Search

अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल पूर्व सिविल सेवक व राजनेता हैं जिन्होने दिल्ली के सातवें मुख्यमंत्री के रूप में 28 दिसंबर 2013 से 14 फ़रवरी 2014 तक कार्य किया.
Apr 17, 2014 15:05 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

arwind

अरविंद केजरीवाल पूर्व सिविल सेवक व राजनेता हैं जिन्होने दिल्ली के सातवें मुख्यमंत्री के रूप में 28 दिसंबर 2013 से 14 फ़रवरी 2014 तक कार्य किया. यह आम आदमी पार्टी के संयोजक हैं. यह सूचना के अधिकार को तृणमूल स्तर तक ले जाने  एवं जनलोकपाल के प्रयासों के लिए जाने जाते हैं. 

पारिवारिक विवरण

केजरीवाल ने सुनीता से शादी की जो कि उनके साथ नेशनल अकॅडमी ऑफ आड्मिनिस्ट्रेशन मसूरी एवं द नेश्नल अकॅडमी ऑफ डाइरेक्ट टेक्सेस, में उनकी सहपाठी थी, इनके 2 बच्चे हैं.

जीवनवृत्ति

अरविंद केजरीवाल ने लोक सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद 1995 में आईआरएस सम्मिलित हुए.  वर्ष 2000 में उन्हे उच्च शिक्षा हेतु 2 वर्ष का सवेतन अवकाश इस शर्त पर दिया गया कि वह अगले 3 वर्ष तक सेवा नही छोड़ सकते. ऐसा ना करने पर उन्हें अपने अवकाश के काल की राशि वापस करनी होगी. प्रत्युत्तर में 2003 में वापस आकर अवैतनिक अवकाश पर जाने से पहले 18 महीने तक सेवा की. 2006 में इन्होने अपने आयकर के ज्वाइंट कमिश्नर के पद छोड़ दिया. भारत सरकार द्वारा यह दावा किया गया केजरीवाल ने 3 साल तक नौकरी ना कर के अपने अनुबंध को तोड़ा है. इस पर केजरीवाल का कहना था की 18 माह का कार्य तथा 18 महीने तक अवैतनिक कार्य उस 3 साल के बराबर है. इसके बाद केजरीवाल अन्ना के साथ उनके भ्रष्टाचार विरोधी कार्यक्रम में जुड़ गये. यह विवाद तब तक चला जब तक 2011 में उन्होने सेवा से खुद को पूरी तरह मुक्त करने के लिए जुर्माना नहीं दिया.

व्यवसाय

अरविंद केजरीवाल  - खरगपुर से आई आई टी हैं (मेकॅनिकल इंजिनी.)

वह पूर्व आई ए एस अधिकारी हैं. हे

वह आयकर विभाग में पूर्व जॉइंट कमिशनर रह चुके हैं.

वे भारत को एक बहुत ही शक्तिशाली अधिकार 'सूचना का अधिकार'  दिलाने वाले मुख्य कार्यकर्ताओं में से एक हैं.

वर्ष 2006 में रमन मेगसेसे अवॉर्ड फॉर एमर्जेंट लीडरशिप के विजेता रह चुके हैं.

इन्होंने प्रशांत भूषण एवं मनीष सिसोदिया के साथ मिल कर पब्लिक कॉस रिसर्च फाउंडेशन की स्थापना की है.

वर्ष 1999 में इन्होंने परिवर्तन नाम का एक आंदोलन शुरू किया जिसका उद्देश्य ग़रीबों को उनके अधिकार व करों की जानकारी देना था.

जन लोकपाल आंदोलन से जुड़ने से पूर्व इन्होने आरटीआई का प्रयोग जल, बिजली, एवं पीडीएस में होने वाली जल्दबाज़ी को जानने के लिए किया.

इन्होनेसक्रियतवादियों के साथ मिल कर जन-लोकपाल को तैयार किया तथा उसे पारित करने के लिए 2 साल तक लड़ते रहे.      

इन्होंने आम आदमी पार्टी की स्थापना की.

यह दिल्ली के मुख्य मंत्री रहे हैं.

सम्मान व पुरस्कार

2004:  अशोका  फेलो; सिविक एंगेज्मेंट

2005: सतेंद्र के दूबे मेमोरियल अवॉर्ड आईआईटी कानपुर से उनके द्वारा सरकार में स्पष्टता लाने के लिए दिया गया.

2006: रमन मग्सेयसे अवॉर्ड, उद्गमी नेतृत्व के लिए.

2006: सीएनएन- आईबीएन की ओर से लोक सेवा में 'इंडियन ऑफ द ईयर अवॉर्ड'.

2009:  डिस्टिंग्विश्ड अलम्नस अवॉर्ड, प्रभावी नेतृत्व के लिए आईआईटी खरगपुर के तरफ से.

2009:  असोसियेशन फॉर इंडियन डेवेलपमेंट की ओर से ग्रांट व फ़ेलोशिप अवॉर्ड.

2010:  पॉलिसी  चेंज एजेंट ऑफ द ईयर - एकनामिक टाइम्स अवॉर्ड्स, निगम उत्कृष्टता के लिए अरुणा रॉय के साथ.

2011:  एनदीटीवी इंडियन ऑफ द ईयर अवॉर्ड अन्ना हज़ारे के साथ.

2013: राजनीति में सीएनएन- आईबीएन का इंडियन ऑफ द ईयर.

2013: टाइम्स ऑफ इंडिया - पर्सन ऑफ द ईयर.

उपलब्धि एवं योगदान

दिल्ली में 49 दिनों की उपलब्धि

- वी आई पी / लाल बत्ती की संस्कृति का अंत.

- 400 यूनिट तक खपत करने वालों के लिए आंशिक बिजली बिल.

- प्रति माह 20 लीटर जल खपत करने वालो के लिए मुफ़्त जल.

- 58 नये रात्रि विश्राम गृह पूर्व के 175 पुराने विश्राम गृहों के साथ 1 माह में ही जोड़े गये.

- नियंत्रक व महालेखा परीक्षक को लेखा परीक्षण के आदेश.

- 800 जल बोर्ड के कर्मचारियों का स्थानांतरण व 3 को निष्कासित किया.

- भ्रष्टाचार के लिए सहायता लाइन नंबर 1031 की शुरुआत.

- नर्सरी स्कूल एडमिशन हैल्पलाइन की शुरुआत.

- स्कूलों मे एडमिशन के लिए डोनेशन पर पाबंदी.

- राशन माफ़िया पर अवरोध.

- वाइफ ऑफ देल्ही पोलीस को 1 करोड़ दिए गये.

- जल टैंकर माफ़िया पर अवरोध.

- काबिनेट से दिल्ली जनलोकपाल बिल व नगर स्वराज बिल पारित.

- सरकारी स्कूलों को 1-1 लाख रुपए उनके आधारबूत संरचना को सुधारने के लिए दिया गया.

- एन सी आर क्षेत्र में 5500 ऑटो रिक्शा वालों को अनुमति.

- 1984 के सिक्ख दंगों की जाँच के लिए एक व्यवस्थित एसआईटी की रचना.

- महिला सुरक्षा फोर्स हेतु समिति का निर्माण.

- अनुबंध लेबर को स्थाई बनाने व अतिथि शिक्षक की जाँच के लिए समिति का निर्माण.

- सरकारी अस्पताल, स्कूलों, रात्रि विश्राम गृह, यातायात बसों के प्रशासन के लिए अवरोध.

- खिलाड़ियों को विशेष सुविधा.

- विद्यार्थियों के लिए बस पास की सुविधा.

- कई सरकारी कर्मचारियों की नियुक्ति.

- ग़लत बिजली के . मीटरों की जाँच के लिए आदेश जारी.

- कॉमनवेल्थ लाइट्स घोटाले के लिए एफआईआर राजिस्टर किए गये.

-गैस प्राइस घोटाले के लिए एफआईआर रजिस्टर किए गये.

-जल - बोर्ड घोटाले में 3 एफआईआर सूचीबद्ध किए गये.

- लघु उद्योगों पर लगने वाले टैक्स रिबेट व वैट का सरलीकरण जिसमें 1 करोड़ तक का कर सम्मिलित हैं.

पुस्तकें एवं प्रलेख

स्वराज नामक पुस्तक भारतीय सामाजिक सक्रिय कार्यकर्ता व राजनेता अरविंद केजरीवाल द्वारा रचित हैं. यह पुस्तक कई भाषाओं मे उपलब्ध है जिसमें हिन्दी, अँग्रेज़ी, मलयालम सम्मिलित हैं, इस पुस्तक में भारत के वर्तमान के लोकत्रंतिक मंच के इर्द गिर्द का वर्णन है तथा भारत में लोगो को किस प्रकार सही मायनों में स्वराज की प्राप्ति हो सकती है उसकी अनुशंसा करती है.

वर्तमान

अरविंद केजरीवाल वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री के पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के विपक्ष में वाराणसी से चुनाव लड़ रहे हैं.

राहुल गाँधी

राजनाथ सिंह

लाल कृष्ण आडवाणी

नरेंद्र मोदी