Search

भारत में स्थित प्रमुख दर्रे

पर्वतों के आर-पार विस्तृत सँकरे और प्राकृतिक मार्ग, जिससे होकर पर्वतों को पार किया जा सकता है, दर्रे कहलाते हैं| परिवहन, व्यापार, युद्ध अभियानों और मानवीय प्रवास में इन दर्रों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है| भारत के अधिकतर दर्रे हिमालय क्षेत्र में पाये जाते हैं|
May 10, 2016 13:10 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

पर्वतों के आर-पार विस्तृत सँकरे और प्राकृतिक मार्ग, जिससे होकर पर्वतों को पार किया जा सकता है, दर्रे कहलाते हैं| परिवहन, व्यापार, युद्ध अभियानों और मानवीय प्रवास में इन दर्रों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है| भारत के अधिकतर दर्रे हिमालय क्षेत्र में पाये जाते हैं| 

भारत में स्थित महत्वपूर्ण दर्रे

नाम

राज्य

ऊँचाई (फीट )

 विभाजक/संयोजक

असीरगढ़

मध्य प्रदेश



बनिहाल

जम्मू एवं कश्मीर

9,291

जम्मू एवं कश्मीर

बारा ला चाला

हिमाचल प्रदेश

16,400

यह मंडी और लेह को आपस में जोड़ता है|

बोमडिला

अरुणाचल प्रदेश



चांग ला

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)

17,585

लेह और चांगथांग

चंसल

हिमाचल प्रदेश

14,830


देहरा कम्पास

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)



देब्सा

हिमाचल प्रदेश

17,520


डिफू

अरुणाचल प्रदेश

4,587


डोंगखाला

सिक्किम

12,000


धूमधर कंडी

उत्तराखंड



फोटू ला

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)

13,451


गोएचा ला

सिक्किम

16,207


हल्दी घाटी

राजस्थान



इंद्रहार

हिमाचल प्रदेश

14,473


जेलेप ला

सिक्किम

14,300

सिक्किम और भूटान के बीच के मार्ग उपलब्ध कराता है और इसका निर्माण तीस्ता नदी द्वारा किया गया है|

खारडुंग ला

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)

17,582

लेह और नूब्रा

कोंग्का

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)

16,965

लद्दाख और अक्साईचिन

लानक ला

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)

17,933

लद्दाख और तिब्बत

कुंजुम

हिमाचल प्रदेश (लाहौल-स्पीति)

14,931

लाहौल और स्पीति

काराकोरम

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)


लद्दाख और सिंजियांग

लिपुलेख

उत्तराखंड

17,500


लुंगालाचा ला

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)

16,600


लम्खागा

हिमाचल प्रदेश

17,336


मार्सिमिक ला

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)

18,314


मयाली

उत्तराखंड

16,371


माना ला

उत्तराखंड

18,399

कैलाश और मानसरोवर को जाने वाला मार्ग इसी से होकर गुजरता है

नामिक ला

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)

12,139


नाथू ला

सिक्किम

14,140

यह दार्जिलिंग व चुंबी घाटी (सिक्किम) और तिब्बत के बीच मार्ग उपलब्ध कराता है

पलक्कड गैप

केरल

750

केरल और तमिलनाडु

थामारासेरी

केरल (वायनाड)

1,700

मालाबार और मैसूर

शेनकोट्टा

केरल (कोल्लम)

690


पेंसी ला

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)



रेजांग ला

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)



रोहतांग

हिमाचल प्रदेश

13,051

मनाली और लेह को आपस में जोड़ता है और पीर पंजाल पहाड़ियों में स्थित है|

सासेर ला

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)

17,753

नूब्रा और सियाचिन हिमनद

सेला

अरुणाचल प्रदेश

14,000


शिपकी ला

हिमाचल प्रदेश


शिमला से तिब्बत को को जाने वाला मार्ग यहीं से गुजरता है और सतलज नदी इसी दर्रे से होकर भारत में प्रवेश करती है|

सिया ला

जम्मू एवं कश्मीर (सियाचिन हिमनद)

18,337


शिंगों ला

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)



स्पंगुर गैप

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)



ग्योंग ला

जम्मू एवं कश्मीर (सियाचिन हिमनद)

18,655


बिलाफ़ोंड ला

जम्मू एवं कश्मीर (सियाचिन हिमनद)

17,881


सिन ला

उत्तराखंड



तंगलांग ला

जम्मू एवं कश्मीर (लद्दाख)

17,583


ट्रैल्स

उत्तराखंड

17,100


ज़ोजिला

जम्मू एवं कश्मीर

12,400

कश्मीर और लद्दाख

नीति

उत्तराखंड


कैलाश और मानसरोवर को जाने वाला मार्ग इसी से होकर गुजरता है|