Search

दक्षिण एशियाई नदियों में पाई जाने वाली डॉल्फिनः तथ्यों पर एक नजर

दक्षिण एशियाई नदियों में पाई जाने वाली डॉल्फिन, मीठे पानी या नदियों में पाई जाने वाली डॉल्फिन होती है जो भारत, बांग्लादेश, नेपाल और पाकिस्तान में पाई जाती है। इसकी दो प्रजातियां होती हैं– गंगा नदी डॉल्फिन और सिंधु नदी डॉल्फिन | गंगा नदी डॉल्फिन मुख्य रूप से गंगा और ब्रह्मपुत्र नदियों एवं इनकी सहायक नदियों में बांग्लादेश, भारत और नेपाल में पाई जाती हैं |
Jul 20, 2016 18:04 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

दक्षिण एशियाई नदियों में पाई जाने वाली डॉल्फिन (The South Asian river dolphin– Platanista gangetica) मीठे पानी या नदियों में पाई जाने वाली डॉल्फिन होती है जो भारत, बांग्लादेश, नेपाल और पाकिस्तान में पाई जाती है। इसकी दो प्रजातियां होती हैं– गंगा नदी डॉल्फिन (पी.जी. गैंगेटिका, Ganges river dolphin, P. g. gangetica) और सिंधु नदी डॉल्फिन (पी.जी. माइनर– Indus river dolphin, P. g. minor)। गंगा नदी डॉल्फिन मुख्य रूप से गंगा और ब्रह्मपुत्र नदियों एवं इनकी सहायक नदियों में बांग्लादेश, भारत और नेपाल में पाई जाती हैं जबकि सिंधु नदी डॉल्फिन पाकिस्तान में सिंधु नदी में और उसकी सहायक नदियों– ब्यास एवं सतलुज में पाई जाती हैं।

दक्षिण एशियाई नदी डॉल्फिन का स्थानः

Jagranjosh

नदी डॉल्फिन की तस्वीर:

Jagranjosh

छवि स्रोतः www.pinterest.com

नदी डॉल्फिन के बारे में तथ्यः

1. जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है, नदी डॉल्फिन नदियों में रहती हैं और मीठे पानी में जीवित रहने में सक्षम हैं।

2. मीठेपाने में जीवित रहने में डॉल्फिन की सिर्फ चार प्रजातियां ही सक्षम हैं–

क. गंगा नदी डॉल्फिन (Ganges River Dolphins)
ख. सिंधु नदी डॉल्फिन (Indus River Dolphins)
ग. अमेजन नदी डॉल्फिन (Amazon River Dolphins)
घ. चीनी नदी डॉल्फिन (Chinese River Dolphins)

3. गंगा नदी डॉल्फिन और सिंधु नदी डॉल्फिन बांग्लादेश, भारत, नेपाल और पाकिस्तान में पाई जाती हैं।

4. गंगा नदी डॉल्फिन मुख्य रूप से भारत, बांग्लादेश एवं नेपाल में गंगा एवं ब्रह्मपुत्र नदियों एवं उसकी सहायक नदियों में मिलती हैं।

एशियाई चीताः तथ्यों पर एक नजर

5. गंगा नदी डॉल्फिन के दांत बहुत लंबे होते हैं और उसका मुंह बंद भी हो तब भी दिखाई पड़ते हैं।

6. नदी में पाई जाने वाली डॉल्फिन आकार में अलग – अलग होती है। यह उनके आवास स्थान पर निर्भर करता है।

7. कुछ डॉल्फिन 8 फीट तक लंबी होती हैं लेकिन इनमें से ज्यादातर इससे बहुत छोटी होती हैं।

8. ये ग्रे, काला, भूरा, गुलाबी, पीला और सफेद जैसे अलग– अलग रंगों की होती हैं। अलग– अलग रंगों की वजह से अक्सर इन्हें गलती से जलीय जीवन के अन्य रूप समझ लिया जाता है।

9. अमेजन, गंगा, यांग्त्सीक्यांग, मेकांग और सिंधु नदियां गहरे, धुंधले पानी और प्रदूषण से भरी हैं। इसलिए डॉल्फिन की अन्य प्रजातियां ( सिर्फ नदी डॉल्फिन को छोड़ कर) इनके पानी में जीवित रहने में सक्षम नहीं हैं।

10. ये तेजी से तैर नहीं सकतीं लेकिन ये अपनी चाल में कुशल होती हैं।

11. नदी वाली डॉल्फिनों की लंबी, पतली चोंच और लचीली गर्दन होती है जो इन्हें अपना शिकार बहुत तेजी से पकड़ने में मदद करती है। साथ ही यह इसे तेजी और बहुत आसानी से मुड़ने में भी सक्षम बनाता है।

12. नदी डॉल्फिन आमतौर पर अकेले या जोड़ों में मिलती हैं लेकिन खाना खाने के लिए नदी डॉल्फिन अक्सर बड़े समूहों में आती हैं।

13. नदी डॉल्फिन मुख्य रूप से गहरे रंग वाले, धीमी गति से बहने वाले जल में पाई जाति हैं लेकिन बाढ़ के मौसम में ये घास के मैदानों और जलमग्न जंगलों में भी पाई जाती हैँ।

14. शिशु नदी डॉल्फिन का जन्म पानी के भीतर होता है।

15. मादा डॉल्फिन की गर्भावस्था 9 माह की होती है और एक बार में ये एक शिशु को जन्म देती हैं। आमतौर पर शिशु 30 इंच लंबा और 22 पाउंड वजनी होता है। ज्यादातर शिशु जुलाई से सितंबर के महीने में पैदा होते हैं।

16. यौन परिपक्वता पशु के आकार के आधार पर निर्भर करती है। मादा जब 5.5 फीट लंबी हो जाती हैं तो उनमें यौन परिपक्वता आ जाती है जबकि नर 7 फीट की लंबाई प्राप्त करने के बाद ही यौन रूप से परिपक्व होते हैं।

व्यवहार

नदि डॉल्फिन बहुत सामाजिक होती हैं और अन्यों के जैसे ही ये समूह का निर्माण करती हैं। एक समूह में कुछ एक डॉल्फिन से लेकर 100 से अधिक डॉल्फिन भी हो सकती हैं। युवा डॉल्फिन को समूह के मध्य में रख कर सुरक्षित किया जाता है। मादाएं सहयोगी प्रयास में एक दूसरे के शिशुओं का ख्याल रखती हैं।  

आहार

नदी डॉल्फिन के आहार का मुख्य घटक होती हैं मछलियां। हालांकि ये झींगा, मेढ़क जैसे अन्य जीवों को भी खा सकती हैं। मछलियों के समूह को आसानी से प्राप्त करने के लिए ये कई अलग– अलग प्रकार की तकनीकों का प्रयोग करती हैं। आमतौर पर, इन प्रयासों में टीमवर्क और सहयोग होता है। तालमेल के साथ होने वाली इस क्रिया को देखना दिलचस्प रहता है। बड़े शिशुओं को पर्याप्त भोजन मिल सके, इसके लिए ये अक्सर छोटे समूहों में बंट जाती हैं।

नदी डॉल्फिन तथ्य

किंग्डम:

जंतु (Animalia)

जाति (Phylum):

कोर्डेटा (Chordata)

श्रेणी (Class):

मेमेलिया (Mammalia)

ऑर्डर (Order):

सीटेशीअ (Cetacea)

फैमली (Family):

प्लाटानिस्टोइडीए (Platanistoidea)

प्रजाति (Genus):

प्लाटानीस्टिडीए (Platanistidae)

वैज्ञानिक नामः

प्लाटानिस्टोइडीए (Platanistoidea)  

प्रकार:

स्तनधारी

आहार:

मांसाहारी

आकार:

2-2.5 मी (72-98इंच)

वजन:

100-200किग्रा (220-440पाउंड)

सबसे तेज गति:

30 किमी/घं. (18एमपीएच)

जीवनकाल:

12-18 वर्ष

जीवनशैली:

समूह

संरक्षण की स्थितिः

विलुप्तप्राय

रंग :

ग्रे, गुलाबी

त्वचा का प्रकार :

चिकनी

पसंदीदा भोजन :

मछली

आवास:

बड़े उष्णकटिबंधीय नदियां और नदी के चौड़े मुहाने

एक बार में शिशु को जन्म देती है:

1

मुख्य शिकार:

मछली, झींगा, मेढ़क

परभक्षी:

मनुष्य

विशेषताएं :

लंबी, पतली चोंच और लचीली गर्दन

इन्हें भी पढ़े ...

क्या आप ब्लू ह्वेल्स के बारे में ये बातें जानते हैं?

क्या आप लाल पांडा के बारे में ये तथ्य जानते हैं?