Search

सरिस्का टाइगर रिजर्वः तथ्यों पर एक नजर

सरिस्का टाइगर रिजर्व अरावली हिल्स की गोद में राजस्थान के अलवर जिले में है। सरिस्का टाइगर रिजर्व या सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान अलवर जिले में शिकार करने के लिए आरक्षित क्षेत्र था। वर्ष 1955 में इसे वन्यजीव अभयारण्य का दर्जा मिला और वर्ष 1978 में यह सरिस्का टाइगर रिजर्व बना। यह 866 वर्ग किमी के इलाके में फैला है। सरिस्का रॉयल बंगाल टाइगर और तेंदुआ के लिए प्रसिद्द हैं।
Jul 14, 2016 17:39 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

सरिस्का टाइगर रिजर्व अरावली हिल्स की गोद में राजस्थान के अलवर जिले में है। सरिस्का टाइगर रिजर्व या सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान अलवर जिले में शिकार करने के लिए आरक्षित क्षेत्र था | वर्ष 1955 में इसे वन्यजीव अभयारण्य का दर्जा मिला और वर्ष 1978 में यह सरिस्का टाइगर रिजर्व बना। यह 866 वर्ग किमी के इलाके में फैला है। सरिस्का में रहने वाले वन्यजीवों में रॉयल बंगाल टाइगर, तेंदुआ, जंगली बिल्ली, कैरकल, धारीदार लकड़बग्घा (हायना), सुनहरा सियार, चीतल, सांभर, नीला सांड, चिंकारा, चौसिंगा शामिल हैं।

सरिस्का टाइगर रिजर्व का स्थान–

Jagranjosh

Image source: allindiatravelinfo.com

Jagranjosh

Image source:: www.ghumakkar.com

Jagranjosh

सरिस्का टाइगर रिजर्व के बारे में तथ्यः

1. सरिस्का टाइगर रिजर्व अरावली हिल्स की गोद में राजस्थान के अलवर जिले में स्थित है।

2. वर्ष 1955 में इसे वन्यजीव अभयारण्य का दर्जा मिला और वर्ष 1978 में यह सरिस्का टाइगर रिजर्व बना।

3. यह 866 वर्ग किमी के इलाके में फैला है।

4. सरिस्का में रहने वाले वन्यजीवों में रॉयल बंगाल टाइगर, तेंदुआ, जंगली बिल्ली, कैरकल, धारीदार लकड़बग्घा (हायना), सुनहरा सियार, चीतल, सांभर, नीला सांड, चिंकारा, चौसिंगा शामिल हैं।

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान: दुनिया के विख्यात एक ‘सींग वाले गैंडे का घर’

5. सरिस्का में मिलने वाली वनस्पतियों में ढोक वृक्ष, सालार, कडाया, ढाक, गोल, बेर, खैर, बरगद, अर्जुन, गुगल और बांस आदि हैं।

6. सरिस्का की स्थलाकृति कंटीली झाड़ियों वाले शुष्क वन, सूखे पर्णपाती जंगल, चट्टानें और घास से भरी है।

7. यह तलवृक्ष के आस–पास पाए जाने वाले रीसस बंदरों की बड़ी आबादी के लिए भी प्रसिद्ध है।

8. पक्षीयों में यहां मोर, ग्रे पार्ट्रिज, बु क्वेल, सैंड ग्रूज, ट्री पाई, सुनहरी पीठ वाला कठफोड़वा, क्रेस्टेड सर्पेंट ईगल और ग्रेट इंडियन हॉर्न्ड आउल पाए जाते हैं।

9. इस उद्यान में कंकरवाड़ी किले के तौर पर ऐतिहासिक स्थान है। इसका निर्माण राजा जय सिंह द्वितीय ने कराया था। कंकरवाड़ी किला सरिस्का टाइगर रिजर्व के मध्य में स्थित है।

10. मुगल बादशाह औरंगजेब ने सिंहासन का उत्तराधिकार प्राप्त करने के लिए अपने भाई दारा शिकोह को कंकरवाड़ी किले में कैद किया था।

सांची स्तूप : भारत का प्रसिद्ध बौद्ध स्मारक

11. पांडव युग से संबंधित भगवान हनुमान का एक प्रसिद्ध मंदिर पांडुपोल में स्थित है।

12. सरिस्का तक जाने का रास्ता बहुत अच्छा है और आप दिल्ली से दिल्ली धारूहेड़ा, अलवर, सरिस्का के रास्ते यहां आसानी से पहुंच सकते हैं।

13. सरिस्का टाइगर रिजर्व में निजी वाहनों का प्रवेश वर्जित है। हालांकि सिर्फ मंगलवार और शनिवार को सरिस्का टाइगर रिजर्व में निजी वाहनों को प्रवेश की इजाजत दी गई है।

14. सरिस्का रिजॉर्ट के बेहद नजदीक स्थित है सीलिसेढ़ झील। इसकी सुंदरता अद्भुत है। आप यहां पैडल से चलने वाले नाव, मोटर बोट, पिस्टल बोट, बनाना बोट या रोविंग बोट सीलिसेढञ झील, जेट स्की एवं वाटर जोर्बिंग और स्कूबा डाइविंग का आनंद ले सकते हैं।

Jagranjosh

(सीलिसेढ़ झील में वाटर जोर्बिंग)

Image source: www.aliexpress.com

यदि आप ‘पर्यावरण और पारिस्थितिकीय’ पर क्विज हल करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें...

पर्यावरण और पारिस्थितिकीय क्विज