Search

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान: दुनिया के विख्यात एक ‘सींग वाले गैंडे का घर’

‘काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान’  असम राज्य के दो जिलों के अंदर बसा एक राष्ट्रीय उद्यान है। इनमें एक जिला एक असम राज्य के नौगांव जिले का कलियाबोर उपखंड तथा दूसरा गोलाघाट जिले का बोकाघाट उपखंड शामिल है। काजीरंगा उद्यान, 378 किमी2 (146 वर्ग मील) को कवर करता है। यह एक वैश्विक विरासत स्थल है। इस पार्क में एक सींग वाले गैंडों की विश्व की दो-तिहाई आबादी यहां निवास करती है।
Jul 5, 2016 12:59 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

‘काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान’ असम राज्य के दो जिलों के अंदर बसा एक राष्ट्रीय उद्यान है। इनमें एक जिला एक असम राज्य के नौगांव जिले का कलियाबोर उपखंड तथा दूसरा गोलाघाट जिले का बोकाघाट उपखंड शामिल है। काजीरंगा उद्यान, 378 किमी2 (146 वर्ग मील) को कवर करता है। यह एक वैश्विक विरासत स्थल है। इस पार्क में एक सींग वाले गैंडों की विश्व की दो-तिहाई आबादी यहां निवास करती है। काजीरंगा में वैश्विक बाघों के संरक्षित क्षेत्रों के बीच सर्वोच्च घनत्व है और 2006 में इसे एक टाइगर रिजर्व घोषित किया गया था।

काचीरंगा राष्ट्रीय उद्यान पार्क की तस्वीरें-:

विश्व प्रसिद्ध एक सींग वाला गैंडा @ काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान

Jagranjosh

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान का नक्शा:

Jagranjosh

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में वन्य जीव:

Jagranjosh

काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के बारे में तथ्य:

  1. काजीरंगा 26°30'और 26°45'एन अक्षांश के बीच असम के दो जिलों के भीतर स्थित है। इनमें एक असम राज्य के नौगांव जिले का कलियाबोर उपखंड तथा दूसरा गोलाघाट जिले का बोकाघाट उपखंड शामिल है।
  2. राष्ट्रीय उद्यान की घोषणा के तुरंत बाद काजीरंगा को 1985 में यूनेस्को विश्व विरासत स्थल के रूप में घोषित किया गया था।
  3. यह पार्क पूर्व से पश्चिम तक में लगभग 40 किमी की लंबाई (25 मील), और उत्तर से दक्षिण तक 13 किमी (8 मील) चौड़ाई में फैला हुआ है।
  4. 1904 में, जब भारत के वायसराय (केड्लेसटन के लॉर्ड कर्जन) की पत्नी मैरी कर्जन ने क्षेत्र का दौरा किया लेकिन उन्हें एक भी गैंडा नहीं दिखा था ।
  5. 1 जून 1905 को काजीरंगा प्रस्तावित रिजर्व फॉरेस्ट को 232 किमी. के एक क्षेत्र के साथ बनाया गया ।
  6. भारतीय गैंडे को सबसे बड़ा एक सींग वाला गैंडा और सबसे बड़े एशियाई सींग वाला गैंडा कहा जाता है। इसे एक संवेदनशील प्रजाति के रूप में सूचीबद्ध किया है।
  7. पार्क में बड़ी संख्या में हाथियो की बड़ी आबादी, जंगली भैंसा, और दलदली में रहने वाला हिरण रहते हैं।
  8. काजीरंगा को वन्य जीव प्रजातियों के संरक्षण के लिए बर्ड लाइफ इंटरनेशनल द्वारा एक महत्वपूर्ण बर्ड क्षेत्र के रूप में मान्यता प्राप्त है।
  9. कांचीरंगा पार्क ब्रह्मपुत्र नदी से घिरा है, जो उत्तरी और पूर्वी सीमाओं और मोरा दीपलू का निर्माण करता है, पार्क के अंदर अन्य प्रमुख नदियों में दीपालू और मोरा धनश्री स्थिति हैं।
  10. काजीरंगा में ब्रह्मपुत्र का उपजाऊ जलोढ़ गाद का क्षेत्र फैला हुआ है।
  11. काजीरंगा उप-हिमालयी क्षेत्र में सबसे बड़े संरक्षित भूमि वाले इलाकों में से एक है, और अत्यधिक विविध और प्रजातियों की उपस्थिति के कारण इसे एक "जैव विविधता हॉटस्पॉट" के रूप में वर्णित किया गया है।
  12. पार्क इन्डोमालय प्राणिक्षेत्र में स्थित है, और इस क्षेत्र में रहने वाली जैव प्रजाति के प्रमुख रूप से उष्णकटिबंधीय और नम पर्णपाती जंगल और बायोम की ब्रह्मपुत्र घाटी अर्द्ध सदाबहार जंगल स्थित हैं।
  13. मार्च और मई के बीच गर्मी के मौसम में यहां का तापमान 37 डिग्री सेल्सियस (99 °F) के शीर्ष स्तर तक पहुंच जाता है। इस मौसम के दौरान जानवरों को आमतौर पर पानी के नजदीक देखा जा सकता है।
  14. जुलाई और अगस्त महीनों के दौरान, ब्रह्मपुत्र के बढ़ते जल स्तर के कारण पार्क के पश्चिमी क्षेत्र के तीन चौथाई क्षेज्ञ डूब जाते हैं।
  15. बाढ़ के दौरान कार्बी हिल्स जैसे क्षेत्रों में पार्क की दक्षिणी सीमा के बाहर वन्यजीव ऊंचे और वन क्षेत्रों की ओर पलायन करने लगते हैं।

यदि कोई पर्यावरण और पारिस्थितिकीय पर क्विज खेलना चाहता है तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें ...

पर्यावरण और पारिस्थितिकीय क्विज

Image sources:www.lehladakhtoursindia.com