Search

इन्टरनेट की दुनिया के 5 अनसुलझे रहस्य

मानवीय सभ्यता का विकास करने में कंप्यूटर का बहुत ही बड़ा योगदान है और आगे मनुष्य का जो भी विकास होगा वह कंप्यूटर की मदद से ही होगा | लेकिन कंप्यूटर की दुनिया भी अभी तक पूरी तरह से खोजी नही जा सकी है इसमें भी कुछ रहस्य बरक़रार हैं | कंप्यूटर की दुनिया के ऐसे ही कुछ रोचक रहस्यों (Internet Black Holes, Meriana’s web, CICADA 3301) की जानकारी इस लेख में दी गयी है |
Nov 8, 2016 17:20 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

मानवीय सभ्यता का विकास करने में कंप्यूटर का बहुत ही बड़ा योगदान है और आगे मनुष्य का जो कुछ भी विकास होगा वह कंप्यूटर की मदद से ही होगा | लेकिन कंप्यूटर की दुनिया भी अभी तक पूरी तरह से खोजी नही जा सकी है इसमें भी कुछ रहस्य बरक़रार हैं | कंप्यूटर की दुनिया के ऐसे ही कुछ रोचक रहस्यों(Internet Black Holes, Meriana’s web, CICADA 3301) की जानकारी इस लेख में दी गयी है |

1. Internet Black Holes: आपके साथ ऐसा कई बार हुआ होगा जब आपने गूगल में कुछ सर्च किया होगा लेकिन गूगल ने कोई रिजल्ट नही दिखाया होगा | इन्टरनेट की दुनिया में इसे ब्लैक होल्स कहते हैं | ब्लैक होल्स एक ऐसी चीज है जो कि डाटा के ट्रान्सफर होने में अड़चन लाती है | ऐसा क्यों होता है इसका अभी तक पता नही चला है कुछ लोग इसका कारण डेड आई पी एड्रेस (Dead IP Address ) और कंप्यूटर की फायरवर्क को मानते हैं | लेकिन कंप्यूटर विशेषज्ञों के अनुसार ऐसा होना एक बहुत ही बड़ी पहेली है क्योंकि डेटा ऐसे ही कहीं भी खो नही जाता है | डेटा कहीं न कहीं तो अवश्य ही मौजूद होता है| ऐसे ही ब्लैक होल्स का मामला अमेरिका में 2013  में सामने आया था जहाँ पर लोगों की जानकारी को आइसलैंड पर किसी जगह पर भेजा जा रहा था, ऐसा कौन कर रहा था, अभी तक एक रहस्य ही है | इस प्रकार Internet black holes की गुत्थी को अभी तक कोई भी व्यक्ति हल नही कर पाया है |

Jagranjosh

Image source:random notes: geographer-at-large

कम्प्यूटर का क्रमिक विकास

2. Meriana’s web:  प्रशांत महासागर के पश्चिमी भाग में दुनिया की सबसे गहरी खाई है जिसका नाम है मैरिआना ट्रेंच है| इसकी गहराई 11000 मीटर है | Meriana’s web  का नाम इसी खाई से लिया गया है | Meriana’s web, इन्टरनेट की ऐसी एक दुनिया है जो कि डीप वेब से भी ज्यादा डीप मानी जाती है | इसे इस तरह से समझा जा सकता है जैसे इन्टरनेट का पहला और दूसरा फेज नोर्मंल वेबसाइट के जरिये खोजा जा सकता है | तीसरा और चौथा फेज डार्क ब्राउज़र का माना जाता है जिसे खास ब्राउज़र के जरिये खोजा जाता है जैसे Tor Browser | पांचवे फेज को Meriana’s web माना जाता है | ऐसा माना जाता है कि आज तक के जो भी बड़े से बड़े रहस्य है चाहे वो किसी भी चीज से जुड़े हों, सब के सब Meriana’s web में छिपे हैं जहाँ तक पहुच पाना संभव नही है क्योंकि Meriana’s web तक पहुँचने के लिए क्वांटम कंप्यूटर की जरूरत होती है जो कि आज तक बनाया नही जा सका है | वाशिंगटन पोस्ट यह कहता है कि राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (NSA), क्वांटम कंप्यूटर का निर्माण कर रही है | हालांकि Meriana’s web को अभी तक एक कल्पना ही माना गया है |

Jagranjosh

Image source:Spoki

कंप्यूटर से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य

3. Jack Froese Emails: जैक फ्रोज ने अपने एक दोस्त को ईमेल भेजा था जिसमे उसने कहा था कि “वह उसे देख रहा है और उसका घर काफी गन्दा दिख रहा है इसलिए उसे उसकी सफाई कर लेनी चाहिए” | दिमाग चकराने वाली बात यह है कि फ्रोज का यह ईमेल उसके दोस्त को फ्रोज की मौत के 6 महीने के बाद आया था | ऐसा ही एक ईमेल जैक फ्रोज के एक चचेरे भाई को भी मिला था जिसमे उसने चचेरे भाई को कहा था कि मुझे आभास हो गया है कि तुम (कजिन) ऊधम मचाकर अपना पैर तोड़ने वाले हो और फ्रोज की यह बात सच हो गयी थी | जैक फ्रोज के ईमेल के बारे में जब जैक फ्रोज की माँ से बात की गयी तो उन्होंने बताया कि जैक फ्रोज के ईमेल का पासवर्ड किसी के पास नही था और न ही उसका ईमेल हैक किया गया था | लेकिन इन emails के बाद जैक फ्रोज का किसी को कोई ईमेल नही आया | हालांकि ऐसी कुछ Websites हैं जो कि आपकी मौत के बाद आपके सारे ईमेल (जो कि आपने ड्राफ्ट में सेव कर रखे है) लोगों को भेज देतीं हैं | दरअसल ये Websites 30, 45 और 52 दिनों के बाद आपकी लॉग इन हिस्ट्री को देखतीं है यदि आपने इन दिनों में लॉग इन नही किया तो ये आपके मृत मान लेती हैं और आपको ड्राफ्ट में सेव्ड emails को फॉरवर्ड कर देती हैं | लेकिन जैक फ्रोज के केस में इस तरह की Websites के इस्तेमाल होने के सबूत नही मिले हैं | ध्यान रहे कि जैक फ्रोज  के emails 180 दिनों के बाद आये थे |

Jagranjosh

Image source:www.thesun.co.uk

4. Webdriver Torso : यह YouTube पर एक चैनल है जो कि YouTube पर ऐसे वीडियो डालता है जो कि आज तक समझे नही जा सके है | हर वीडियो का समय 11 सेकेण्ड का होता है | इस चैनल पर 2013 से वीडियो अपलोड किये जा रहे है जो कि नीले और लाल रंग के रेक्टेंगुलर आकार के होते हैं और वीप की आवाज के साथ स्थान बदलते हैं | इस चैनल पर एक लाख से भी ज्यादा वीडियो अपलोड हो चुके हैं और 92000 सब्सक्राइबर्स भी हैं | इसमें हर वीडियो एक ही तरह की है | हालांकि गूगल अब यह दावा करने लगा है कि Webdriver Torso उनके द्वारा संचालित ही एक चैनल है जो कि YouTube की क्वालिटी को चेक करने के लिए बनाया गया है|

Jagranjosh

Image source:BBC.com

5. CICADA 3301: यह रहस्य इन्टरनेट की दुनिया में बहुत खास महत्व रखता है | इसकी शुरुआत तब से मानी जाती है जब 4CHAN नामक वेबसाइट पर एक यूजर ने यह मेसेज डाला कि “ वह ऐसे बुद्धिमान लोगों को खोज रहा है जो कि इस ‘खास पहेली’ को सुलझा दे “ ऐसी पहेली 2012, 2013, 2014 में आयी थी | कुछ लोगों का मानना है कि यह काम (CICADA 3301), CIA का है जो कि दुनिया के सर्वश्रेस्थ हैकरों को इकठ्ठा करना चाहती है |

Jagranjosh

Image source:Dan's Ed Tech & CS Blog - WordPress.com

इन्टरनेट की दुनिया कितनी ही रहस्यमयी क्यों न हो लेकिन यह सच है कि इस दुनिया को बनाने में मनुष्य का ही हाथ है | इसी कारण यह उम्मीद की जाती है कि एक न एक दिन मनुष्य इसके सारे राज खोल ही देगा |

जानें विज्ञान से संबंधित 15 रोचक तथ्य