Search

एशियाई मेकांग विकास सहयोग (मेकांग समूह)

एशियाई मेकांग विकास सहयोग (मेकांग समूह) दक्षिण पूर्व एशियाई देशों अर्थात ब्रुनेई, कंबोडिया, चीन, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम का एक संघ है।
Jul 21, 2016 18:14 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

एशियाई मेकांग विकास सहयोग (मेकांग समूह) दक्षिण पूर्व एशियाई देशों अर्थात ब्रुनेई, कंबोडिया, चीन, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम का एक संघ है। इसका गठन कुछ इस तरह के आम सहमति के उद्देश्यों के लिए किया गया था जैसे किः

• मेकांग बेसिन क्षेत्र के आर्थिक और सामाजिक विकास में सहयोग करने के लिए।

• संवाद और आम परियोजनाओं की पहचान की प्रक्रिया के माध्यम से समूह और एशियाई सदस्य राज्यों के बीच की कड़ी को मजबूत बनाना|

Jagranjosh

मेकांग समूह के उद्देश्य

• परिवहन, दूरसंचार, सिंचाई और ऊर्जा के क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे क्षमताओं का विकास करना।

• व्यापार और निवेश सृजन गतिविधियों को विकसित करना।

• घरेलू खपत और विशेषज्ञ के लिए उत्पादन बढ़ाने के लिए कृषि क्षेत्र को विकसित करना।

• वानिकी संसाधनों की स्थिरता को विकसित करने के लिए।

• खनिज संसाधनों का विकास करना।

• औद्योगिक क्षेत्र विशेष रूप से छोटे और मध्यम उद्यमों को विकसित करने के लिए।

• विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में प्रशिक्षण और सहयोग के लिए पर्यटन, मानव संसाधन विकास और समर्थन का विकास करना।