Search

गिर राष्ट्रीय उद्यानः एशियाई शेरों का घर

गिर राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्यजीव अभयारण्य एशियाई शेरों की जीवित आबादी का अंतिम आश्रय स्थल है। यह उद्यान गुजरात के 1412 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला है। मई 2015 में एशियाई शेरों की गई 14वीं जनगणना के अनुसार इनकी आबादी बढ़ कर 523 हो गई थी (वर्ष 2010 में की गई पिछली जनगणना की तुलना में 27% अधिक)। वर्तमान में गिर राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्यजीव अभयारण्य में 109 नर, 201 मादा और 213 युवा/ शिशु/ शेर हैं।
Jul 13, 2016 16:03 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

गिर राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्यजीव अभयारण्य एशियाई शेरों की जीवित आबादी का अंतिम आश्रय स्थल है। यह उद्यान 1412 वर्ग किमी में फैला है। इसमें पर्णपाती वन है जिसमें अर्द्ध– सदाबहार और सदाबहार वनस्पति, बबूल, झाड़ियों वाले जंगल, घास के मैदान और चट्टानी पहाड़ें हैं। मई 2015 में एशियाई शेरों की गई 14वीं जनगणना के अनुसार इनकी आबादी बढ़ कर 523 हो गई थी (वर्ष 2010 में की गई पिछली जनगणना की तुलना में 27% अधिक)। वर्तमान में गिर राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्यजीव अभयारण्य में 109 नर, 201 मादा और 213 युवा/ शिशु/ शेर हैं।

गिर राष्ट्रीय उद्यान का स्थान:

Jagranjosh

स्रोत: www.girlion.in

गिर राष्ट्रीय उद्यान में वन्यजीवन:

Jagranjosh

तस्वीर स्रोत: www.girlion.in

अन्य संबंधि लेखों को पढ़ने के लिए, नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें

Bandhavgarh National Park: The land of National Animal of India

गिर राष्ट्रीय उद्यान के बारे में तथ्यः

  • गिर राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्यजीव अभयारण्य एशियाई शेरों की जीवित आबादी का अंतिम आश्रय स्थल है।
  • यह उद्यान सोमनाथ से 43 किमी (27 मील उत्तर –पूर्व), जूनागढ़ से 65 किमी(40 मील) दक्षिण– पूर्व और अमरेली से 60 किमी (37 मील) दक्षिण– पश्चिम में स्थित है।
  • सरकार ने एशियाई शेरों के संरक्षण के लिए 18 सितंबर 1965 को आदेश पारित कर सासन गिर के काफी हिस्से को वन्यजीव अभयारण्य बनाने की घोषणा की थी।
  • बतौर वन्यजीव अभयारण्य सासन गिर 1412 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला है जिसमें से 258  किमी का क्षेत्र राष्ट्रीय उद्यान के प्रमुख क्षेत्र को कवर करता है।
  • यह उद्यान 1412 वर्ग किमी (पर्णपाती वन) के क्षेत्र में है। इसमें अर्द्ध– सदाबहार और सदाबहार वनस्पति, बबूल, झाड़ियों वाले जंगल, घास के मैदान और चट्टानी पहाड़ें हैं।
  • उद्यान का ज्यादातर हिस्सा बीहड़ पहाड़ियों वाला है जिसमें उंची– उंची चोटियां और घनी वन घाटियां, चौड़े घास के मैदान वाले पठार और अलग– थलग पड़े टीले हैं।
  • गिर के जंगल जूनागढ़ के नवाबों के शिकार खेलने की जगह थे। लेकिन जब शेरों की आबादी बहुत तेजी से कम हो गई तब नवाब सर मोहम्मद रसूल खानजी बाबी ने वर्ष 1900 में गिर को "संरक्षित" क्षेत्र घोषित कर दिया।
  • मई 2015 में एशियाई शेरों की गई 14वीं जनगणना की गई। वर्ष 2015 में इनकी आबादी  523 थी (वर्ष 2010 में की गई पिछली जनगणना की तुलना में 27% अधिक)। वर्ष 2010 में आबादी 411 और 2005 में 359  थी।
  • कुल 523 की आबादी में 109 नर, 201 मादा और 213 युवा/ शिशु/ शेर हैं।
  • गिर में 523 शेर और 300 तेंदुए हैं जो इसे भारत में 'बड़ी बिल्ली' का प्रमुख स्थान बनाता है।
  • मांसाहारी पशुओं में मुख्य रूप से एशियाई शेर, भारतीय तेंदुए, भारतीय नाग, जंगली बिल्ली, पट्टीदार हायना, सुनहरे सियार, भारतीय नेवले, भारतीय कस्तूरी बिलाव और बिज्जू (honey badgers) शामिल हैं।
  • रेगिस्तानी बिल्ली और जंगल जैसे धब्बों वाली बिल्लियां भी कभी– कभी देखी जाती हैं।
  • गिर के मुख्य शाकाहारी पशुओं में चीतल, नीलगाय, सांभर, चौसिंगा, चिंकारा और जंगली सूअर हैं।
  • आस– पास के इलाके से आने वाले काले हिरण कभी– कभी अभयारण्य में दिख जाते हैं।
  • गिर में मगरमच्छ (marsh crocodile) का आबादी बहुत अधिक है। यह अभयारण्य में दर्ज किए गए सरीसृपों और उभयचर की 40 प्रजातियों में से एक हैं।
  • उद्यान के चेकलिस्ट में पक्षियों की 250 से अधिक प्रजातियां हैं। अभयारण्य के घास के मैदानों में खरमोर (Lesser Florican) और सारस क्रेन (Sarus Crane) जैसी दुर्लभ प्रजाती के पक्षियों को देखा गया है। 

गिर राष्ट्रीय उद्यान कैसे पहुंचें:

चूंकि यह उद्यान वर्तमान में दुनिया में एशियाई शेरों का एकमात्र निवास स्थान बचा है, इसकी वजह से यह बड़ी संख्या में पर्यटकों का ध्यान आकर्षित करता है। एक बार लगभग विलुप्त होने के बाद, संरक्षण के प्रयासों द्वारा इनकी संख्या को फिर से बढ़ाया जा रहा है। अभयारण्य प्रति वर्ष 16 अक्टूबर से 15 जून के बीच पर्यटकों के लिए खुला रहता है।

उद्यान पहुंचने के लिए सबसे अच्छा रहेगा आप जूनागढ़ पहुंचें। जूनागढ़ देश के कई प्रमुख शहरों से जुड़ा है। आप अहमदाबाद और राजकोट एवं अन्य प्रमुख शहरों से रेलगाड़ी ले सकते हैं। इसके बाद, गिर राष्ट्रीय उद्यान पहुंचने में करीब डेढ़ घंटे का समय लगता है।

क्विज हल करने के लिए नीचे क्लिक करें ...

भारतीय अर्थव्यवस्था क्विज