सुषमा स्वराज

सुषमा स्वराज पंद्रहवीं लोकसभा में विपक्ष की नेता थीं और वर्तमान में नवनियुक्त मोदी सरकार में विदेश मंत्री के रूप में सेवारत हैं।
Updated: Dec 31, 2014 11:33 IST

Sushma Swaraj

सुषमा स्वराज पंद्रहवीं लोकसभा में विपक्ष की नेता थीं और वर्तमान में नवनियुक्त मोदी सरकार में विदेश मंत्री के रूप में सेवारत हैं। वह भारतीय जनता पार्टी की एक प्रमुख राजनीतिज्ञ है। सुषमा स्वराज तीन बार विधान सभा के सदस्य के रूप में और 6 बार संसद सदस्य के रूप में निर्वाचित की गयी है। वह विभिन्न पदों पर रहते हुए कई सांस्कृतिक और सामाजिक संस्थाओं के साथ जुडी रही हैं। वह 25 साल की उम्र में हरियाणा की सबसे कम उम्र की कैबिनेट मंत्री बनी। उल्लेखनीय है कि वह दिल्ली की मुख्यमंत्री भी रह चुकी हैं।

पारिवारिक विवरण

सुषमा स्वराज का विवाह श्री स्वराज कौशल से हुआ है। उनके पति भारत के सुप्रीम कोर्ट में आपराधिक मामलो के एक वरिष्ठ वकील हैं। वह वर्ष 1990 से वर्ष 1993 तक मिजोरम के राज्यपाल के रूप में नियुक्त रहे। वह वर्ष 1998-2004 के बीच संसद सदस्य भी रहे थे। सुषमा स्वराज और स्वराज कौशल की  एक बेटी भी है जिनका नाम बांसुरी स्वराज है। उनकी पुत्री ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से कानून में स्नातक और बैरिस्टर हैं।

करियर

सुषमा स्वराज पेशे से एक वकील है। उन्होंने वर्ष 1970 के दशक में छात्र नेता के रूप में अपने कैरियर की शुरुआत की। वह हरियाणा विधान सभा के सदस्य के रूप में 1977-82 और 1987-90 के बीच नियुक्त रहीं। वह हरियाणा के श्रम और रोजगार विभाग में 1977-79 के बीच  मंत्री थीं। साथ ही 1987-90 के बीच हरियाणा के शिक्षा विभाग और खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग में कैबिनेट मंत्री के रूप में कार्यरत रहीं। वह 3 साल तक हरियाणा राज्य के सफल वक्ता के रूप में चर्चित रहीं थीं। वह वर्ष 1990 में राज्य सभा के सदस्य के रूप में चुनी गयीं। वर्ष 1996 में  ग्यारहवें लोकसभा चुनाव में चुनी गयीं। वह वर्ष 1996 में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में बनी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार  में केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री बनी। वर्ष 1998 में वह दूसरे कार्यकाल के लिए बारहवीं लोकसभा के लिए चुनी गयीं। वह 19 मार्च से 2 अक्टूबर 1998 तक दूरसंचार मंत्रालय की अनुपूरक मंत्री बनी रहीं। वह 13 अक्टूबर से 3 दिसंबर 1998 तक  दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री बनी।

व्यवसाय

  • सुषमा स्वराज जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की चार वर्ष तक सदस्य रहीं।
  • वह हरियाणा में जनता पार्टी के अध्यक्ष पद पर चार वर्ष तक विराजमान रहीं।
  • वह 2 वर्ष तक भाजपा की अखिल भारतीय सचिव भी बनी रहीं।
  • वर्ष 1977 में वह हरियाणा विधान सभा के लिए चुनी गईं और हरियाणा में कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ लिया।
  • वर्ष 1987 में वह फिर से हरियाणा विधान सभा के लिए चुनी गई।
  • वर्ष 1990 में, वह राज्य सभा के सदस्य के रूप में निर्वाचित की गयी थीं।
  • वर्ष 1996 में वह दुसरे कार्यकाल के लिए ग्यारहवीं लोकसभा की सदस्य बनी।
  • वर्ष 1998 में वह तीसरी बार बारहवीं लोकसभा के सदस्य के रूप में चुनी गईं।
  • 13 अक्टूबर से 3 दिसम्बर 1998 को, वह  दिल्ली की प्रथम महिला मुख्यमंत्री बनी।
  • नवंबर 1998 में, वह दिल्ली विधानसभा के लिए हुए चुनाव में हौज खास विधानसभा क्षेत्र से विधायक के रूप में निर्वाचित की गयी थीं, लेकिन लोकसभा सीट बरकरार रखने के कारण उन्हें अपने विधान सभा सीट से इस्तीफा देना पड़ा।
  • 30 सितंबर, 2000 से 29 जनवरी 2003 तक  वह सूचना एवं प्रसारण मंत्री बनी रही।
  • मार्च 19 से 12 अक्टूबर 1998 तक वह सूचना एवं प्रसारण और दूरसंचार मंत्रालय में केंद्रीय कैबिनेट मंत्री थीं।
  • 29 जनवरी 2003 से 22 मई 2004 तक, वह स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री एवं संसदीय मामलों की मंत्री थी।
  • अप्रैल 2006 में वह फिर से पांचवीं अवधि के लिए राज्य सभा के सदस्य के रूप में चुनी गयीं।
  • 16 मई 2009 को वह छठीं बार के लिए 15 वीं लोकसभा के सदस्य के रूप में निर्वाचित की गयी।
  • 3 जून, 2009 को वह लोकसभा में उप-नेता प्रतिपक्ष बन गईं।
  • 21 दिसंबर 2009 में श्री लाल कृष्ण आडवाणी द्वारा नियुक्त किये जाने के बाद वह विपक्ष की पहली महिला नेता बन गयी।

उपलब्धियां

  • वर्ष 1977: सुषमा स्वराज 25 साल की उम्र में भारत की सबसे कम उम्र की कैबिनेट मंत्री बनी।
  • वर्ष 1979: सुषमा स्वराज 27 साल की उम्र में हरियाणा में जनता पार्टी की राज्य अध्यक्ष बनी।
  • सुषमा स्वराज किसी राजनितिक पार्टी की राष्ट्रीय स्तर पर पहली महिला प्रवक्ता बनने का रिकॉर्ड भी हासिल कर चुकी हैं।
  • सुषमा स्वराज किसी राज्य की पहली महिला मुख्यमंत्री बनने का श्रेय भी धारण कर चुकी हैं।
  • सुषमा स्वराज केंद्रीय कैबिनेट मंत्री बनाने वाली पहली महिला भी हैं।
  • सुषमा स्वराज विपक्ष की नेता बनाने वाली पहली  महिला नेता भी हैं।
  • सुषमा स्वराज को हरियाणा राज्य विधानसभा द्वारा सर्वश्रेष्ठ स्पीकर के सम्मान से  सम्मानित किया गया था।
  • सुषमा स्वराज 2008 और 2010 में सर्वश्रेष्ठ सांसद के पुरस्कार से दो बार सम्मानित की गयी हैं।

वर्तमान समाचार

सुषमा स्वराज ने गुना सीट, के भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार श्री जयभान  सिंह पवैया  के समर्थन में 14 अप्रैल 2014 को मध्य प्रदेश में एक रैली का आयोजन रखा।

दिग्विजय सिंह

जयललिता जयराम

महात्मा गांधी

Get the latest General Knowledge and Current Affairs from all over India and world for all competitive exams.
Comment (0)

Post Comment

2 + 1 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.