Search

नदियों के किनारे स्थित भारतीय शहर

उपजाऊ भूमि, जल की उपलब्धता, मछ्ली पकड़ने की सुविधा, जल परिवहन की सुविधा आदि के कारण प्राचीन काल से ही नदियाँ मानव निवास के अधिक अनुकूल रहीं है और अनेक प्राचीन सभ्यताओं का उदय नदियों के किनारे हुआ है| इसीलिए भारत के अनेक शहरों का विकास नदियों के किनारे हुआ है|
May 10, 2016 12:43 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

प्रायः निश्चित मार्ग में प्रवाहमान प्राकृतिक जलधारा को नदी कहा जाता है| नदियाँ प्राचीन काल से ही मानवों को अपनी ओर आकर्षित करती रही हैं और वे नदियों के किनारे बसते रहे हैं| उपजाऊ भूमि, जल की उपलब्धता, मछ्ली पकड़ने की सुविधा, जल परिवहन की सुविधा आदि के कारण प्राचीन काल से ही नदियाँ मानव निवास के अधिक अनुकूल रहीं है और अनेक प्राचीन सभ्यताओं का उदय नदियों के किनारे हुआ है|  

शहर

नदी

सूरत

ताप्ती/तापी

विजयवाड़ा           

कृष्णा

हैदराबाद               

मूसी

बद्रीनाथ              

अलकनंदा

जबलपुर               

नर्मदा

दुर्गापुर                  

दामोदर

ग्वालियर            

चंबल

कोटा

चंबल

धौलपुर                 

चंबल

झाँसी     

बेतवा

जमशेदपुर            

सुवर्णरेखा

नासिक 

गोदावरी

उज्जैन                  

क्षिप्रा

अहमदाबाद         

साबरमती

कोलकाता (पूर्व का लंदन)

हुगली

औरंगाबाद

कवना

आगरा

यमुना

दिल्ली  

यमुना

इलाहाबाद            

गंगा, यमुना का संगम

हरिद्वार

गंगा

कानपुर

गंगा

पटना                     

गंगा

श्रीरंगपट्टनम

कावेरी

त्रिचुरापल्ली

कावेरी

लखनऊ

गोमती

जौनपुर

गोमती

डिब्रुगढ़

ब्रह्मपुत्र

गुवाहाटी

ब्रह्मपुत्र

कटक

महानदी

संबलपुर

महानदी

श्रीनगर

झेलम

मदुरै

 वैगेई

पणजी

मांडवी

पूणे              

मूथा

अयोध्या             

सरयू