Search

महासागरीय जलधाराओं से संबंधित 10 महत्वपूर्ण तथ्य

एक निश्चित दिशा में बहुत अधिक दुरी तक महासागरीय जल की एक राशी के प्रवाह को महासागरीय जलधारा कहते हैं। ये वायुमंडल में प्रवाह होने वाले हवाओं के समान हैं, जो पृथ्वी के भूमध्यवर्ती इलाकों से ध्रुवों के लिए काफी मात्रा में गर्मी हस्तांतरित करते हैं और तटीय क्षेत्रों के मौसम का निर्धारण करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इस लेख में हमने महासागरीय जल धाराओं से संबंधित 10 महत्वपूर्ण तथ्य दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।
Mar 26, 2018 18:32 IST
10 Important Facts related to the Ocean Currents in Hindi

एक निश्चित दिशा में बहुत अधिक दुरी तक महासागरीय जल की एक राशी के प्रवाह को महासागरीय जलधारा कहते हैं। यह धरा दो प्रकार की होती है- गर्म जलधारा और ठंडी जलधारा। इन धाराओं के उत्पत्ति और प्रवाह को प्रभावित करने वाले चार प्रमुख कारक हैं- पृथ्वी के घूर्णी (Rotational) और गुरुत्वाकर्षण बल; महासागरीय कारक (तापमान, लवणता, घनत्व, दबाव ढाल और बर्फ का पिगलना); वायुमंडलीय कारक (वायुमंडलीय दबाव, हवाएं, वर्षा, वाष्पीकरण और अस्थिरता); महासागर धाराओं को संशोधित करने वाले कारक (दिशा, महासागरीय किनारे की रेखाओं के दिशा-निर्देश, आकार और विन्यास, मौसम की विविधता और महासागरिय स्थलाकृति)। भूमध्य रेखा से प्रवाह होने वाली महासागरीय जलधारा गर्म होती है और ध्रुवों से भूमध्य रेखा तक प्रवाह होने वाली महासागरीय जलधारा ठंडी होती हैं।

महासागरीय जल धाराओं से संबंधित 10 महत्वपूर्ण तथ्य

1. महासागरीय जलधाराओं का सतत प्रवाह क्षैतिज की गर्मी को प्राकृतिक रूप से संतुलित रखती है। ये महासागर या सागर के तटको अपने प्रवाह से स्थानीय मौसम की स्थिति को संशोधित कर देते हैं। गर्म महासागरीय जलधराए तटीय क्षेत्रों का तापमान बढ़ा देती हैं, जबकि ठंडे महासागरीय जलधराए तापमान को कम कर देती हैं।

2. गर्म महासागरीय जलधाराए तटीय क्षेत्रों में बारिश लाती हैं क्योंकि वे हवाओं में नमी की आपूर्ति करते हैं। उत्तरी अटलांटिक बहाव पश्चिमी यूरोपीय भागों में वर्षा लाती है और एक विशिष्ट माहौल को जन्म देती है जिसके कारण पूरे साल वर्षा होती है। गर्म धाराओं के विपरीत, ठंडे धाराएं नमी की आपूर्ति नहीं कर पाती हैं जिसके कारण तटीय क्षेत्रों में वर्षा नहीं होती है। ये धाराएं उन परिस्थितियों को भी जन्म देती हैं जो तटीय और उसके आस-पास के क्षेत्रो में मरुस्थलीकरण के कारक होते हैं। उदाहरण के लिए- कालाहारी रेगिस्तान बंगुएला ठंडी महासागरीय जलधारा का परिणाम है, जबकि पैटागोनिया रेगिस्तान फॉकलैंड ठंडी महासागरीय जलधारा का परिणाम है।

विश्व के प्रमुख महासागरीय जलधाराओं की सूची

3. ठंडी ध्रुवीय जलधारा बड़े हिमशैल को लाती हैं जो ताजे पानी का स्रोत होता हैं। लेकिन यही हिमशैल जहाजों के लिए बहुत खतरनाक होते हैं। उदाहरण के लिए- प्रसिद्ध टाइटैनिक जहाज लैब्राडोर ठंडी महासागरीय जलधारा द्वारा लाए गए हिमशैल से टकराने के कारण डूब गया था।

4. महासागर धाराएं पोषक तत्वों के वितरण एजेंट के रूप में कार्य करती हैं। यह एक क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र तक प्लैक्टन का वितरण करती हैं जो मछलियों का उपयोगी भोजन हैं। जहां ठंडी महासागरीय जलधारा और गर्म महासागरीय जलधारा मिलती हैं वही प्लैक्टन के विकास के लिए अनुकूल परिस्थितियां विकसित होती हैं। उदाहरण के लिए- लैब्राडोर ठंडी महासागरीय जलधारा और गर्म गल्फ स्ट्रीम न्यूफ़ाउंडलैंड के पास मिलते हैं, जिसके वजह से मछली पकड़ने के लिए विश्व की प्रसिद्ध क्षेत्र के रूप में विकसित हुआ है। पेरू तट पर एंचो की मछलियों का वितरण भी ठन्डे पेरू महासागरीय जलधारा और हंबोल्ट महासागरीय जलधारा से संबंधित है क्योंकि यह यहाँ की मछलियों के लिए प्लैक्टन लाता है।

कभी-कभी, कुछ महासागरीय जलधारा धाराएं प्लैक्टन को नष्ट करती हैं। जैसे- एल नीनो महासागरीय जलधारा पेरू के तटों के प्लैंकटन नष्ट कर देती है और मछलियों में कई रोग उत्पन्न हो जाते हैं जिसके कारण बड़े पैमाने पर मछलियों की मृत्यु हो जाती है।

क्या आप जानते हैं उष्णकटिबंधीय चक्रवात और बाह्योष्णकटिबंधीय चक्रवात में क्या अंतर है?

5. गर्म और ठंडे धाराओं के अभिसरण के कारण कोहरे की घटना नेविगेशन के लिए गंभीर खतरे का सूचक होता है।

6. महासागर जलधाराएं प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय समुद्री मार्गों के रूप में कार्य करती हैं जो नौपरिवहन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

7. गर्म धाराएं ध्रुवीय क्षेत्र में बंदरगाहों को कार्यात्मक रखती हैं क्योंकि यह पूरे वर्ष में बंदरगाहों को बर्फ मुक्त बनाता है। उदाहरण के लिए- उत्तरी अटलांटिक महासागर जलधारा और इसकी शाखाओं के कारण अधिकांश उत्तरी यूरोपीय बंदरगाह बर्फ रहित रहते हैं। नॉर्वे को इस महासागर जलधारा से सबसे ज्यादा लाभ मिलता है।

8. भारतीय उपमहाद्वीप के मानसून को निर्धारित करने में महासागरीय जलधाराएं महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

दुनिया भर में वन्य जीवों के क्षेत्रीय वितरण की सूची

9. महासागरीय जलधाराओं से बिजली उत्पादन की जबरदस्त संभावनाएं हैं। उदाहरण के लिए - समुद्री बिजली उत्पादन में जापान, फ्लोरिडा और हवाई द्वीप पर परीक्षण परियोजनाओं के लिए विचार किया जा रहा है।

10. महासागरीय जलधाराओं की जानकारी से समुद्री यात्राओ में ईंधन लागत कम की जा सकती है। हवा संचालित नौकायन जहाज के युग में, हवा के स्वरूप का ज्ञान और महासागरीय जलधाराओं की परिसंचरण का ज्ञान बहुत आवश्यक होती थी। उदाहरण के लिए –अगुलहास महासागरीय जलधारा के कारण पुर्तगाली नाविकों को भारत तक पहुंचने मुश्किल का सामना करना पड़ा था। समकालीन विश्व में नौपरिवहन में गति को बढ़ाने और बनाए रखने के लिए महासागरीय जलधाराओं का अच्छा उपयोग किया जा रहा है।

भूगोल से संबंधित सामान्य जानकारी