Search

ई-अपशिष्ट (ई-कचरे) के प्रकार

ई-अपशिष्ट एक सामान्य शब्द के रूप में प्रयोग किया जाता है जो विद्युत् चालित घटकों से युक्त सभी प्रकार के कचरे से जुडा होता है। संक्षिप्त रूप में ई-अपशिष्ट या अपशिष्ट इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण (WEEE) वह शब्द है जिसका प्रयोग पुराने, खत्म हो चुके या बिजली को उपयोग कर रहे उपयोगहीन उपकरणों का वर्णन करने के लिए किया जाता है। इसमें कंप्यूटर, उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स, फ्रिज आदि शामिल हैं जिसे उनके मूल प्रयोगकर्ताओं द्वारा त्याग दिया जाता है। बहुमूल्य सामग्री के साथ- साथ खतरनाक सामग्री दोनों में ई-अपशिष्ट शामिल है जिसे विशेष निगरानी और पुनर्चक्रण के तरीकों की आवश्यकता होती है।
Dec 9, 2015 11:49 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

संक्षिप्त रूप में ई-अपशिष्ट या अपशिष्ट इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण (WEEE) वह शब्द है जिसका प्रयोग पुराने, खत्म हो चुके या बिजली का उपयोग कर रहे उपयोगहीन उपकरणों का वर्णन करने के लिए किया जाता है। इसमें कंप्यूटर, उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स, फ्रिज आदि शामिल हैं जिसे उनके मूल प्रयोगकर्ताओं द्वारा त्याग दिया गया है।

इलेक्ट्रॉनिक अपशिष्ट, ई-अपशिष्ट, ई- कबाड़, या अपशिष्ट इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण (डब्ल्यूईईई) उपयोगहीन (त्याग किए गये) इलेक्ट्रिकल या इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का वर्णन करते हैं। वैज्ञानिकों में इस बात पर एक आम सहमति नहीं हैं कि क्या इस शब्द का प्रयोग पुन:विक्रय, पुन:उपयोग और नवीनीकरण उद्योगों के लिए प्रयोग करना चाहिए या फिर केवल उस उत्पाद के लिए जो अपने इच्छित उद्देश्य के लिए प्रय़ुक्त नहीं होता है।

विकासशील देशों में इलेक्ट्रॉनिक अपशिष्ट का अनौपचारिक प्रसंस्करण गंभीर स्वास्थ्य और प्रदूषण की समस्याओं का कारण बन सकता है, हालांकि इन देशों में भी इलेक्ट्रानिक्स के पुन:उपयोग और मरम्मत की अधिकतर संभावना है।

सभी इलेक्ट्रॉनिक स्क्रैप आइटम, जैसे सीआरटी के रूप मेंसीसा, कैडमियम, बेरिलियम, या ब्रोमिनाटेड लौ परिदर्शक दूषित पदार्थों में शामिल हैं। यहां तक कि उन्नत देश, रीसाइक्लिंग और ई-कचरे के निपटान में श्रमिकों और समुदायों को शामिल करने का जोखिम ले सकते हैं। रीसाइक्लिंग के संचालन में असुरक्षित जोखिम से बचने तथा सामग्री के निक्षालन के लिए सही देखभाल की जानी चाहिए। जैसे- अपशिष्ट भराव क्षेत्रों से धातु और भस्मक राख के रूप में।

कोई भी उपकरण जो बिजली से चलते हैं यदि उनका जिम्मेदार तरीके से खात्मा ना किया जाए तो उनमें पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने की क्षमता होती है। बिजली और इलेक्ट्रॉनिक कचरे की सामान्य वस्तुएं इस प्रकार हैं:

  1. बड़े घरेलू उपकरण (रेफ्रिजरेटर/फ्रीजर, वाशिंग मशीन, डिशवाशर)
  2. लघु उपकरण (टोस्टर, कॉफी मेकर, ईस्त्री, हेयरड्रायर)
  3. सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) और दूरसंचार उपकरण (पर्सनल कंप्यूटर, टेलीफोन, मोबाइल फोन, लैपटॉप, प्रिंटर, स्कैनर, फोटोकॉपी)
  4. उपभोक्ता उपकरण (टीवी, स्टीरियो उपकरण, बिजली के टूथब्रश)
  5. प्रकाश उपकरण (फ्लोरोसेंट लैंप)
  6. इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण (हाथ वाले ड्रिल्स, आरी, स्क्रूड्राईवर)
  7. खिलौने, लेशर और खेल उपकरण
  8. मेडिकल उपकरणों की प्रणाली (सभी प्रत्यारोपित और संक्रमित उत्पादों के अपवाद के साथ)
  9. निगरानी और नियंत्रण उपकरण
  10. स्वचालित वितरक।

पर्यावरण संबंधी चिंताएँ

  • संसाधनों की कमी और बिजली तथा इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के कचरे से उत्पन्न होने वाले खतरनाक पदार्थ मुख्य पर्यावरण संबंधी चिंताएं हैं।
  • यदि बिजली और इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों का अपशिष्ट भराव क्षेत्र में निपटारा किया जाए तो लाखों टन सामाग्री जो नये उत्पादों और निर्माण के लिए बरामद की गयी है वह समाप्त हो सकती है। इन सामाग्रियों की पुन:प्राप्ति नए उत्पादों का निर्माण करने के लिए और अधिक कच्चे माल निकालने की जरूरत को कम करेगा।
  • कुछ इलेक्ट्रॉनिक उपकरण या उसमें समाहित घटक पदार्थों का यदि सही तरीके से निपटान ना किया जाए तो वह पर्यावरण और मानव स्वास्थ्य के लिए खतरनाक माने जाते हैं। ये खतरनाक पदार्थ आमतौर पर केवल छोटी मात्रा में समाहित होते हैं और इनमें गंभीर पर्यावरणीय क्षति के कारण बनने की पूरी संभावना होती है।

डब्ल्यूईईई का निपटान

अपशिष्ट भराव क्षेत्र

अपशिष्ट भराव जमीन में गाडकर अपशिष्ट पदार्थ का निपटान करना होता है। अपशिष्ट भराव वाले क्षेत्र अब दुर्लभ होते जा रहे हैं। हानिकारक पदार्थों के कारण अपशिष्ट भराव क्षेत्र में बिजली या इलेक्ट्रोनिक उपकरणों से कचरे का निपटान उपयुक्त नहीं है क्योंकि इसे बिजली और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की बर्बादी को रोकने के लिए जाना जाता है।

भस्मक:

भस्मीकरण उच्च तापमान पर सामाग्री या माल जलने की प्रक्रिया है।

बिजली और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण से कचरे का पुनर्चक्रण

रीसाइक्लिंग उद्योग जटिल होता है जहां पर बड़ी श्रेडर (कतरनी मशीन) ऑपरेटर और छोटे पुनर्चक्रण विशेषज्ञ होते हैं। इन्हें उन कंपनियों का समर्थन प्राप्त होता हैं जिन्हें ये प्लास्टिक रीसाइक्लिंग और कीमती धातुओं की रिफाइनिंग जैसी सेवाएं प्रदान करते हैं। इसके अलावा यह लघु मरम्मत और नवीनीकरण की पहल भी हो सकती है। पुनर्चक्रण कंपनियां और अधिक उन्नत रीसाइक्लिंग सिस्टम के साथ देशों को निर्यात करने के लिए वस्तुओं को इकट्ठा करती हैं।

विभिन्न सामग्रियों, मुख्य धातुओं की वसूली के लिए श्रेडर प्रकिया उपकरणों की एक मिश्रित श्रृखंला है। सहित उपयोगहीन वाहन, घरेलू उपकरण और अन्य विदु्युत इस्त्री सहित धातु युक्त सामग्री के मिश्रित टुकड़े तथा बडीं हैमर मिलें विखंडन के रूप में जानी जाती है।