Search

तमिलनाडु की नई अम्मा शशिकला के बारे में रोचक तथ्य

वी के शशिकला नटराजन (जन्म 1956) तमिलनाडु के दिवंगत मुख्यमंत्री जयललिता की करीबी विश्वासपात्र थी| 29 दिसंबर 2016 को सर्वसम्मति से शशिकला को इस पार्टी का महासचिव घोषित किया गया है| इस लेख में हम शशिकला नटराजन से संबंधित कुछ रोचक तथ्यों का विवरण दे रहे हैं|
Dec 30, 2016 14:49 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

वी के शशिकला नटराजन (जन्म 1956) तमिलनाडु के दिवंगत मुख्यमंत्री जयललिता की करीबी विश्वासपात्र थी| शशिकला नटराजन का जन्म थिरूथूरैईपोंडी (Thiruthuraipoondi) नामक स्थान पर हुआ था| बाद में उनका परिवार मन्नारगुडी चला गया| उनके पति एम. नटराजन अस्थायी तौर पर तमिलनाडु सरकार में जनसंपर्क अधिकारी के रूप में काम करते थे| शशिकला द्रविड़ पार्टी ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम” (AIADMK) की एक सदस्य हैं| 29 दिसंबर 2016 को सर्वसम्मति से शशिकला को इस पार्टी का महासचिव घोषित किया गया है| इस लेख में हम शशिकला नटराजन से संबंधित कुछ रोचक तथ्यों का विवरण दे रहे हैं|

1. भारतीय राजनीति की तीसरी शक्तिशाली महिला

वर्तमान लोकसभा में “ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम” (AIADMK) के 37 सांसद हैं और भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बाद AIADMK तीसरी सबसे बड़ी पार्टी है| इस प्रकार AIADMK की महासचिव चुनी जाने के बाद शशिकला भारतीय राजनीति में सोनिया गांधी और ममता बनर्जी के बाद तीसरी सबसे शक्तिशाली महिला बन गई हैं|

Jagranjosh

Image source: BigWire

2. 80 के दशक में वह किराये पर वीडियो फिल्म बेचने का कारोबार करती थी|

तमिलनाडु सरकार में एक जनसंपर्क अधिकारी के रूप में काम करने वाले शशिकला के पति नटराजन को आपातकाल के दौरान नौकरी से हटा दिया गया था| उस समय परिवार को चलाने और अपने पति की सहायता करने के उद्देश्य से शशिकला किराये पर वीडियो फिल्म बेचने का व्यापार करती थी|

Jagranjosh

Image source: Alchetron

3. शशिकला नटराजन को वी.एस. चंद्रलेखा ने जयललिता से मिलवाया था|

बाद के वर्षों में शशिकला ने विवाह और अन्य कार्यक्रमों की वीडियो रिकॉर्डिंग का व्यापार भी शुरू कर दिया| उसी समय शशिकला के पति  नटराजन ने दक्षिण आर्कोट के तत्कालीन जिला कलेक्टर वी एस चंद्रलेखा से अनुरोध किया कि वह पार्टी के कार्यों की रिकॉर्डिंग के लिए शशिकला को जयललिता से मिलवा दे, जो उस समय “अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम” की प्रचार सचिव थी|

जानें हॉकी के जादूगर ध्यानचंद के बारे में 10 रोचक तथ्य

4. शशिकला, जयललिता के घर में रहने के लिए आते समय अपने शहर से 40 नौकरों को साथ लाई थी|

धीरे-धीरे जयललिता के सभी कार्यक्रमों की शूटिंग करते हुए शशिकला, जयललिता की विश्वासपात्र बन गई| 1989 में जयललिता के अनुरोध पर शशिकला, जयललिता के घर में रहने लगी| जयललिता के घर में आते समय शशिकला अपने साथ अपने शहर “मन्नारगुडी” से 40 नौकरों को साथ लाई थी|

5. जयललिता ने शशिकला को "उदानपिरवा सगोधरीअर्थात बिना रक्त-संबंध वाली बहन घोषित किया था|

मुख्यमंत्री के रूप में जयललिता के तीनों कार्यकाल में शशिकला नटराजन एक शक्तिशाली चेहरा थी| अम्मा के साथ अच्छे संबंध के कारण शशिकला को चिनम्मा कहा जाता है। जयललिता ने शशिकला को “उदानपिरवा सगोधरी” अर्थात बिना रक्त-संबंध वाली बहन घोषित किया था| एक इंटरव्यू में जयललिता ने कहा था कि “मेरे मां की मौत के बाद शशिकला ने उनका स्थान ले लिया और उसने मां की तरह मेरी देखभाल की”|

6. शशिकला के भतीजे को जयललिता ने गोद लिया था|

अम्मा के दत्तक पुत्र सुधाकरन शशिकला के भतीजे हैं| अम्मा ने सितंबर 1995 में सुधाकरन की भव्य शादी समारोह का आयोजन किया था| इस समारोह में जयललिता और शशिकला ने एक-ही तरह के कपड़े और आभूषण पहनी थी| हालांकि,  जल्द ही जयललिता ने सुधाकरन को दत्तक पुत्र के रूप में अस्वीकार कर दिया|

Jagranjosh

Image source: jailive.in

7. शशिकला को पार्टी से निष्कासित भी किया गया था|

दिसंबर, 2011 में शशिकला को उनके पति और 12 अन्य रिश्तेदारों के साथ अन्नाद्रमुक की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित कर दिया और जयललिता के आवास के बाहर भेजा दिया गया था। हालांकि, मार्च 2012 में शशिकला को पुनः पार्टी में शामिल कर लिया गया| बाद में शशिकला ने अपने परिवार और रिश्तेदारों के साथ सारे संबंध तोड़ लिए|

जानिये डोनाल्ड ट्रम्प के बारे में 10 रोचक तथ्य

8. शशिकला को कई बार गिरफ्तार भी किया गया है|

1996 में डीएमके की सरकार बनने के बाद शशिकला को विदेशी मुद्रा विनियमन अधिनियम –FERA” का उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। इसके अलावा 2014 में शशिकला को जयललिता के साथ आय से अधिक सम्पत्ति के मामले में गिरफ्तार किया गया था| इस मामले में बैंगलोर की विशेष अदालत ने शशिकला पर 10 करोड़ और जयललिता पर 100 करोड़ का जुर्माना लगाया था|

Jagranjosh

Image source: Whispers In Tamil Nadu

9. शशिकला ने अब तक सार्वजनिक रूप से किसी सभा को संबोधित नहीं किया है|

पिछले एक दशक में खासकर जयललिता के खराब स्वास्थ्य उनके जेल चले जाने के कारण अन्नाद्रमुक के कामकाज में शशिकला की भागीदारी काफी बढ़ गई थी, लेकिन शशिकला ने कभी भी पार्टी या सरकार में कोई पद ग्रहण नहीं किया| आश्चर्य की बात यह है कि तमिलनाडु के लोगों ने आज तक शशिकला की आवाज कभी नहीं सुनी है क्योंकि उन्होंने कभी भी सार्वजनिक रूप से बात नहीं की है|

जयललिता के बारे में 15 रोचक तथ्य