Search

ओलम्पिक खेलों के दौरान दिए जाने वाले दुर्लभ चौथे पदक के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य

क्या आप जानते हैं कि ओलम्पिक खेलों के दौरान वह कौन सा पदक है जिसे जीतना स्वर्ण पदक से भी अधिक कठिन है? वास्तव में इस पदक को जीता नहीं जाता है बल्कि एथलीटों को सच्ची खेल भावना का प्रदर्शन करने के लिए पियरे डी कोउबर्तिन पदक दिया जाता है |
Aug 24, 2016 15:13 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

क्या आप जानते हैं कि ओलम्पिक खेलों के दौरान वह कौन सा पदक है जिसे जीतना स्वर्ण पदक से भी अधिक कठिन है ? वास्तव में इस पदक को जीता नहीं जाता है बल्कि एथलीटों को इसके योग्य बनना पड़ता है| पियरे डी कोउबर्तिन नामक इस चौथे पदक को जीतने के लिए आपको न सिर्फ अपने खेल में अच्छे होने की जरूरत है बल्कि आपको सर्वोच्च खेल भावना का भी प्रदर्शन करना पड़ता है| अतः यह कहा जा सकता है कि इस पदक को प्राप्त करना स्वर्ण पदक प्राप्त करने से भी बड़ी उपलब्धि है| रियो ओलम्पिक खेलों से पहले तक यह पदक केवल 17 बार ही दिया गया है |

Jagranjosh

Source: www.pandaamerica.com

रियो ओलम्पिक खेल 2016 के दौरान महिलाओं की 5000 मीटर दौड़ में फिनिशिंग लाइन को पार करते समय आपस में टकराने के बाद एक-दूसरे की मदद करने की अनुकरणीय साहस दिखाने के लिए न्यूजीलैंड की एथलीट निकी हेम्ब्लिन एवं अमेरिका की एथलीट एबे डी अगस्तिनो को इस प्रतिष्ठित पदक से सम्मानित किया गया है।

Jagranjosh

Source: www.dailymail.co.uk

पहले ओलम्पिक खेल: 10 तथ्य एक नजर में

प्रतिष्ठित पियरे डी कोउबर्तिन पदक से संबंधित दिलचस्प तथ्य:

1. यह पदक सर्वोतम खेल भावना का प्रतीक है।

इस पदक को सच्ची खेल भावना का पदक भी कहा जाता है एवं इसे अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति द्वारा उन एथलीटों, पूर्व एथलीटों, खेल प्रमोटरों, खेल अधिकारियों एवं अन्य व्यक्तियों को दिया जाता है जिन्होंने ओलम्पिक खेलों में सच्ची खेल भावना का प्रदर्शन किया है या ओलम्पिक खेलों के आयोजन में असाधारण सेवा-भाव का प्रदर्शन किया है|

Jagranjosh

Source: www.thesun.co.uk

2. यह पदक मरणोपरांत भी दिया जाता है |

वास्तव में स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक स्पष्ट रूप से ओलम्पिक खेलों में भाग लेने वाले खिलाड़ियों द्वारा ही जीता जा सकता है लेकिन यह पुरस्कार ओलम्पिक भावना के प्रति विजेताओं के योगदान को सम्मानित करने के उद्येश्य से मरणोपरांत भी किसी व्यक्ति को दिया जा सकता है।

Jagranjosh

Source: www.bustle.com

3. इस पदक का नाम आधुनिक ओलम्पिक खेलों के संस्थापक के नाम पर रखा गया है |

इस पदक की शुरूआत फ्रांसीसी शिक्षक, इतिहासकार एवं अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति के संस्थापक ‘पियरे डी फ्रेडी बैरन डी कोउबर्तिन’ के सम्मान में की गयी थी | इसी कारण इसे पियरे डी कोउबर्तिन पदक के नाम से जाना जाता है|

Jagranjosh

Source:  www.china.org.cn

क्या आप जानते हैं कि ओलंपिक खेलों में अब तक भारतीय हॉकी टीम का प्रदर्शन कैसा रहा है?

4. यह पदक प्रत्येक ओलम्पिक खेल के दौरान नहीं दिया जाता है |

यह पदक प्रत्येक ओलंपिक खेलों के दौरान नहीं दिया जाता है। वास्तव में यह पदक तभी दिया जाता है जब अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति को लगता है कि किसी खिलाड़ी ने सही मायने में सच्ची खेल भावना का प्रदर्शन किया है।

Jagranjosh

Source: www.esquire.my

5. रियो ओलम्पिक खेलों से पहले तक यह पदक केवल 17 बार ही दिया गया है |

इस पदक का महत्व इसी से लगाया जा सकता है कि यह पदक अब तक सिर्फ 17 बार ही दिया गया है |

6. इस पदक की शुरूआत 1964 में की गयी थी वं पहली बार इसे मरणोपरांत दिया गया था | लूज लांग पहले व्यक्ति थे जिन्हें पियरे डी कोउबर्तिन ओलम्पिक पदक से नवाजा गया था |

Jagranjosh

Source: www.lvz.de

रिओ ओलम्पिक खेल 2016: 10 तथ्य एक नज़र में

पियरे डी कोउबर्तिन ओलम्पिक पदक प्राप्त करने वाले व्यक्तियों की सूची

एथलीट

देश

खेल आयोजन

पदक प्राप्ति की तिथि

 लूज लांग

 जर्मनी

 ग्रीष्मकालीन

 ओलम्पिक 1936

 1964 (मरणोपरांत)

 उजेनियो मोंटी

 इटली

 शीतकालीन

 ओलम्पिक 1964

 1964

 फ्रेंज जोन्स

 आस्ट्रिया

    -

 जुलाई 1969

 कार्ल हिन्ज क्ली

 आस्ट्रिया

 शीतकालीन

 ओलम्पिक 1976

 फरवरी 1977

 लारेंस लेमिक्स

 कनाडा

 ग्रीष्मकालीन

 ओलम्पिक 1988

 सितम्बर 1988

 जस्टिन हर्ले  

 मैकडोनाल्ड

 आस्ट्रेलिया

 शीतकालीन

 ओलम्पिक 1994

 1994

 रेमंड गाफनर

 स्विट्जरलैंड

    -

 1999

 इमिल जेटोपेक

 चेकोस्लोवाकिया

 ग्रीष्मकालीन

 ओलम्पिक 1952

 6 दिसम्बर 2000

 (मरणोपरांत)

 एस्पेंसर एक्लेस

 अमेरिका

 शीतकालीन

 ओलम्पिक 2002

 फरवरी 2002

 ताना उमगा

 न्यूजीलैंड

 रग्बी टेस्ट मैच 2003

 जून 2003

 वेंदरली कोर्डेरो डी लीमा

 ब्राजील

 ग्रीष्मकालीन

 ओलम्पिक 2004

 29 अगस्त 2004

 एलिना नोविकोवा बेलोवा

 बेलारुस

 11वीं अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान  कांग्रेस

 17 मई 2007

 शाल लैड्नी

 इजरायल

 चार दशक के दौरान खेल  के क्षेत्र में उत्कृष्ट सफलता

 17 मई 2007

 पीटर क्यूपेक इवान बुलाजा पावले  कोस्तोव

 क्रोएशिया

 ग्रीष्मकालीन

 ओलम्पिक 2008

 18 नवम्बर 2008

 रोनाल्ड हार्वे

 आस्ट्रेलिया

     -

 2 अप्रैल 2009

रिचर्ड गारनेऊ

 कनाडा

 शीतकालीन

 ओलम्पिक 2014

 6 फरवरी 2014

माइकल वांग

 सिंगापुर

 ओलम्पिक आयोजन में  अतुलनीय योगदान

 13 अक्टूबर 2014

निकी हेम्ब्लिन एवं एबे डी अगस्तिनो

 न्यूजीलैंड एवं अमेरिका

 ग्रीष्मकालीन

 ओलम्पिक 2016

 अगस्त 2016

माइकल फेल्प्स के बारे में 10 रोचक तथ्य

खेल–कूद क्विज हल करने के लिए यहाँ क्लिक करें