1. Home
  2.  |  
  3. GENERAL KNOWLEDGE
  4.  |  
  5. सामान्य ज्ञान तथ्य
  6.  |  
  7. पौराणिक तथ्य

पौराणिक तथ्य

General Knowledge for Competitive Exams

Read: General Knowledge | General Knowledge Lists | Overview of India | Countries of World

भारत के 5 ऐसे मंदिर जहां राक्षस पूजे जाते हैं

Jun 30, 2017
भारत में अनेकों सभ्यताएं पाई जाती हैं एवं अलग-अलग धर्म के लोग रहते हैं. इस कारण से भारत में विभिन्न देवताओं के मंदिर पाए जाते है. परन्तु आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि भारत के कुछ सम्प्रदाय के लोगों द्वारा भगवान की ही नहीं बल्कि राक्षसों की भी पूजा की जाती है. इस लेख में उन 5 मंदिर के बारें में जिक्र कर रहे है जहाँ देवताओं की नहीं बल्कि राक्षसों की पूजा होती हैं.

कैलाश मानसरोवर यात्रा:अनुमानित खर्च एवं अनिवार्य शर्तें क्या हैं?

Jun 28, 2017
कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए दो भिन्न मार्ग हैं जिसमे एक लिपुलेख दर्रा (उत्तराखंड) है जिसके रास्ते यात्रा करने पर लगभग 24 दिन लगते हैं और यात्रा का प्रति व्यक्ति अनुमानित खर्च 1.6 लाख रुपये आता है. इसके अलावा दूसरा रास्ता नाथुला दर्रा (सिक्किम) के होकर गुजरता है जिसके माध्यम से यात्रा पूरी होने में 21 दिन लगते हैं और प्रति व्यक्ति अनुमानित खर्च 2 लाख रुपये आता है.

सीधा पढ़ें तो रामकथा और उल्टा पढ़ें तो कृष्णकथा: राघवयादवीयम्

Jun 12, 2017
राघवयादवीयम् ऐसा एक अद्भुत ग्रंथ हैं जिसे ‘अनुलोम-विलोम काव्य’ भी कहते हैं. इसके 30 श्लोकों को सीधा पढ़े तो रामकथा यानी रामायण की व्याख्या होती हैं और उन्हीं 30 श्लोकों को उल्टा पढ़ने पर कृष्णकथा यानी  भागवत का वर्णन होता हैं. इस लेख में ऐसे अद्भुत ग्रंथ के बारे में अध्ययन करेंगें.

जानें समुद्र मंथन से प्राप्त चौदह रत्न कौन से थे

Apr 10, 2017
हिन्दू धर्म से संबंधित लगभग सभी लोग समुद्र मंथन की कथा को जानते हैं। यह कथा समुद्र से निकले अमृत के प्याले से जुड़ी है जिसे पीने के लिए देवताओं और असुरों में विवाद उत्पन्न हो गया था। जिसके बाद भगवान विष्णु ने मोहिनी नामक स्त्री का रूप धारण कर देवताओं को अमृतपान करवाया थाl लेकिन क्या आपको पता है कि समुद्र मंथन के दौरान अमृत के अलावा 13 अन्य वस्तुएं भी प्रकट हुई थी? इस लेख में हम समुद्र मंथन की कथा और उससे निकले 14 रत्नों का विवरण दे रहे हैंl

हिन्दू रामायण और जैन रामायण में क्या अंतर है

Mar 9, 2017
हिंदू धर्म के जैसे ही जैन धर्म भी स्वयं को सनातन धर्म मानता है l महर्षि वाल्मीकि द्वारा लिखी गई रामायण ने हिन्दू धर्म को श्रीराम, सीता, लक्ष्मण जैसे महान रूप प्रदान किए हैं और प्रत्येक अध्याय की बहुत सुंदर रचना की है लेकिन भारत में विभिन्न राज्यों में रामायण युग को लेकर तरह-तरह की लोक कथाएं प्रचलित हैं। जिनमें कुछ अलग–अलग तथ्यों का वर्णन हैं l आइए जैन और हिन्दू रामायण में क्या अंतर हैं इसके बारें में अध्ययन करते हैंl

 «   Prev 1  2  

Register to get FREE updates

    All Fields Mandatory
  • (Ex:9123456789)
  • Please Select Your Interest
  • Please specify

  • ajax-loader
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

Loading...
Loading...