Search

मध्य प्रदेश के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य

मध्य प्रदेश, भारत के मध्य क्षेत्र में स्थिति है और इसीलिए इसे गढ़ राज्य भी कहा जाता है। मध्यप्रदेश खनिज संसाधनों के मामले में बहुत समृद्ध है। भारत में हीरे और तांबे के सबसे बड़े भंडार यहीं पाए जाते हैं। वर्ष 1956 में यह प्रदेश अस्तित्व में आया था।
Jun 20, 2016 15:32 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

मध्य प्रदेश, भारत के मध्य क्षेत्र में स्थिति है और इसीलिए इसे गढ़ राज्य भी कहा जाता है। मध्यप्रदेश खनिज संसाधनों के मामले में बहुत समृद्ध है। भारत में हीरे और तांबे के सबसे बड़े भंडार यहीं पाए जाते हैं। वर्ष 1956 में यह प्रदेश अस्तित्व में आया था। यहां की जलवायु उपोष्णकटिबंधीय है। अप्रैल से जून के महीने में गर्म शुष्क गर्मी होती है और जुलाई से सितंबर के बीच मानसून की वर्षा। मध्यप्रदेश में कुल 52 जिले हैं। यहां की 92% आबादी हिन्दू और बाकी की 8% मुस्लिम, जैन, इसाई, सिख और बौद्ध है।

Jagranjosh

Source : mapsofindia.com

स्थलाकृति (Topography):-

यह प्रदेश 3,08,000 वर्ग किमी के क्षेत्रफल साथ, राजस्थान के बाद भारत का दूसरा सबसे बड़ा राज्य है। यह उत्तर मध्य भाग में भारत के प्रायद्वीपीय पठार का हिस्सा है जिसकी सीमा उत्तर में गंगा– यमुना के मैदान, पश्चिम में अरावली, पूर्व में छत्तीसगढ़ के मैदान और दक्षिण में ताप्ती घाटी एवं महाराष्ट्र के पठार में वर्गीकृत की जा सकती है।

मध्य प्रदेश के लाभ (Advantage of Madhya Pradesh):-

क) 308,000 वर्ग किमी से अधिक इलाके में फैला मध्यप्रदेश भारत का दूसरा सबसे बड़ा राज्य है।

ख) प्राकृतिक संसाधनों – इंधन/ खनिज/ कृषि/ जैव आदि में समृद्ध।

ग) जमीन का 31% हिस्सा वन क्षेत्र में आता है जिसमें मूल्यवान चिकित्सीय– हर्बल पौधों की कई दुर्लभ प्रजातियां पाईं जाती हैं।

घ) सोयाबीन, दालों, चना और लहसुन का सबसे बड़ा उत्पादक।

ङ) भारत में सीमेंट उत्पादन में तीसरे स्थान पर।

क्षेत्रफल

236,286 वर्ग. किमी

आबादी

72,597,565 (2011 की जनगणना)

कार्यालय की मुख्य भाषा  

हिन्दी

जलवायु

गर्मी – मार्च से जून ( अधि. ताप.  45 डि.से.) सर्दी– नवं. से फर.  (न्यू. ताप. 5 डि.से.)

राजधानी

भोपाल

लोकसभा सदस्य

29

विधानसभा

एक सदनीय

हवाईअड्डे

भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, खजुराहो, जबलपुर

प्रमुख शहर

इंदौर (सबसे बड़ा शहर), भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, सागर

उत्सव

खजुराहो नृत्य महोत्सव, तानसेन संगीत महोत्सव, ग्वालियर शिवरात्रि मेला, पचमढ़ी, नवरात्रि महोत्सव (उज्जैन), मालवा उत्सव उज्जैन और इंदौर

अर्थव्यवस्था का आकार  

85 बिलियन अमेरिकी डॉलर), कुल कामकाजी आबादी का 70% कृषि क्षेत्र पर निर्भर करता है।

साक्षरता

69.72%

जिले

51

लिंग अनुपात ( 2011 की जनगणना के अनुसार)

931 प्रति हजार

मुख्य लोक नृत्य

मटकी, गणगौर, बधाई, नौरात्र, भगोरिया

प्रमुख नदियां

नर्मदा, बेतवा, ताप्ती, चंबल, सोन, महानदी, शिप्रा, सिंध और इंद्रावती.

प्रमुख खनिज  

इस राज्य में भारत के हीरे और तांबे के सबसे बड़े भंडार हैं। अन्य प्रमुख खनिजों में– कोयला, कोल–बेड मिथेन, मैग्नीज और डोलोमाइट हैं।

पर्यटन और ऐतिहासिक स्थान

खजुराहो, मांडू, चाचाई झरना , भीमबेटका की गुफाएं , सांची स्तूप , ग्वालियर का किला, पंचमढ़ी, चंदेरी, ओरछा का किला, बाघ की गुफाएं, ओंकारेश्वर, महेश्वर, उज्जैन, अमरकंटक