Search

अंटार्कटिक संधि (एटी): वैज्ञानिक अनुसंधान और अंटार्कटिक महाद्वीप में ग़ैरफ़ौजीकरण के लिए संधि

अंतर्तिक महाद्वीप को ग़ैरफ़ौजीकरण क्षेत्र में सिर्फ वैज्ञानिक अनुसन्धान में बनाने के लिए 12 देशों के बीच 1 दिसंबर 1957 को अंटार्कटिक संधि पर हस्ताक्षर किये गए थे| यह वर्ष 1961 में  लागू किया गया और इसके बाद कई अन्य देशों द्वारा भी लागू किया गया| संधि के पक्षकारों की कुल संख्या अब 53 है।
Jul 19, 2016 15:26 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

अंतर्तिक महाद्वीप को ग़ैरफ़ौजीकरण क्षेत्र में सिर्फ वैज्ञानिक अनुसन्धान में बनाने के लिए 12 देशों के बीच 1 दिसंबर 1957 को अंटार्कटिक संधि पर हस्ताक्षर किये गए थे| यह वर्ष 1961 में  लागू किया गया और इसके बाद कई अन्य देशों द्वारा भी लागू किया गया| संधि के पक्षकारों की कुल संख्या अब 53 है।

Jagranjosh

Source: image|slidesharecdn|com

मूल हस्ताक्षरकर्ता 1957-58 के अंतर्राष्ट्रीय भूभौतिकीय वर्ष (आईजीवाई) के दौरान 12 देश अंटार्कटिका में सक्रिय थे। उस समय 12 देश जिनके अंटार्टिका में बहुत महत्वपूर्ण हित थे वो थे - अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, चिली, फ्रांस, जापान, न्यूजीलैंड, नार्वे, दक्षिण अफ्रीका, सोवियत संघ, ब्रिटेन और संयुक्त राज्य अमेरिका

Jagranjosh

अंटार्कटिक संधि के प्रावधान

• अंटार्कटिका केवल शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए इस्तेमाल किया जाएगा; वैज्ञानिक अनुसंधान या किसी अन्य शांतिपूर्ण उद्देश्य के लिए सैन्य परिसंपत्तियों का उपयोग अपवाद के साथ किसी भी सैन्य उपायों के लिए निषिद्ध हैं।

• अंटार्कटिका में वैज्ञानिक जांच की स्वतंत्रता और सहयोग जो आई जी वाई के दौरान लागू की गयी थी, जारी रहेंगी

• वैज्ञानिक कार्यक्रमों के लिए योजनाएं और टिप्पणियों और परिणाम उसके लिए स्वतंत्र रूप से विमर्श किया जाएगा; वैज्ञानिकों का अभियानों के बीच आदान-प्रदान किया जा सकता है।

• सभी राष्ट्रीय दावें हस्ताक्षर होने की तिथि से स्थिर हैं। संधि के जीवन के दौरान किसी भी देश की कोई भविष्य गतिविधि क्षेत्रीय संप्रभुता का कोई अधिकार या दावों को यथास्थिति प्रभावित नहीं कर सकते हैं।

• परमाणु विस्फोट और रेडियोधर्मी कचरे के निपटान अंटार्कटिका में निषिद्ध हैं।

• संधि के प्रावधान क्षेत्र से 60 डिग्री दक्षिण अक्षांश के दक्षिण में लागू होता है।

• कोई भी अनुबंधीय पक्ष निरीक्षक की नियुक्त्ति कर सकता है, उनके पास अंटार्टिका के किसी भी क्षेत्र में किसी भी समय पर, किसी भी अन्य देश की इमारतों, रतिष्ठानों, उपकरण, जहाज, विमान या हवाई निरिक्षण की पूर्ण स्वतंत्रता होनी चाहिए।

• सक्रिय हस्ताक्षरकर्ता देशों की नियमित बैठकों परामर्शदात्री आयोजित किया जाएगा।

• संविदा पक्ष सुनिश्चित करेगा की संधि के विपरीत कोई गतिविधि नहीं की जाएगी

• संपर्क दलों के बीच जो विवाद अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय द्वारा अंतिम उपाय के रूप में, शांतिपूर्ण बातचीत से हल किया जाएगा।

• संधि न्यूनतम 30 साल के लिए प्रभाव में रहेगा।

• ये लेख अनुसमर्थन और जमा की कानूनी जानकारी प्रदान करते हैं।