Search

बहुआयामी निर्धनता सूचकांक

बहुआयामी निर्धनता सूचकांक की शुरुआत 2010 में ओक्सफोर्ड निर्धनता व मानव विकास कार्यक्रम तथा यूएनडीपी ने की.
Aug 4, 2014 17:11 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

उत्पत्ति

बहुआयामी निर्धनता सूचकांक की शुरुआत 2010 में ओक्सफोर्ड निर्धनता व मानव विकास कार्यक्रम तथा यूएनडीपी ने की. यह निर्धनता के लिए आय के अतिरिक्त उससे परे जाकर अन्य कारकों द्वारा निर्धनता के कारण जानने का प्रयास करता है. इसने पहले से चल रहे मानव निर्धनता सूचकांक को समाप्त कर दिया.

परिभाषा

बहुआयामी निर्धनता सूचकांक अत्यधिक निर्धनता निर्धानता के विभिन्न आयामों की एक सूची प्रदान करता है. यह उन लोगों की संख्या बताता है जो की कई तरीकों से शोषित हैं तथा उन वांचनों की भी जानकारी देता है जिनसे की यह ग़रीब लोग मुकाबला कर रहे हैं.

यह सूचकांक भी मानव विकास सूचकांक की तरह तीन तत्वों का प्रयोग करता है:

- स्वास्थ्य
- शिक्षा
- जीवन स्तर

इनके लिए निम्न सोचकों का प्रयोग किया जाता है

स्वास्थ्य: शिशु मृत्यु दर, पोषण

शिक्षा: विद्यालय जाने के वर्ष, नामांकित विद्यार्थी

जीवन स्तर: भोजन के लिए प्रयोग किया जाने वाला ईंधन, शौचालय, जल, विद्युत , ज़मीन व आवश्यक सामग्री.