

Read: General Knowledge | General Knowledge Lists | Overview of India | Countries of World

जानें पोर्टेबल पेट्रोल पंप क्या हैं और इनकी क्या विशेषताएं हैं?

Sep 11, 2018
भारत में पोर्टेबल पेट्रोल पंप की धारणा नई है लेकिन विदेशों में यह कांसेप्ट पुराना हो चुका है. भारत में ये पोर्टेबल पेट्रोल पम्प एलिंज पोर्टेबल पेट्रोल पंप नाम की कंपनी लगाएगी. पोर्टेबल पेट्रोल पम्प लगाने के लिए आपको 400 स्क्वॉयर मीटर की जमीन ही काफी है. इसका सेट अप लगाने के लिए आपके पास 90 लाख से 1.20 करोड़ रुपये होने चाहिए हालाँकि बैंक से 80% तक लोन मिल जायेगा.

भारत के 7 प्रधानमंत्री और उनकी अद्भुत कारें

Sep 7, 2018
प्रधानमंत्री देश का प्रतिनिधि और भारत सरकार का मुख्य कार्यकारी अधिकारी होता है। प्रधानमंत्री वाजपेयी ने प्रधानमंत्री के काफिले से एम्बेसडर कार "सेडान" को हटाकर आलीशान बीएमडब्ल्यू 7 सीरीज की बुलेट प्रूफ लक्जरी सैलून को शामिल किया| तब से भारत के सभी प्रधानमंत्री बीएमडब्ल्यू सीरीज के वाहन से ही यात्रा करते हैं| आइए प्रधानमंत्रियों की कारों के बारे मे और जानकारी प्राप्त करते हैं|

जानें भारत की नयी “ड्रोन पॉलिसी” और ड्रोन उड़ाने के क्या नियम हैं?

Sep 6, 2018
भारतीय विमानन मंत्रलाय ने 27 अगस्त 2018 को ड्रोन पॉलिसी जारी की है. इस नीति में सरकार ने “लाइन ऑफ साइट” ड्रोन को मंजूरी दी है. ड्रोन तकनीकी के वाणिज्यिक उपयोग की मंजूरी 1 दिसम्बर 2018 से दी जाएगी. सरकार ने ड्रोन्स को कुल पांच कैटिगरी में बांटा है. सबसे भारी श्रेणी में 150 किलोग्राम तक वजन ले जाया सकेगा जबकि सबसे छोटी श्रेणी में 250 ग्राम तक वजन ले जाया सकेगा.

उत्तर प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानियों की सूची

Sep 5, 2018
उत्तर प्रदेश का भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में राज्य के लोगों का योगदान महत्वपूर्ण रहा है। इस राज्य ने भारत को पहला प्रधानमंत्री, पहली महिला प्रधानमंत्री दिए हैं। इस लेख में हमने उत्तर प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानियों की सूची दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

भारतीय सशस्त्र सेनाओं के समकक्ष रैंक की सूची

Sep 5, 2018
भारतीय सशस्‍त्र सेनाएँ बाहरी और आंतरिक खतरों से राष्ट्र की सुरक्षा की चुनौती से निपटने में निरंतर संलग्न रहती है। भारतीय शस्‍त्र सेनाओं की सर्वोच्‍च कमान भारत के राष्‍ट्रपति के पास है। इस लेख में हमने भारतीय सशस्त्र सेनाओं के समकक्ष रैंक की सूची दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

S-400 एयर मिसाइल सिस्टम क्या है और भारत के लिए क्यों जरूरी है?

Sep 3, 2018
S-400 वर्तमान में दुनिया की सबसे उन्नत वायु रक्षा मिसाइल प्रणाली है जो कि एक साथ कई हमला करने वाली वस्तुओं जैसे सभी प्रकार के विमान, मिसाइल और ड्रोन को 400 किमी की रेंज तक पता लगाकर खत्म कर सकती है. भारत ने रूस से यह तकनीकी खरीदने के लिए 36 हजार करोड़ रुपये का समझौता किया है.

भारत को सोने की चिड़िया क्यों कहा जाता था?

Aug 31, 2018
प्राचीन काल में भारत को सोने की चिड़िया इस लिए कहा जाता था क्योंकि भारत में अकूत धन सम्पदा मौजूद थी. 1600 ईस्वी के आस-पास भारत की प्रति व्यक्ति जीडीपी 1305 अमेरिकी डॉलर थी जो कि उस समय अमेरिका, जापान, चीन और ब्रिटेन से भी अधिक थी. भारत की यह अकूत संपत्ति ही विदेशी आक्रमणों का कारण भी बनी थी.

जानिये पैलेट गन क्या होती है और कितनी खतरनाक होती है?

Aug 31, 2018
पैलेट गन पंप करने वाली बंदूक है जिसमें कई तरह के कारतूस इस्तेमाल होते हैं. कारतूस 4 से 12 के रेंज में होते हैं, 4 को सबसे तेज़ और ख़तरनाक माना जाता है. इसके एक बार फायर होने से सैकड़ों छर्रे निकलते हैं जो रबर और प्लास्टिक के होते बने होते हैं. ये छर्रे काफी बड़ा क्षेत्र कवर करते हैं और जिस अंग पर लगते हैं वहां के टिश्‍यूज को पूरी तरह से खत्‍म कर देता है.

भारत के सभी राष्ट्रपतियों की सूची, कार्यकाल एवं उनका राजनीतिक सफर

Aug 30, 2018
राष्ट्रपति को भारत में प्रथम नागरिक माना जाता है. यह देश का सर्वोच्च संवैधानिक पद है. निर्वाचक मंडल भारत के राष्ट्रपति का चुनाव करता है. राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बिना भारत में कोई भी कानून लागू नहीं हो सकता है और इनका कार्यकाल 5 वर्ष का होता है. इस लेख के माध्यम से अब तक जितने राष्ट्रपति चुने गए है उनकी सूची दी जा रही है और साथ ही उनसे जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों का विवरण दिया जा रहा है.

आईबी और रॉ में क्या अंतर हैं?

Aug 29, 2018
खुफिया ब्यूरो (आईबी) की स्थापना 23 दिसंबर, 1887 को लंदन में भारत के विदेश सचिव द्वारा "केंद्रीय विशेष शाखा" के रूप में की गई थी. वर्ष 1920 में इसका नाम बदलकर “इंटेलिजेंस ब्यूरो” रखा गया था. रॉ की स्थापना 1968 में देश के बाहर ख़ुफ़िया काम करने के लिए की गयी थी. इस प्रकार “इंटेलिजेंस ब्यूरो” का काम देश के भीतर ख़ुफ़िया ऑपरेशनों को अंजाम देना तो “रॉ” का काम देश के बाहर ख़ुफ़िया काम करना है. यह आलेख इन दोनों एजेंसियों के बीच महत्वपूर्ण अंतर बता रहा है.

भारत में महिला सशक्तिकरण से संबंधित कानून

Aug 24, 2018
वर्तमान दौर महिला सशक्तिकरण का दौर है आज महिलाएं आँगन से लेकर अंतरिक्ष तक पहुँच गयी हैं लेकिन फिर भी कुछ क्षेत्रों में महिलाओं की हालत दयनीय बनी हुई है| इसलिए महिलाओं को समाज में और भी सशक्त बनाने के लिए सरकार ने न्यूनतम मजदूरी अधिनियम, हिंदू विवाह अधिनियम (1955) और दहेज निषेध अधिनियम (1961) जैसे कानून बनाये हैं |

जनगणना 2011: उत्तर प्रदेश का जनसांख्यिकीय डेटा

Aug 24, 2018
जनगणना 2011 में दिए गए आंकड़ों के मुताबिक; उत्तर प्रदेश की कुल आबादी 20 करोड़ से अधिक हो गई है जो कि 2001 की जनगणना में 16.62 करोड़ थी. अब उत्तर प्रदेश की जनसँख्या देश की कुल आबादी का 16.50% हो गयी है. इस लेख में उत्तर प्रदेश की जनसांख्यिकी पर जनगणना 2011 के आधार पर महत्वपूर्ण डेटा प्रकाशित किया जा रहा है.

क्या आप जानते हैं साड़ी की उत्पत्ति भारत में नहीं हुयी है?

Aug 21, 2018
किसी भी देश की पहचान उसकी भौगोलिक स्थिति, जनसंख्या, राजनीतिक व्यवस्था, नृजातीयता (Ethnicity) एवं सांस्कृतिक परिवेश से होती है। इन सभी पहचान के तत्वों के साथ साथ भारत अपनी सांस्कृतिक पहचान के लिए विशेष रूप से विश्वपटल पर जाना जाता है। इस लेख में ऐतिहासिक तथ्यों के माध्यम से इस सत्य सी प्रतीत मान्यता पर पड़ी परतों को हटाकर आप तक साड़ी की वास्तिविक उत्पत्ति कहाँ हुई इसकी जानकारी देने का प्रयास किया हैं।

जानिये भारत के अब तक के सबसे अमीर आदमी ‘उस्मान अली खान’ के बारे में

Aug 20, 2018
यह लेख भारत ही नहीं बल्कि विश्व के सबसे अमीर आदमियों में गिने जाने वाले व्यक्ति हैदराबाद के पूर्व निजाम उस्मान अली खान के बारे में है. इसमें बताया गया है कि निजाम के पास उस समय कितनी संपत्ति थी और उसकी लाइफ स्टाइल कैसी थी.

उत्तर प्रदेश से गुजरने वाले प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्गों की सूची

Aug 17, 2018
केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के अनुसार उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय राजमार्गों की कुल लम्बाई 8483 किमी. है. इस प्रकार यह प्रदेश पूरे देश में राष्ट्रीय राजमार्गों की कुल लम्बाई के मामले में पहले नम्बर पर है और राजस्थान दूसरे नम्बर पर है. उत्तर प्रदेश से होकर गुजरने वाला सबसे लम्बा राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 2 है जो दिल्ली को कोलकाता से जोड़ता है.

उत्तर प्रदेश की प्रमुख नहरों और बांधों की सूची

Aug 14, 2018
नहरों के वितरण एवं विस्तार की दृष्टि से उत्तर प्रदेश का अग्रणीय स्थान है। यहाँ की कुल सिंचित भूमि का लगभग 30 प्रतिशत भाग नहरों के द्वारा सिंचित होता है। यहाँ की नहरें भारत की प्राचीनतम नहरों में से एक हैं। इस लेख में हमने उत्तर प्रदेश की प्रमुख नहरों और बांधों की सूची दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

सेल्यूलर जेल या काला पानी की सजा इतनी खतरनाक क्यों थी?

Aug 14, 2018
सेल्यूलर जेल अंडमान निकोबार द्वीप की राजधानी पोर्ट ब्लेयर में बनी हुई है. जो कैदी सजा पाकर इस जेल में पहुँचता था उसे ही काला पानी की सजा कहा जाता था. इस जेल के निर्माण का ख्याल अंग्रेजों के दिमाग में 1857 के विद्रोह के बाद आया था. कुल ‘696 सेल’ वाली इस जेल का निर्माण कार्य 1896 में शुरू हुआ था और 1906 में बनकर तैयार हो गई थी.

जानें भारत ने सियाचिन ग्लेशियर पर कैसे कब्ज़ा किया था?

Aug 14, 2018
सियाचिन ग्लेशियर को पूरी दुनिया में सबसे अधिक ऊंचाई पर स्थित युद्ध स्थल के रूप में जाना जाता है. सियाचिन ग्लेशियर; पूर्वी कराकोरम/हिमालय, में स्थित है. समुद्र तल से इसकी औसत ऊँचाई लगभग 17770 फीट है. सियाचिन ग्लेशियर का क्षेत्रफल लगभग 78 किमी है. भारत ने इस क्षेत्र पर कब्जे के लिए लेफ्टिनेंट जनरल प्रेम नाथ हून के नेतृत्व में “ऑपरेशन मेघदूत” चलाया था.

जानें पहली बार अंग्रेज कब और क्यों भारत आये थे

Aug 13, 2018
20 मई, 1498 को भारत के कालीकट बंदरगाह पर वास्को डी गामा (Vasco Da Gama) के आगमन के साथ ही यूरोप और पूर्वी देशों के बीच समुद्री मार्ग खुल गया था। इसी के साथ भारत यूरोपीय देशों के लिए सबसे प्रमुख व्यापारिक केंद्र बन गया और यूरोपीय देशों में यहां के मसालों के व्यापार पर एकाधिकार स्थापित करने की महत्वाकांक्षा बढ़ती चली गई, जिसके परिणामस्वरूप कई नौसैनिक युद्ध भी हुए थे। यहां हम भारतीय इतिहास से जुड़े उन तथ्यों का विवरण दे रहे हैं, जिससे आपको पता चलेगा कि पहली बार अंग्रेज कब और क्यों, भारतीय सरजमीं पर उतरे थे।

आजादी के समय किन रियासतों ने भारत में शामिल होने से मना कर दिया था और क्यों?

Aug 13, 2018
आजादी के दौरान भारत 565 देशी रियासतो में बंटा था. ये देशी रियासतें स्वतंत्र शासन में यकीन रखती थी जो सशक्त भारत के निर्माण में सबसे बडी़ बाधा थी. हैदराबाद, जूनागढ, भोपाल और कश्मीर को छोडक़र 562 रियासतों ने स्वेज्छा से भारतीय परिसंघ में शामिल होने की स्वीकृति दी थी. वर्ष 1947 'भारत' के अन्तर्गत तीन तरह के क्षेत्र थे- (1) 'ब्रिटिश भारत के क्षेत्र' , (2) 'देसी राज्य' (Princely states) और फ्रांस और पुर्तगाल के औपनिवेशिक क्षेत्र.

Latest Videos

Register to get FREE updates

    All Fields Mandatory
  • (Ex:9123456789)
  • Please Select Your Interest
  • Please specify

  • ajax-loader
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK