Search

विश्व की 10 सबसे खतरनाक नौकरियां

विश्व में मानव ने अपनी यात्रा को पाषाण युग से प्रारंभ किया, और आज अनेक बदलावों के दौर से गुजरते हुए मानव जीवन काफी आगे निकल चला है। प्रारंभिक मानव की जीवनचर्या भोजन को आधारभूत आवश्यकता मानते हुए प्रारंभ हुई और उत्तरोत्तर भोजन, वस्त्र और आवास की आधारभूत संरचना तक पहुंची | मनुष्य को अपने भरण पोषण के लिए किसी न किसी काम को करना ही पड़ता है और वह कुछ ऐसे कार्यो को भी करता है जिससे उसका अस्तित्व भी खतरे में हेाता है | ऐसी 10 नौकरियों के बारे में विवरण नीचे दिया गया है।
Aug 5, 2016 10:32 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

विश्व में मानव ने अपनी यात्रा को पाषाण युग से प्रारंभ किया, और आज अनेक बदलावों के दौर से गुजरते हुए मानव जीवन काफी आगे निकल चला है। प्रारंभिक मानव की जीवनचर्या भोजन को आधारभूत आवश्यकता मानते हुए प्रारंभ हुई और उत्तरोत्तर भोजन, वस्त्र और आवास की आधारभूत संरचना तक पहुंची और यह संरचना आज भी मानव की प्राथमिक आवश्यकता बनी हुई है, जिसे सुचारू ढंग से चलाने के लिए आर्थिक आवश्यकता मानव को किसी क्षेत्र को अपनाने के लिए बाध्य करती है, और वह कुछ ऐसे कार्यो को भी अपनाता है जिससे उसका अस्तित्व भी खतरे में हेाता है| ऐसी 10 नौकरियां निम्नांकित ​है।

1. लकड़ी / जंगल काटने वाले कर्मचारी : ये वो कर्मचारी है जिन्हें जंगल के वृक्ष काटने की जिम्मेदारी दी जाती है। हालांकि इन कर्मचारियों को इनके द्धारा उठाए जाने वाले खतरे की तुलना में कम पारिश्रमिक प्राप्त होता है। इस कार्य को सबसे खतरनाक नौकरियों की श्रेणी में सबसे पहले स्थान पर रखने का कारण यह है कि इस क्षेत्र में काम करने वाले प्रति 100,000 लोगों में से 12800 लोगों का जीवन खतरे में पड़ता है।

Jagranjosh

Image source:commons.wikimedia.org

2. मछुआरें / मछली पकड़ने वाले कर्मचारी : मछुआरे के रूप में काम करने वाले कर्मचारी गहरे समुद्र में उतरते हैं और अपने काम को अंजाम देते हैं। यह कार्य विश्व के सबसे खतरनाक कार्यों में से एक गिने जाने का कारण प्रति 100000 कर्मचारियों मे से 11700 का जीवन गहन खतरे में आना है।

Jagranjosh

Image source:indianexpress.com

3. विमान चालक एवं अभियंता : विमान संचालन में दो प्रकार के कर्मी होते हैं| पहले वे जो अतुलनीय सुरक्षा के बीच कार्य करने वाले वाणिज्यिक उड़ान संचालित करते हैं तथा दूसरे वे जिनको राहत एवं बचाव की जिम्मेदारी दी जाती है। नि:संदेह ये पूर्णत: प्रशिक्षित कर्मचारी हैं लेकिन बुरे मौसम और अक्सर अग्निकाण्डों से लोगो को बचाने वाले यह कर्मचारी हमेशा खतरे के साये में होते है। इस काम में प्रति 100000 में से 5340 लोग अपना जीवन खो देते हैं

Jagranjosh

Image source:yukonworkfutures.gov.yk.ca

क्या आप दुनिया के 10 सबसे पुराने पेड़ों के बारे में जानते हैं?

4. खतरनाक सामग्री उठाने वाले लोग : यह एक निहायत ही खतरनाक क्षेत्र है जिसमें काम करने वाले लोग पर्यावरणीय समस्याओं को रोकने की जिम्मेदारी उठाते हैं। ये अक्सर ही प्रयोग में आ चुके रसायन और यहां तक कि रेडियोधर्मी वस्तुओं को आम जनजीवन से दूर रखने का प्रयास करते हैं। इस काम के खतरे का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि प्रति 100000 में से 4700 लोग जीवन खोने को विवश है। इनके सुरक्षा आवरण भी कभी—कभी अक्षम प्रतीत होते है।

Jagranjosh

Image source:www.zdnet.com

5. छत निर्माता कर्मचारी : ये वो कर्मचारी हैं जो छत के निर्माण का कार्य करते हैं। ये लोग काफी ऊंचाई पर काम करते हुए अपने जीवन को खतरे में डालते हैं, जिसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि प्रत्येक 100000 में से 4050 की जान खतरे में पड़ती है।

Jagranjosh

Image source:jasonendaya.wordpress.com

6. संरचनात्मक लौह एवं इस्पात कर्मचारी :— ये कर्मचारी अपनी तकनीकी क्षमता के आधार पर भर्ती किए जाते है लेकिन इनके कार्य में ये एक दोधारी तलवार की स्थिति के समक्ष होते है, जहाँ कार्य करते हुए एक तो ऊंचाई एवं दूसरा तैयार सामग्री, दोनो ही ओर से खतरा उठाते हैं। ये कर्मचारी कितनी खतरनाक अवस्था झेलते है इसका अंदाजा इसी बात से लगता है कि प्रत्येक 100000 में से 3700 लोग जीवन से हाथ धो बैठते हैं।

Jagranjosh

Image source:www.newsworks.org

7. हाथ श्रम एवं सामग्री परिवाहक : दुनिया में हर क्षेत्र इस प्रकार के मजदूरों का ऋणी है। ये मजदूर सभी सामग्रियों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक छोड़ते हैं या उसका प्रयास करते हैं। यह क्षेत्र अपने हिसाब से अपने कर्मचारियों को सुरक्षा देने का यत्न करता है, परंतु फिर भी प्रति 100000 में से 2700 लोगों की मृत्यु इस कार्य को खतरनाक कार्यों की श्रेणी में खड़ा करती है।

Jagranjosh

Image source:www.ioannis-kapodistrias.gr

जानें भारत की 10 सबसे तेज गति की ट्रेन कौन सी हैं?

8. लाइन संस्थापक एवं मिस्त्री: ये वो कर्मचारी है जिन्हें विद्युतिय आदेशों के मध्य अपने कार्य का संचालन करना होता है। खराब मौसम या अन्य कोई कारण जब भी आपूर्ति बाधित करते है, तो इनका कार्य प्रारंभ होता है। हालांकि इनकी सुरक्षा के प्रबंध किए जाते हैं पर फिर भी 100000 मे से 2300 जिंदगियाँ चली जाती है।

Jagranjosh

Image source:www.researchopinions.co.uk

9. भारी वाहन चालक :— भारी वाहनों के चालक अक्सर सामान वाहक ​गाड़ियों एवं अन्य वाहनों को नियंत्रित करते है। ये चालक अपनी एक निश्चित गति को बनाए रखने का प्रयास करते है किन्तु फिर भी इनका जीवन हमेशा खतरों में होता है। बहुत ही भारी-मशीनें कभी—कभी नियंत्रण के बाहर भी होती है और प्रति 100000 में से 2210 जीवन खो देते है तथा अनेकों कर्मचारी गंभीर रूप से चोटिल होते है।

Jagranjosh

Image source:www.fastcodesign.com

10. किसान, पशु फार्म प्रबंधक एवं कृषि प्रबंधक : वर्तमान समय में हर क्षेत्र ने तकनीकी क्रान्ति को अपनाया है, और इन क्षेत्रों में भी तकनीकों के प्रयोग के कारण खतरे बढे हैं, अत: यह कार्य भी खतरों में आ गया है। प्रति 100000 में से 2100 जीवन की क्षतियां इस बात की पुष्टि करती है।

Jagranjosh

Image source:www.bbc.com

विश्व के पांच रहस्यमय स्थल

पर्यावरण और पारिस्थितिकीय क्विज