Search

कैरेबियन राज्य का संघ (एसीएस): कार्य और सदस्य राज्य

कैरेबियन राज्य के संघ (एसीएस) कर्टजन दी इंडीज सभा (कोलंबिया) के द्वारा 24 जुलाई 1994 इस उद्देश्य के साथ स्थापित किया गया था ताकि कैरेबियाई देशों के बीच विमर्श और सहयोग को बढ़ावा दी जा सके । जैसा कहा गया है कन्वेंशन स्थापना की एसीएस में, इसका प्राथमिक उद्देश्य अपने सदस्य देशों के लिए परामर्श, सहयोग और ठोस कार्यों के लिए एक संगठन बनना है।
Jul 22, 2016 13:28 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

कैरेबियन राज्य के संघ (एसीएस) कर्टजन दी इंडीज सभा (कोलंबिया) के द्वारा 24 जुलाई 1994 इस उद्देश्य के साथ स्थापित किया गया था ताकि कैरेबियाई देशों के बीच विमर्श और सहयोग को बढ़ावा दी जा सके । जैसा कहा गया है कन्वेंशन स्थापना की एसीएस में, इसका प्राथमिक उद्देश्य अपने सदस्य देशों के लिए "परामर्श, सहयोग और ठोस कार्यों" के लिए एक संगठन बनना है।

Jagranjosh

इसकी रूपरेखा राजनीतिक बातचीत के लिए एक मंच प्रदान करता है जो की अवसर देता है सदस्यों को आपसी हित के क्षेत्रों की पहचान करने का और चिंताएं जो की क्षेत्रीय स्तर पर संबोधित की जा सकती है, और समाधान जो की पाये जा सकते हैं सहयोग के माध्यम से। यह इस क्षेत्र के लोगों की आम विरासत के रूप में माना जाता है।

कैरेबियन राज्य का संघ (एसीएस) के कार्य

  • क्षेत्रीय सहयोग और एकीकरण की प्रक्रिया को मजबूद बनाना।
  • क्षेत्र में एक बढ़ाया आर्थिक जगह बनाने के लिए।
  • कैरेबियन सागर के पर्यावरण की अखंडता की रक्षा करना।
  • महान कैरेबियन के दीर्घकालिक विकास को बढ़ावा देना।
  • फोकल क्षेत्र व्यापार, परिवहन, स्थायी पर्यटन और प्राकृतिक आपदाएं हैं।

कैरेबियन राज्य का संघ (एसीएस) के संगठनात्मक ढांचा

संघ का मुख्य अंग मंत्रिस्तरीय परिषद हैं, जो की प्रमुख अंग है नीति निर्माण तथा संघ और सचिवालय के मार्गदर्शन के लिए।

वहाँ पर पांच विशेष समितियां हैं : व्यापार विकास और विदेश आर्थिक संबंध; दीर्घकालिक पर्यटन; परिवहन; आपदा जोखिम में कमी; और बजट और प्रशासन। वहाँ विशेष कोष के लिए राष्ट्रीय प्रतिनिधियों का परिषद है जो की संसाधनों को जुटाने के प्रयासों और परियोजना के विकास की देखरेख के लिए जिम्मेदार है।

कैरेबियन राज्य का संघ (एसीएस) के सदस्य राज्य

सदस्य राज्यों को चर्चा में भाग लेने का और साथ ही संघ की मंत्रिस्तरीय परिषद और विशेष समितियों की बैठकों में मतदान करने का अधिकार होगा। सदस्य राज्यों की सूची इस प्रकार है

एंटीगुआ और बारबुडा, बहामा, बारबाडोस, बेलिज, कोलंबिया, कोस्टा रिका, क्यूबा, डोमिनिका, डोमिनिकन गणराज्य, अल साल्वाडोर, ग्रेनेडा, ग्वाटेमाला, गुयाना, हैती, होंडुरास, जमैका, मैक्सिको, निकारागुआ, पनामा, सेंट किट्स और नेविस, सेंट लूसिया सेंट विंसेंट और ग्रेनेडाइंस, सूरीनाम, त्रिनिदाद और टोबैगो, वेनेजुएला।